Raj Express
www.rajexpress.co
राजघाट में सैकड़ों फीट गहराई से निकाल रहे रेत
राजघाट में सैकड़ों फीट गहराई से निकाल रहे रेत|Ganesh Dunge
मध्य प्रदेश

ताप्ती नदी के राजघाट में सैकड़ों फीट गहराई से निकाल रहें रेत

बुरहानपुर: राजघाट क्षेत्र में रेत का अवैध खनन व उसका भण्डारण जोरो पर किया जा रहा है, गोताखोरों द्वारा सैकड़ो फीट गहराई से रेत निकालकर, नाव में भरकर किनारे तक लाई जा रही, किसी भी दिन घटना हो सकती है।

Ganesh Dunge

Ganesh Dunge

हाइलाइट्स :

  • ताप्ती नदी में राजघाट क्षेत्र से लगातार रेत का अवैध खनन

  • रेत माफिया गोताखारों से सैकड़ो फीट गहराई से निकलवा रहे रेत

  • काली कमाई के लिए दूसरों की जान से खिलवाड़

  • नाव में भरकर किनारे तक लाई जा रही रेत, किसी भी दिन हो सकती है घटना

राज एक्‍सप्रेस। ताप्ती नदी में राजघाट क्षेत्र से लगातार रेत का अवैध खनन जारी है। रेत माफिया गोताखारों से सैकड़ो फीट गहराई में गोता लगाकर रेत निकलवा रहे हैं। तगारी लेकर गोताखोर पानी में गोता लगाते हैं और रेत भरकर पानी से निकलते हैं। पास ही नाव रहती है। निकाली हुई रेत नाव में भरते हैं। नाव पूरी भर जाती है तब नाविक किनारे तक रेत लेकर आता है। यहां से ट्रेक्टर-ट्रालियों में भरकर रेत का परिवहन किया जाता है। पूरे राजघाट क्षेत्र में जगह-जगह ये नजारा रहता है। हर दिन सैकड़ो ट्राली रेत निकाली जाती है। जबकि अभी बाढ़ का पानी है। बहाव तेज है। रेत माफिया गोताखोरों की जान जोखिम में डाल रहे हैं। काली कमाई के लिए दूसरों की जान से खिलवाड़ किया जा रहा है, किसी भी दिन घटना हो सकती है।

खुलेेआम रेत का अवैध खनन :

हर दिन खुलेेआम रेत का अवैध खनन होने के बावजूद जिम्मेदार कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। खनिज विभाग को दल, बल के साथ मौके पर जाकर अवैध रेत खनन पर कार्रवाई करना चाहिए, लेकिन अफसर परिवहन कर रही ट्रेक्टर-ट्रालियों को रोककर एक दो केस बना देते हैं। उधर घाटों से लगातार रेत से भरी ट्रेक्टर-ट्रालियां निकलती रहती है।

एनजीटी के आदेशों का उल्लंघन :

अवैध रेत माफिया नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेशों का उल्लंघन कर रहे हैं। एनजीटी के आदेश है कि, पानी में से रेत नहीं निकालना है। सिर्फ किनारे से ही रेत निकालकर परिहवन किया जा सकता है, बावजूद इसके बीच नदी, नालों में रेत निकाली जा रही है। इसके अलावा कई ऐसे नियम है, जिनका उल्लंघन हो रहा है। नीलामी के बाद खदानों की स्वीकृति है तो भी पानी के अंदर से रेत नहीं निकाली जा सकती है, लेकिन होता ये है कि, स्वीकृत खदानों में से भी पानी के अंदर से रेत निकालवाई जाती है। इस पर प्रशासन को ध्यान देकर रोक लगाना होगी।

क्या नीलामी तक अवैध खनन जारी रहेगा :

अभी जिले में किसी भी रेत खदान की नीलामी नहीं हुई है, इसके बावजूद रेत निकाली जा रही है और खनिज विभाग इस पर रोक नहीं लगा पा रहा है। मतलब खनिज विभाग के सामने शासन को एक दिन में लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है। नीलामी नहीं होने तक खनिज विभाग को अवैध रेत माफियाओं पर निगरानी रखकर नियंत्रण करना होगा, अगर ऐसा ही चलता रहा तो शासन को अरबों रुपए का नुकसान होगा।

राजघाट में सैकड़ों फीट गहराई से निकाल रहे रेत
राजघाट में सैकड़ों फीट गहराई से निकाल रहे रेत
Ganesh Dunge

संयुक्त कार्रवाई करेंगे :

एसडीएम काशीराम बड़ोले ने कहा- खनिज निरीक्षक को बताया गया है कि, जो अवैध रूप से निकाल रहे हैं, गोताखोर हो या अन्य हो, उनके खिलाफ कार्रवाई करें। इस संबंध में जैसे ही समय मिलेगा उस स्थान पर निरीक्षण करूगा, कार्रवाई करूगा। अब तक खनिज ने कार्रवाई की है। मैंने भी दो से तीन कार्रवाई की है। अभी संयुक्त रूप से कार्रवाई नहीं हुई है। अब संयुक्त रूप से कार्रवाई की जाएगी।