आज से खुलेंगे स्कूल, लेकिन क्लास नहीं लगेंगी
आज से खुलेंगे स्कूल, लेकिन क्लास नहीं लगेंगी|Social Media
मध्य प्रदेश

ग्वालियर : आज से खुलेंगे स्कूल, लेकिन क्लास नहीं लगेंगी

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : 9वीं कक्षा से 12वीं तक सोमवार से स्कूल खुल जाएंगे, लेकिन स्कूलों में अभी विधिवत कक्षाएं नहीं लगेंगी। कॉलेजों में अभी भी रहेगा सन्नाटा, ऑनलाइन ही पढ़ेंगी महाविद्यालीन छात्र।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। कोरोना वायरस की वजह से लंबे समय से स्कूल खुलने का इंतजार अब खत्म होने जा रहा है। नवीं कक्षा से 12वीं तक सोमवार से स्कूल खुल जाएंगे, लेकिन स्कूलों में अभी विधिवत कक्षाएं नहीं लगेंगी। बच्चे अपने पालकों की परमीशन लेकर अपनी शैक्षिणिक समस्याओं का समाधान कर स्कूल जा सकेंगे, जहां शिक्षक उनकी प्रॉब्लम सॉल्व करेंगे, लेकिन अभी शासन ने कॉलेज खोलने का कोई निर्णय नहीं लिया है। महाविद्यालीन छात्र अभी ऑललाइन कक्षाओं के माध्यम से ही पढ़ाई कर रहे हैं।

गौरतलब है कि स्कूलों में अभी ऑनलाइन क्लासें संचालित हो रही हैं, लेकिन ऑनलाइन क्लासों से बच्चों को ज्यादा फायदा नहीं हो रहा है। गिनती के बच्चों के पास लेपटॉप अथवा कम्प्यूटर हैं। मोबाइल भी सभी बच्चों के पास नहीं हैं, जिन बच्चों के पास मोबाइल हैं, वे भी छोटी सी स्क्रीन पर ठीक से पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं, जिसकी वजह से शासन की ओर से 21 सितम्बर से स्कूल खोलने का निर्णय लिया है। बच्चे अपने सबजेक्ट के टीचर से संपर्क कर स्कूल जाकर अपनी समस्याओं को हल करा सकेंगे। इस दौरान स्कूल संचालकों को सोशल डिस्टेसिंग मेंटेन करने एवं सेनीटाइजर का उपयोग करने की सख्त हिदायत दी गई है।

ऑनलाइन पढ़ाएं या समस्याएं सुलझाएं :

शिक्षकों के समक्ष इस नए आदेश से एक नए तरीके की समस्या खड़ी हो गई है कि वे ऑनलाइन पढ़ाएं अथवा स्कूल जाकर बच्चों की समस्याएं सुलझाएं। गौरतलब है कि अभी निजी स्कूलों के शिक्षक घर से बच्चों की ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं। उधर दूरदर्शन पर भी बच्चों के शैक्षणिक कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।

ये दिए गए हैं निर्देश :

  • छात्र-छात्राओं को पालकों की लिखित सहमति लानी होगी।

  • सभी बच्चों को मास्क लगाकर आना होगा। स्कूलों में भी मास्क उपलब्ध रखने होंगे।

  • स्कूल भवन को सेनीटाइज करना होगा तथा साबुन और सेनीटाइजर रखना होगा।

  • एक कक्ष में 5 से अधिक बच्चों के बैठने की अनुमति नहीं होंगी।

  • स्कूलों में उक्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए जिला शिक्षा विभाग मॉनीटरिंग करेगा।

इनका कहना है :

शासन की गाइड लाइन के अनुसार 21 सितम्बर से उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खोले जा रहे हैं, लेकिन अभी विधिवत कक्षाएं नहीं लगेंगी, जिन बच्चों की पढ़ाई से संबधित कोई प्रॉब्लम हैं, बच्चे स्कूल आकर उन्हें हल कर सकेंगे। स्कूल आने के लिए पालकों की लिखित सहमति बच्चों को लानी होगी तभी उन्हें स्कूल में प्रवेश मिलेगा।

अशोक दीक्षित, एडीपीसी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co