Raj Express
www.rajexpress.co
MP में सिंधिया की अग्निपरीक्षा! विधानसभा में पलटा सियासी आंकड़ा
MP में सिंधिया की अग्निपरीक्षा! विधानसभा में पलटा सियासी आंकड़ा |Social Media
मध्य प्रदेश

MP में सिंधिया की अग्निपरीक्षा! विधानसभा में पलटा सियासी आंकड़ा

मध्य प्रदेश विधानसभा में अब 229 विधायक हो गए हैं। मुरैना जिले के जौरा से कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा की मौत से सरकार के बहुमत के आंकड़े कितने बदले हैं, जानिए इस रिपोर्ट में...

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को झाबुआ के उपचुनाव में मिली जीत से कुछ राहत मिली थी। जोकि अब समाप्त होती नज़र आ रही है। मुरैना जिले के जौरा से कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा की मौत से सरकार की चिंता बढ़ गयी है। विधायक बनवारी लाल शर्मा पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। शनिवार सुबह अचानक तबीयत बिगड़ने से उनका राजधानी में निधन हो गया। शर्मा की गिनती कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबियों में हुआ करती थी। इसलिए उपचुनाव में अब सिंधिया की जवाबदारी और भी महवत्पूर्ण हो जाती हैं।

कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में 230 में से 114 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इस तरह उसे पूर्ण बहुमत नहीं मिला था। भाजपा ने 109 सीटों पर जीत हासिल की थी और इसके साथ ही बीजेपी को अपनी 15 साल से चल रही सरकार से हाथ धोना पड़ा था। अब निर्दलीय के चार, बसपा के दो और सपा के एक विधायक के समर्थन से कांग्रेस सरकार चला रही थी। झाबुआ उपचुनाव में कांग्रेस के कांतिलाल भूरिया ने जीत दर्ज कर कांग्रेस को मजबूती प्रदान की। इस तरह कांग्रेस के विधायकों की संख्या बढ़कर 115 हो गई। अब सरकार फिर से 114 पर आ गयी है। अगर बीजेपी उपचुनाव जीत जाती है तो बीजेपी की संख्या फिर से 109 सीटों पर पहुंच जाएगी।

ये आंकड़े कमल नाथ सरकार के लिए ख़तरे की घंटी साबित हो सकते हैं। इसलिए इन आगामी उपचुनाव में पार्टी जान लगाने को तैयार रहेगी। इस क्षेत्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता सिंधिया का अपना ही रुतबा है। इसलिए पार्टी उपचुनाव की जिम्मेदारी सिंधिया को ही सौंप सकती है। उपचुनाव में कांग्रेस को विजय प्राप्त करवाना सिंधिया के लिए अग्नि परीक्षा के समान ही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।