सिंधिया ने की केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री से मुलाकात
सिंधिया ने की केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री से मुलाकातSocial Media

सिंधिया ने की केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री से मुलाकात

माधव नेशनल पार्क शिवपुरी में जल्दी ही टाइगर की दहाड़ सुनने को मिल सकती है, सिंधिया ने माधव नेशनल पार्क में टाइगर व कूनो पालपुर में चीता लाने पर केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री से चर्चा की।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। माधव नेशनल पार्क शिवपुरी में जल्दी ही टाइगर की दहाड़ सुनने को मिल सकती है, इसके लिए भारत सरकार के नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पिछले कई वर्षों से प्रयासरत हैं, इस दिशा में सिंधिया ने महत्वपूर्ण प्रयास करते हुए केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र सिंह यादव से मुलाकात करके उनसे अनुरोध किया कि माधव नेशनल पार्क में टाइगर लाया जाए।

सिंधिया ने केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री को बताया कि पिछले 200 वर्षों से बड़ी संख्या में टाइगर के रहवास के लिए जाना जाता रहा है। ये ग्वालियर रियासत के राज परिवार ने बसाया था, जो कि 1980 तक आबाद था, 1987 से 1996 तक यहां एक टाइगर यहां था। 1990 में माधव नेशनल पार्क में टाइगर सफारी का निर्माण किया गया, जिसमें उस समय 10-15 टाइगर थे, लेकिन प्रशासनिक उदासीनता के कारण धीरे-धीरे ये सफारी बंद हो गई और यहां जो टाइगर थे, वो विस्थापित कर दिए गए।

सिंधिया ने अवगत कराया कि 1999 में मध्यप्रदेश सरकार ने माधव नेशनल पार्क में पुन: टाइगर को लाने के लिए प्रयास प्रारम्भ किए, क्योंकि यहां इनके लिए सभी प्रकार अनुकूल वातावरण थे, इस विषय मे वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन सॉल्यूशन,नई दिल्ली ने भी सर्वे करके एक रिपोर्ट प्रस्तुत की, जिसमें उन्होंने पाया कि माधव नेशनल पार्क में वो सभी अनुकूलताएं हैं, जो कि टाइगर की बसाहट के लिए ज़रूरी हैं, 2005 में मध्यप्रदेश सरकार ने एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन करके माधव नेशनल पार्क शिवपुरी में टाइगर के पुन: बसाहट के विषय में संभवानाएं तलाशने के लिए निर्देश दिया, नवंबर 2006 में इस समिति ने वन विभाग मध्यप्रदेश को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की। इस दिशा में इसी माह में माधव नेशनल पार्क के डायरेक्टर ने एक प्रस्ताव मुख्य वन सरंक्षक वाइल्ड लाइफ को भेजकर माधव नेशनल पार्क में टाइगर की बसाहट एवं 5 वर्षीय कार्ययोजना प्रस्तुत की है, जिसके लिए 106 करोड के बजट की भी मांग रखी गई है।

सिंधिया के उक्त मांग के संदर्भ में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने सकारात्मक पहल करते हुए अधिकारियों को निर्देश प्रदान कर दिये हैं, जल्दी ही केंद्र एवं प्रदेश सरकार का एक दल माधव नेशनल पार्क का दौरा करके उक्त विषय मे अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा। जिसके बाद टाइगर आने का रास्ता साफ हो जाएगा। इसके साथ ही श्योपुर जि़ले के वन अभ्यारण्य कूनो पालपुर में चीते लाने की दिशा में भी तेजी लाने का अनुरोध सिंधिया ने किया, इस पर भी मंत्री यादव ने संबधित अधिकारियों को तत्काल दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं, और आगामी नवंबर-दिसंबर तक कूनो पालपुर में चीता आ जाएंगे, ऐसा आश्वासन मंत्री यादव ने दिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co