Raj Express
www.rajexpress.co
MP School Dropout Girls
MP School Dropout Girls|Social Media
मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश: 'स्कूल ड्राप' करने वाली छात्राओं की संख्या 3 साल में हुई दोगुनी

मध्य प्रदेश में पिछले तीन सालों में स्कूल छोड़ने वाली छात्राओं की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है, यह संख्या बढ़ कर दोगुनी हो गई हैं। तमाम कोशिशों के बाद भी छात्रायें पढ़ाई छोड़ने को मजबूर हैं।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • पिछले तीन साल में स्कूल छोड़ने वाली छात्राओं की संख्या बढ़ी

  • लंबी दूरी के कारण छात्राओं को छोड़ना पड़ता है स्कूल

  • बिहार और उत्तर प्रदेश का प्रदर्शन मध्य प्रदेश से बेहतर

राज एक्सप्रेस। आज जहाँ एक तरफ भारत में कुछ लोग "हमारी छोरियाँ छोरों से कम नहीं हैं" जैसी सोच रखते हैं तो, वहीं कुछ लोगों की मानसिकता है कि, लड़कियां पढ़-लिख कर क्या करेंगी? इस सोच का पता तब चला जब, मध्य प्रदेश में लड़कियों की शिक्षा के आंकड़े सामने आये। जी हां, पिछले तीन सालों में ( 2016-17 में 2018-19) मध्य प्रदेश में आधी पढ़ाई करके स्कूल छोड़ने वाली छात्राओं की संख्या तेजी से (MP School Dropout Girls) बढ़ी है। हालांकि, मध्य प्रदेश में लड़कियों को शिक्षा को लेकर प्रोत्साहित करने के लिए पूर्व भाजपा सरकार द्वारा बड़ी संख्या में उपाय भी किये गए थे, परन्तु ऐसा प्रतीत हो रहा है कि, इन उपायों पर सही से काम नहीं किया गया।