ग्वालियर : भाजपा मेरी पुरानी पार्टी है पर मैं नया-नया हूं - सिंधिया

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : ग्वालियर पूर्व मंडल कार्यकर्ताओं की बैठक में बोले, कार्यकर्ताओं का मान सम्मान जरूरी।
ग्वालियर : भाजपा मेरी पुरानी पार्टी है पर मैं नया-नया हूं - सिंधिया
भाजपा मेरी पुरानी पार्टी है पर मैं नया-नया हूं - सिंधियाSocial Media

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। उप चुनाव को लेकर भाजपा ने नए आएं सिंधिया अब मंडल स्तर के कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद करने का काम कर रहे हैं। इसके तहत शनिवार को ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र के मंडल स्तर के कार्यकर्ताओं की बैठक में उन्होंने कहा कि भाजपा मेरी पुरानी पार्टी है, लेकिन में नया-नया आया हूं इसलिए आपसे आपकी टेबल पर आकर मुलाकात करूँगा।

कार्यकर्ताओं से मिलते सिंधिया
कार्यकर्ताओं से मिलते सिंधियाSocial Media

ग्वालियर पूर्व विधानसभा के मंडल स्तर के कार्यकर्ताओ की बैठक शालीमार गार्डन में शनिवार को आयोजित की गई। इस बैठक में भाजपा के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया कार्यकर्ताओं से रूबरू होने के लिए आए। इस दौरान सिंधिया ने कहा कि भाजपा ने विश्व में राजनीतिक दल के रूप में जो पहला स्थान पाया है, उसके पीछे सिर्फ और सिर्फ कार्यकर्ताओं की मेहनत है। उन्होंने कहा कि हम मंच पर कार्यकर्ताओं की मेहनत की बदौलत ही बैठे हुए हैं। नेताओं के पीछे कार्यकर्ता को नहीं भागना चाहिए बल्कि कार्यकर्ताओं के पीछे नेताओं को भागना चाहिए। सिंधिया ने उदाहरण देते हुए कहा कि जिस तरह से किसान अपने खेत में बीज डालने के बाद खाद एवं पानी देता है, लेकिन यह भी सभी को पता होना चाहिए कि खाद एवं बीज के अलावा जब किसान हल चलाता है तो उसका पसीना भी बीज को सिंचित करता है। यही काम किसी भी दल को आगे बढ़ाने के लिए कार्यकर्ता कर पसीना करता है। सिंधिया ने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि मान सम्मान कार्यकर्ताओं को मिलना चाहिए और अगर यह नहीं दिया तो फिर वह क्यों आएगा? सिंधिया ने कहा कि चुनाव विश्वास, सम्मान एवं स्वाभिमान का होता है और यह काम सिर्फ हमारे कार्यकर्ता करते है, क्योंकि वहीं पार्टी के असली सम्मान के अधिकारी होते हैं। कुर्सी तो आती जाती रहती है, लेकिन कार्यकर्ता का स्वाभिमान एक बार गया तो दुबारा नहीं आता।

नेता की कथनी करनी में अंतर नहीं होना चाहिए :

सिंधिया ने कार्यकर्ताओं के बीच कहा कि नेता की कथनी और करनी में अंतर नहीं होना चाहिए, क्योंकि अंतर रहा तो जनता लम्बा अंतर करने को तैयार बैठी रहती है। उन्होंने कहा कि अभी तक कार्यकर्ता नेता के पास आकर मिलते थे, लेकिन मैंने साफ कह दिया है कि मुझसे मिलने नहीं आना मैं स्वयं मिलने के लिए आपकी टेबिल पर आऊंगा। सिंधिया ने कहा कि ग्वालियर पूर्व विधानसभा में 447 बूथ है और अगर हमारे कार्यकर्ताओं ने किले की चौकीदारी बेहतर तरीके से की तो कांग्रेस की सूपड़ा साफ हो जाएगा।

हर गली जाकर मांगे थे वोट तब मिली थी 26 सीटें :

सिंधिया ने कांग्रेस पर करारा हमला करते हुए कहा कि 2018 के विधानसभा चुनाव में मैंने हर गली कस्बे में जाकर मेहनत की थी तब जाकर 70 साल के इतिहास में ग्वालियर-चंबल संभाग में कांग्रेस को 34 में से 26 सीटे मिली थी। भाजपा सरकार बनाने से मात्र कुछ सीटों से रह गई थी। कांग्रेस सरकार बनने के बाद मैंने विधायकों से कहा था कि अब विकास की गंगा बहेगी, लेकिन क्या हुआ 15 माह मेे सभी के सामने है। मुन्नालाल गोयल ने अपने लिए घर नहीं मांगा था बल्कि गरीबों के आवास के लिए पट्टे, मुरार नदी का जीरेणोद्धार की बात ही तो कमलनाथ से की थी, लेकिन उन्होंने अपने दरवाजे बंद कर लिए थे। अब ग्वालियर-चंबल के भाजपा कार्यकर्ताओं के ऐसी मेहनत करनी होगी कि अंचल में कमलनाथ व दिग्विजय सिंह के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो जाएं। बैठक में पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन, माया सिंह, ग्वालियर पूर्व के प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल, भाजपा अध्यक्ष कमल माखीजानी सहित कई वरिष्ठ भाजपा नेता मौजूद थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co