ग्वालियर : किसान सम्मेलन में सिंधिया-केपी न मिले, न बोले
मंच पर दोनों के बीच था छह कुर्सियों का फासलाRaj Express

ग्वालियर : किसान सम्मेलन में सिंधिया-केपी न मिले, न बोले

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : सिंधिया और केपी के बीच में छह सीटों का अंतर रहा। दोनों ने न तो एक-दूसरे से मुलाकात की और न ही अभिवादन किया।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। लोकसभा चुनाव हारने के बाद पहली बार ग्वालियर में एक ही मंच पर राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और उन्हें हराने वाले गुना सांसद केपी यादव आमने-सामने थे, लेकिन दोनों ने एक-दूसरे से दूरियां बनाकर रखीं। सिंधिया और केपी के बीच में छह सीटों का अंतर रहा। दोनों ने न तो एक-दूसरे से मुलाकात की और न ही अभिवादन किया।

बुधवार को फूलबाग मैदान पर किसान सम्मेलन का आयोजन किया गया था। ऐसे में अंचल के गुना लोकसभा सीट से सांसद और सिंधिया को वर्ष 2019 में पहली बार हार का स्वाद चखाने वाले भाजपा के केपी यादव भी आए थे। मंच पर केपी बैठे थे और राज्यसभा सांसद सिंधिया को आना था। सिंधिया, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ आए। सभी ने उनका स्वागत किया, लेकिन सांसद केपी यादव अपने स्थान पर ही बैठे रहे। सिंधिया को हराने वाले केपी को ज्योतिरादित्य से दूर 7वीं सीट मिली। किसान सम्मेलन के लिए नई दिल्ली से केंद्रीय मंत्री तोमर व राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया एक साथ आए। विमानतल से बाहर निकलने के बाद दोनों के समर्थकों ने उनको घेर लिया। इसके बाद सिंधिया समर्थक अपने नेता और तोमर समर्थक अपने नेता के जिंदाबाद के नारे लगाने लगे, ऐसा लग रहा था, जैसे दोनों नेताओं के समर्थक अपने-अपने नेता का शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co