सिंधिया ने ग्वालियर में ऑक्सीजन प्लांट सहित कई स्वास्थ्य सेवाओं का किया लोकार्पण
सिंधिया ने ऑक्सीजन प्लांट का किया लोकार्पणSocial Media

सिंधिया ने ग्वालियर में ऑक्सीजन प्लांट सहित कई स्वास्थ्य सेवाओं का किया लोकार्पण

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : आज सिंधिया ने मुरार स्थित ऑक्सीजन प्लांट और 20 बिस्तरीय आईसीयू का लोकार्पण करने के साथ ही सीटी स्कैन मशीन की स्थापना के लिए भी भूमिपूजन किया है।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर को बड़ी सौगात दी है, आज ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुरार जिला अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट सहित कई स्वास्थ्य सेवाओं का लोकार्पण किया है। वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इसे ऐतिहासिक दिन बताते हुए कहा कि इन सुविधाओं के उपलब्ध हो जाने से अब मुरार के लोगों को यहाँ वहां भटकना नहीं पड़ेगा।

मिली जानकारी के मुताबिक, आज केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुरार स्थित ऑक्सीजन प्लांट और 20 बिस्तरीय आईसीयू ( गहन चिकित्सा इकाई) का लोकार्पण करने के साथ ही सीटी स्कैन मशीन की स्थापना के लिए भी भूमिपूजन किया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने की, कार्यक्रम में प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री प्रभुराम चौधरी, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर तथा उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह तथा विधायक सतीश सिकरवार बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद थे।

सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने ट्वीट कर कहा

सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने ट्वीट कर कहा कि ग्वालियर जिला चिकित्सालय मुरार में ऑक्सीजन प्लांट, 20 बिस्तरीय आईसीयू (गहन चिकित्सा इकाई) का लोकार्पण एवं सीटी स्कैन मशीन की स्थापना के लिए भूमिपूजन कार्यक्रम में केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ शामिल हुआ।

मुरार के लोगों को मिलेगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं :

अत्याधुनिक आईसीयू के बनने से जिला चिकित्सालय मुरार में गंभीर मरीजों के बेहतर इलाज के लिए नया आयाम जुड़ा है, यहां पर गहन चिकित्सा इकाई शुरू होने से ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के सबसे बड़े अस्पताल जेएएच से भी मरीजों का दबाव कम होगा। गहन चिकित्सा इकाई वार्ड में गंभीर मरीजों के इलाज के लिए 20 पलंग का इंतजाम किया गया है।

  • ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना से जिला चिकित्सालय में अब ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं रहेगी

  • निर्वाध रूप से जरूरतमंद मरीजों को ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकेगी।

  • प्लांट से प्रति मिनिट 200 लीटर अर्थात हर घण्टे 12 हज़ार लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन होगा।

इसी तरह जिला चिकित्सालय में स्थापित होने जा रही आधुनिक सीटी स्कैन मशीन से खास तौर पर आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को बड़ा फायदा होगा। यहां पर सीटी स्कैन शुरू होने पर मरीजों को जाँच के लिए जेएएच या प्रायवेट सेंटर पर जाने की जरूरत नहीं रहेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.