कल से शुरू हो रहा है सावन, स्वागत में इंद्रदेव ने धरती के पखारे पांव
कल से शुरू हो रहा है सावनSocial Media

कल से शुरू हो रहा है सावन, स्वागत में इंद्रदेव ने धरती के पखारे पांव

भोपाल, मध्यप्रदेश : लोगों की अच्छी वर्षा की कामना पूरी करने और 25 जुलाई से शुरू होने वाले सावन माह का स्वागत करने इंद्रदेव ने झड़ी लगा दी।

भोपाल, मध्यप्रदेश। गर्मी और उमस से परेशान शहरवासियों को पर आखिर इंद्रदेव की मेहरबानी हो ही गई। लोगों की अच्छी वर्षा की कामना पूरी करने और 25 जुलाई से शुरू होने वाले सावन माह का स्वागत करने इंद्रदेव ने झड़ी लगा दी। जुलाई के तीन सप्ताह सूखे बीतने के बाद गुरुवार से शुरू हुआ बारिश का दौर राहत लेकर आया। गुरुवार सुबह से लेकर शुक्रवार शाम तक भोपाल में 52.8 मिमी और भोपाल शहर में 64.6 मिमी वर्षा दर्ज की गई। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी और अरब सागर दोनों के सक्रीय होने से मानसून वेदर सिस्टम भी सक्रीय हो गए हैं। इसके प्रभाव से राजधानी सहित पूरे प्रदेश में आगामी दो-तीन दिन अच्छी बारिश होगी। उसके बाद 27 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में एक और सिस्टम बनने के संकेत मिल रहे हैं। यदि वह सक्रिय होता है तो जुलाई अंत तक मानसून के गतिमान रहने की उम्मीद है। ऐसा होने से माइन्स में चल रहा बारिश का कोटा पूरा होने के आसार हैं।

तरबतर हुई राजधानी, राहत के साथ आफत :

राजधानी में करीब 22 दिन के इंतजार के बाद गुरुवार से रुक-रुक कर शहर में बारिश होती रही, तो रात को बारिश ने रफ्तार पकड़ी। शुक्रवार सुबह तेज बारिश ने पूरे शहर को तरबतर कर दिया। एक ही दिन की बारिश राहत के साथ कुछ लोगों के लिए आफत लेकर आई। देर रात से सुबह तक हुई कुछ ही घंटों की बारिश में शहर की निचली बस्तियों में पानी भर गया। कई इलाकों में कई घंटों तक बिजली गुल रही।

बैरागढ़ से ज्यादा सिटी में बरसा पानी :

भोपाल की वर्षा के लिए बैरागढ़ स्थित ऑब्जर्वेट्री में दर्ज वर्षा का आंकड़ा मान्य होता है। भोपाल शहर की वर्षा के लिए अरेरा हिल्स पर बने मौसम केंद्र का आंकड़ा लिया जाता है। शुक्रवार सुबह साढ़े आठ बजे तक पिछले चौबीस घंटों के दौरान भोपाल शहर में 58.6 मिमी और कोलार में 34.6 मिमी और भोपाल (बैरागढ़) स्थित मौसम केंद्र में 29.6 मिमी वर्षा दर्ज की गई। इसके बाद भी रुक-रुक कर बारिश का सिलसिला जारी रहा। इस दौरान कहीं कम बारिश हुई तो कहीं ज्यादा बरसात हुई। शुक्रवार सुबह साढ़े आठ बजे से शाम 5.30 बजे तक भोपाल में 23.2 मिमी और भोपाल शहर में 6.0 मिमी बारिश दर्ज की गई।

अलग-अलग समय पर, कहीं कम तो कहीं अधिक बरसा पानी :

भोपाल में गुरुवार सुबह साढ़े आठ बजे से रात 8.30 बजे तक तक 4.0 मिमी बारिश दर्ज की गई। रात 8.30 बजे से 2.30 बजे तक पांच घंटे में 7.0 मिमी पानी गिरा। उसके बाद के 6 घंटे में 18.6 मिमी बारिश हुई। भोपाल शहर में गुरुवार को दिन में बूंदाबांदी ही दर्ज की गई। लेकिन भोपाल शहर में शुक्रवार सुबह-सुबह हुई तेज बारिश ने भोपाल की वर्षा को पीछे छोड़ दिया। सुबह 9 बजे के बाद भोपाल शहर में कम बारिश हुई। भोपाल (बैरागढ़) में सुबह 8.30 बजे से 11.30 बजे तक तीन घंटे में 22 मिमी बारिश हुई। 11.30 बजे से शाम 5.30 बजे 1.2 मिमी पानी बरसा।

नमी भारी बारिश के रूप में बरसेगी :

मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि जून के आखिरी सप्ताह से लेकर जुलाई में अब तक बंगाल की खाड़ी में मानसून सुस्त पड़ गया थाा। इस वजह से शुरुआत में काफी कम बारिश दर्ज हुई, लेकिन अब बंगाल की खाड़ी में मानसून के कदम मजबूती से बढ़ रहे हैं। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। यह मजबूत होकर आगे बढ़ा रहा है। जिससे हवा में नमी की मात्रा बढ़ गई है। यह नमी भारी बारिश के रूप में बरसेगी। बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से आ रही नमी के कारण प्रदेश के अधिकांश जिलों में बरसात हो रही है।

यह सिस्टम सक्रिय :

साहा ने बताया कि वर्तमान में निम्न दाब क्षेत्र और अधिक प्रभावशाली होकर ओडिशा-झारघंड तक सुस्पष्ट निम्न दाब क्षेत्र (वेल माक्र्ड लो प्रेशर एरिया) सक्रिय है। मॉनसून ट्रफ मण्यप्रदेश से होकर गुजर रहा है इसलिए पगदेश में अच्छी वर्षा हो रही है। यह ट्रफ बीकानेर से मध्यप्रदेश के गुना, सतना से होता हुआ झारघंड (जहां वेल माक्र्ड लो प्रेशर एरिया बना हुआ है) से बंगाल की खाड़ी तक जा रहा है। वहीं अपतटीय ट्रफ महाराष्ट्र तट से केरल तट के समांतर सक्रिय है। साथ ही दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान में चक्रवातीय परिसंचरण सक्रिय है। इसके अलावा एक फ्रेश वेस्टर्न डिस्टर्बेन्स भी मौजूद है।

पारा लुढ़क कर पहुंचा 24.7 डिग्री पर :

मानसून की गतिविधियां शुरू होने के साथ ही पारे में गिरावट दर्ज की गई। शुक्रवार को राजधानी का अधिकतम तापमान लुढ़क कर 24.7 डिग्री पर पहुंच गया। यह सामान्य से पांच डिग्री कम रहा रहा। साथ ही गुरुवार के अधिकतम तापमान 29.7 डिग्री करीब 5 डिग्री कम रहा। गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात को पारा दो डिग्री लुढ़क कर 23.2 डिग्री सेल्सियस पर आ गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co