सीहोर के सोमलवाड़ा गांव में फंसे 58 लोगों को किया रेस्क्यू
सीहोर के सोमलवाड़ा गांव में फंसे 58 लोगों को किया रेस्क्यू |Syed Dabeer-RE
मध्य प्रदेश

'बाढ़ का कहर' सीहोर के सोमलवाड़ा गांव में फंसे 58 लोगों को किया रेस्क्यू

मध्यप्रदेश में मूसलाधार बारिश से बिगड़े हालत, सीहोर के सोमलवाड़ा गांव में फंसे हुए 58 लोगों को हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू किया।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

सीहोर, मध्यप्रदेश। प्रदेश में एक तरफ जहां खतरनाक कोरोना का संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है वहीं प्रदेश में हुई मूसलाधार बारिश ने तोड़े रिकॉर्ड, बता दें कि कोरोना संकटकाल के बीच हुई भारी बारिश ने और बढ़ाई मुश्किलें, प्रदेश के कई जिले तरबतर हो गए हैं और जलस्तर बढ़ने से बाढ़ के हालात बने।

मप्र में अब भी बाढ़ग्रस्त इलाकों में फंसे कई लोग :

मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश के सीहोर के सोमालवाड़ा में भारी बारिश के कारण कई लोग फंसे गए है। इस बीच सोमालवाड़ा गाँव में फंसे 58 ग्रामीणों को हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू किया गया है, बता दें कि हेलीकॉप्टर की सहायता से बाढ़ प्रभावित लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।

फंसे हुए 58 लोगों को दो खेप में किया रेस्क्यू

मध्यप्रदेश के अभी भी कई गांव में लोग अब भी बाढ़ग्रस्त इलाकों में फंसे हुए हैं, सीहोर जिले के निचले हिस्सों में फंसे लोगों का सेना की तरफ से रेस्क्यू किया जा रहा है। सोमलवाड़ा गांव में फंसे हुए 58 लोगों को दो खेप में रेस्क्यू किया गया है। इनमें बुजुर्ग, महिला और बच्चे शामिल थे। रेस्क्यू के बाद हेलीकॉप्टर को शाहगंज मंडी प्रांगण में उतारा गया था। फिलहाल सभी लोग सुरक्षित हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट कर कहा कि सीहोर जिले के सोमालवाड़ा से फंसे सभी भाई-बहनों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। एयरलिफ्ट करने का ऑपरेशन रायसेन के भौंती गांव से प्रारम्भ होने वाला है। रायसेन के विभिन्न क्षेत्रों में फंसे हुए लोग परेशान ना हो। आर्मी के दो कॉलम भी भेजे रहे हैं। हम सभी को सुरक्षित निकाल लेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज ने निवास में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर मध्यप्रदेश में बाढ़ की स्थिति और बचावकार्य की समीक्षा सहित महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा कर रहे हैं। वही मुख्यमंत्री निवास में बना कंट्रोल रूम 24*7 कार्य कर रहा है। बाढ़ की स्थिति में 1079 या 100 डायल कर सहायता प्राप्त कर सकते हैं, कहा कि आपको सुरक्षित निकालने और राहत के लिए बेहतर से बेहतर व्यवस्थाएं की जा रही हैं। मैं स्वैच्छिक संगठनों से भी आग्रह करता हूं कि सहयोग का हाथ बढ़ाएं। बाढ़ प्रभावित लोगों को भोजन वस्त्र और अन्य सहायता प्रदान करने में सहयोग करें।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि जो स्थान पानी से घिरे हैं या जहां पानी बढ़ने की आशंका है, वहां रहने की जिद न करें। प्रशासन जब निकलने को कहे तो सावधानी रखते हुए तुरंत अन्य स्थान या राहत शिविर में शिफ्ट होने में सहयोग करें। वही बताते चले कि सीहोर के बुधनी-160, रेहटी-110, इछावर-109, सिटी- 84.2, नसरुल्लागंज- 81, आष्टा-57, श्यामपुर-53, जावर-42 वर्षा दर्ज हुई है। सीहोर में रात भर चले रेस्क्यू ऑपरेशन में कई लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co