सिंधिया ने बाढ़ प्रभावितों से किया संवाद
सिंधिया ने बाढ़ प्रभावितों से किया संवादSocial Media

सिंधिया ने बाढ़ प्रभावितों से किया संवाद, कहा- पीड़ितों के उत्थान के लिए हर संभव मदद की जाएगी

मध्यप्रदेश : ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बाढ़ पीड़ितों से संवाद करते हुए कहा कि, पीड़ितों के उत्थान व उनकी हर संभव मदद के लिये देश एवं प्रदेश सरकार आपके साथ इस मुश्किल की घड़ी में खड़ी है।

मध्यप्रदेश। MP में हुई भारी बारिश के बाद से कई जिले के हालत बहुत बिगड़ गए है, कई लोग बाढ़ के पानी में फंसे हुए है। जिन्हें सुरक्षित निकालने का क्रम अभी भी जारी है। ऐसे में केंद्रीय नागरिक उड्डयन एवं इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया बाढ़ प्रभावितों के बीच पहुंचे है, उन्होंने बाढ़ पीड़ितों से संवाद करते हुए कहा कि, पीड़ितों के उत्थान व उनकी हर संभव मदद के लिये देश एवं प्रदेश सरकार आपके साथ इस मुश्किल की घड़ी में खड़ी है।

बाढ़ प्रभावितों से मिलने भिंड और तरसोखर गांव पहुंचे सिंधिया :

कल सिंधिया बाढ़ प्रभावितों से मिलने भिंड जिले के चैम्हो और तरसोखर गांव पहुंचे। उन्होंने बाढ़ प्रभावितों से संवाद में कहा कि पीड़ितों के उत्थान के लिए उनकी हर संभव मदद की जाएगी। केन्द्र और राज्य सरकार प्रभावितों के साथ इस मुश्किल की घड़ी में खड़ी है। उन्होंने कहां चंबल बाढ़ पीड़ितों के उत्थान और उनकी मदद के लिये प्रशासन चार भागों में काम करें, जिसके तहत पहले फेस में बाढ़ खत्म होते ही तत्काल सभी पीड़ितों के घर और मकान का जो नुकसान हुआ है उनका सर्वे करके उन्हें राजस्व परिपत्र अधिनियम के तहत तत्काल राशि उपलब्ध कराए, ताकि वे पुन: अपने मकान को रहने योग्य बना सकें।

सिंधिया ने कहा कि, दूसरे भाग में बाढ़ प्रभावित व्यक्तियों को हुई पशु, पक्षी हानि, खेत कृषि की हानि सहित अन्य हुए नुकसान का उदारतापूर्वक सर्वे करके मुआवजा राशि का वितरण किया जाये। तीसरे भाग में गांवों की सड़क, हैण्डपंप, बिजली की अधोसंरचनाओं के हुए नुकसान का सर्वे करके प्रस्ताव प्रशासन को भेजें, ताकि पर्याप्त राशि उपलब्ध कराके अधोसंरचना के कायरें को कराया जा सके। सिंधिया ने कहा कि, हर गांव में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था तत्काल की जाये। पेयजल स्त्रोतों के पानी का शुद्धीकरण, ब्लीचिंग पाउडर, क्लोरीन की गोली घर घर उपलब्ध करायें। प्रभावित गांव गांव, स्वास्थ्य उपचार कैंप लगायें।

इसी तरह पशुओं के उपचार के लिये भी कैंप आयोजित कर पशुओं का उपचार एवं टीकाकरण की व्यवस्था की जाये। चौथे फेस में बाढ प्रभावित सभी गांवों के लोगों से चर्चा करके सदैव के लिए इस समस्या से मुक्ति दिलाने उनकी सहमति से उनका सुरक्षित स्थानों पर पुर्नवास करायें। इस दौरान राजस्व एवं परिवहन मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत, नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री ओपीएस भदौरिया ने भी बाढ़ प्रभावित व्यक्तियों से संवाद किया।

बाढ़ के बाद चंबल क्षेत्र में तबाही का मंजर :

मध्यप्रदेश के कई जिलों में बाढ़ के कारण हुई तबाही का मंजर अब प्रभावित क्षेत्रों में चारों ओर दिखायी दे रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में पानी ही पानी दिखाई दे रहा है, हजारों एकड़ जमीन में बोई गई खरीफ की फसल को चंबल की बाढ़ के पानी ने बर्बाद कर ग्रामीणों को खाने पीने और पशुओं के चारे के लिये तक बेबस कर दिया है।

सिंधिया ने बाढ़ प्रभावितों से किया संवाद
MP Chambal River: चंबल की बाढ़ से इन जिलों में बिगड़े हालात- मुरैना में कई गांव पूरी तरह डूबे

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co