BU में महाड्रामा : छेड़छाड़ मामले पर एनएसयूआई और एबीवीपी में टकराव
BU में महाड्रामा : छेड़छाड़ मामले पर एनएसयूआई और एबीवीपी में टकराव|Social Media
मध्य प्रदेश

BU में महाड्रामा : छेड़छाड़ मामले पर एनएसयूआई और एबीवीपी में टकराव

भोपाल, मध्यप्रदेश : बरकतउल्ला विश्वविद्यालय (बीयू) में उस वक्त दहशत का माहौल बन गया, जब पिस्टल लेकर बीयू पहुंचे बदमाश।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय (बीयू) में उस वक्त दहशत का माहौल बन गया, जब विवि परिसर में कुछ बदमाशों को हथियारों के साथ देखा गया। हंगामा बढ़ा तो विवि को पुलिस का सहारा लेकर उन्हें दूर कराना पड़ा। खबर लगते ही विवि प्रशासन ने पुलिस को सूचित किया।

डायरेक्टर को हटाने की मांग की :

बताया जा रहा है कि शारीरिक शिक्षा विभाग की छात्राओं पर भद्दे कमेंट्स करने के मामले में कोई कार्रवाई ना होने से नाराज दो दर्जन छात्राएं बीयू पहुंचीं और डायरेक्टर को हटाने की मांग की। जिस वक्त यह छात्राएं सत्यभवन के सामने वीसी से मिलने के लिए खड़ी थी, उसी वक्त विवि परिसर में पिस्टल के साथ कुछ युवक देखे गए। इस दौरान मौके पर पहुंचे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं ने युवकों पर छात्राओं को धमकाने का आरोप लगाया है और विवि की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने की मांग की।

भारी हंगामे के बीच बीयू में पुलिस बल तैनात :

बीयू में डायरेक्टर और कोच के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के मामले में एनएसयूआई और एवीबीपी आमने-सामने आ गए। भारी हंगामे के बीच बरकतउल्ला विश्वविद्यालय (बीयू) में पुलिस बल तैनात किया गया। एनएसयूआई ने छात्रा पर कोच और डायरेक्टर को फंसाने का आरोप लगाया है।

दोनों संगठनों में झूमाझटकी की खबर :

इस मामले में विवि प्रशासन द्वारा जांच कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी की जांच पूरी होने पर रिपोर्ट के आधार पर विवि प्रशासन फैसला लेगा। इस मामले में एवीबीपी पहले से ही छात्रा के समथर्न में थी। अब स्पोर्टस कोच द्वारा छात्रा पर आरोप लगाए जाने पर एनएसयूआई भी सामने आ गई है और प्रशासन से निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की मांग कर रहा है।

जानिए पूरा मामला :

ज्ञात हो कि दो दिन पहले शारीरिक शिक्षा विभाग की छात्राओं ने विभाग की गेस्ट फैकल्टी व क्रिकेट कोच के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत कुलपति से की थी। एक छात्रा का आरोप है कि वह 22 फरवरी से शिकायत कर रही थी, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद छात्रा ने कुलपति प्रो. आरजे राव को शिकायत की थी। सोमवार सुबह कुलपति हॉस्टल पहुंचे। छात्रा ने सबूत के तौर पर कुलपति को वीडियो रिकॉर्डिंग भी दिखाई। इसके बाद विवि ने गेस्ट फैकल्टी को हटा दिया है, लेकिन छात्रा और अन्य छात्र देर शाम तक कुलपति कार्यालय के बाहर संचालक डॉ. अखिलेश शर्मा को हटाने की मांग को लेकर धरने पर बैठी थीं, क्योंकि उन्होंने इस मामले में तुरंत संज्ञान नहीं लिया।

संचालक डॉ. शर्मा को जांच पूरी होने तक हटा दिया है।

कुलपति प्रो. राव ने बताया

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्रामचैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co