सिवनी : कागजों में बन गई सीमेंट की रोड

सिवनी, मध्य प्रदेश : ग्राम पंचायत गुदमा में सरपंच-सचिव द्वारा शासन की योजनाओं की राशि का बंदरबाट करके स्वर्णिम योजनाओं को पलीता लगाने का काम किया जा रहा है।
सिवनी : कागजों में बन गई सीमेंट की रोड
कागजों में बन गई सीमेंट की रोडRaj Express

सिवनी , मध्य प्रदेश। जिले के बरघाट विकासखंड अन्तर्गत आने वाली ग्राम पंचायत गुदमा में सरपंच-सचिव द्वारा शासन की योजनाओ की राशि का बंदरबाट करके स्वर्णिम योजनाओं को पलीता लगाने का काम किया जा रहा है जिसकी शिकायत ग्रामीणों द्वारा जिला कलेक्टर तक से की गई। लेकिन निष्पक्ष जांच के ग्राम पंचायत गुदमा का विकास गर्त में जा रहा है।

ग्राम पंचायत गुदमा के पंचों एवं ग्रामीणों के द्वारा जिला कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ को प्रेषित आवेदन मे आरोप लगाये गये हैं कि सरपंच एव सचिव के द्वारा सीमेंट कांक्रीट रोड का निर्माण कागज में कर दिया गया है जिसका जीता जागता प्रमाण रंजित भगत के घर से शंकरलाल भगत के घर की ओर सीमेंट कांक्रीट रोड का उल्लेख दस्तावेज में है और राशि भी रोड के नाम पर खर्च की गई है किन्तु मौके से रोड गायब है। इसी तरह ग्राम गुदमा में इन्दिरा आवास कालोनी मे सार्वजनिक चबूतरा हेतु राशि का आहरण वर्ष 2018 मे कर लिया गया है किन्तु यह चबूतरा भी मौके पर नही है साथ ही प.ह.न. 14 में स्थित खसरा न. 173 मार्मिक रोड का निर्माण भी अवैध तरीके से किया गया है। ग्राम गुदमा प.ह.न. 14 मे स्थित पहाड़ी भूमि खसरा न. 635 रकबा 18,470 हे. को बगैर पंचगणो से प्रस्ताव लिये बिना ही सरपंच के द्वारा खनिज विभाग सिवनी को आवंटित कर दिया गया है। जबकि उपरोक्त भूमि मे वन, तालाब, देवस्थल व शासकीय तालाब एवं खेल मैदान भी बना हुआ है। तालाब मे मत्स्य पालन भी किया जाता है जिसका पट्टा भी मत्स्य विभाग द्वारा मछुआरे को दिया गया है । ऐसी जमीन को सरपंच द्वारा अपनी मनमानी करते हुऐ खनिज विभाग के साथ अनुबंध कर दिया गया है इसी तरह सरपंच एव सचिव के द्वारा बहूत से निर्माण कार्यो को कागज मे बना दिया गया है। ग्रामीणों ने आवेदन में आगे बताया कि शौचालय निमाज़्ण में भी सरपंच के द्वारा भारी अनियमिततायें बरती गई हैं और उनकी राशि स्वयं के उपयोग मे ली गई है।

सूचना के अधिकार की उड़ रही धज्जियाँ :

ग्राम पंचायत गुदमा मे पदस्थ सचिव जो की सरपंच का रिश्तेदार है सूचना के अधिकार का माखौल उड़ा रहा है और ग्रामीणों को आवेदन करने के बाद भी जानकारी नहीं दे रहे हैं इस संबंध में भी उल्लेख किया गया है कि 7 सितंबर को आवेदक गया प्रसाद बोपचे के द्वारा सूचना के अधिकार के तहत ग्राम पंचायत मे आवेदन किया गया जिसमें सचिव के द्वारा 15 सितंबर को जानकारी उपलब्ध कराने बुलाया गया था किन्तु आज दिनांक तक चाही गई जानकारी सचिव द्वारा आवेदक को उपलब्ध नहीं कराई गई। इसी तारीख को एक अन्य आवेदक के द्वारा भी आवेदन लगाया गया था उसे भी सचिव के द्वारा जानकारी नहीं दी जा रही है।

उल्लेखनीय है कि सरपंच के द्वारा शिकायत से हताश होकर पुलिस अधीक्षक सिवनी को यह आवेदन प्रस्तुत किया गया है गांव के कुछ लोग शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। जिसकी जांच भी पुलिस थाना बरघाट के द्वारा की जा रही है वहीं ग्रामीणों ने शासकीय राशि के दुरूपयोग मामले मे सरपंच-सचिव पर जांच कर अपराध पंजीबद्ध कराने की मांग की है। ग्रामीणों और पंचों ने जिला कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ को सौंपे गये आवेदन में निष्पक्ष जांच कर कार्यवाही की मांग की है। साथ ही कार्यवाही नहीं होने की दशा में आन्दोलन करने की चेतावनी भी ग्रामीणों द्वारा दी गई है। ज्ञापन सौंपने पहुंचे लोगों में उपसरपंच, पंच जकलसिंग, रोशनलाल, प्रेमलता, बिसरबती इड़पाचे, अनंदा, सुकरती, महलाल इनवाती, ममता नेवारे, लक्ष्मी बाई सहित अन्य पंच और ग्रामीण शामिल थे। जिन्होने कार्यवाही की मांग की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co