मध्य प्रदेश में हेरिटेज शराब के लिए अलग से खुलेंगी दुकानें
मध्य प्रदेश में हेरिटेज शराब के लिए अलग से खुलेंगी दुकानेंSyed Dabeer-RE

मध्य प्रदेश में हेरिटेज शराब के लिए अलग से खुलेंगी दुकानें, लागू किया जाएगा नया प्रावधान

मध्य प्रदेश की सरकार ने हेरिटेज शराब बिक्री को लेकर एक अहम फैसला लिया है। इस फैसले के तहत अब हेरिटेज शराब को कंपोजिट शराब की दुकानों से अलग बेचा जाएगा।

मध्य प्रदेश, भारत। यदि आप रेगुलर शराब पीना पसंद करते है व हेरिटेज शराब पीते हैं और मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं तो आपके लिए एक खुशी की खबर है। दरअसल, मध्य प्रदेश की सरकार ने हेरिटेज शराब बिक्री को लेकर एक अहम फैसला लिया है। इस फैसले के तहत अब हेरिटेज शराब को कंपोजिट शराब की दुकानों से अलग बेचा जाएगा।

हेरिटेज शराब के लिए खुलेंगी अलग से दुकानें :

दरअसल, मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए बड़ा ऐलान किया है। इस फैसले के तहत सरकार ने पहले से संचालित हो रही कंपोजिट शराब की दुकानों पर हेरिटेज शराब की बिक्री बंद करने का ऐलान किया है। हेरिटेज शराब के लिए अब अलग से दुकान होंगी। जिन्हें जल्द ही खोला जाएगा। इस मामले में वाणिज्य कर विभाग ने हेरिटेज पॉलिसी का प्रावधान भी तैयार किया है और जल्द ही कैबिनेट में इस प्रावधान को मंजूरी के लिए लाया जाएगा। जैसे ही इस प्रावधान को मंजूरी मिल जाती है, प्रदेश में हेरिटेज शराब की दुकानें अलग से खोल दी जाएंगी।

हेरिटेज शराब को दिया जाएगा बढ़ावा :

बताते चलें, मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार हेरिटेज शराब को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाने जा रही है। इस कदम के तहत हेरिटेज शराब पर वैल्यू ऐडेड टैक्स में 2 साल और एक्साइज ड्यूटी में 6 साल तक की छूट देने देने कि बात इस प्रावधान में कही गई है। एक्साइज ड्यूटी में कटौती होने पर हेरिटेज शराब उत्पादन की लागत में कमी आएगी। हालांकि, हेरिटेज शराब किस कीमत में मिलेगी यह अभी तक निर्धारित नही किया गया हैं।

प्रावधान में किया गया संशोधन :

आपको याद ही होगा शिवराज सरकार द्वारा जनवरी में ही नई आबकारी नीति को मंजूरी दी गई थी। उसी समय इसमें हेरिटेज शराब की बिक्री को सभी शराब की दुकानों पर करने का प्रावधान लाया गया था, लेकिन अब सरकार ने इसमें संशोधन करने का विचार करते हुए हेरिटेज शराब को अलग से बेचने के लिए अलग दुकानें खोलने का निर्णय लिया है। इस बारे में जानकारी देते हुए सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि, 'हेरिटेज शराब निर्माण के लिए आदिवासी बहुल जिले जैसे डिंडोरी और अलीराजपुर में पायलट प्रोजेक्ट भी शुरू किया जा रहा है। यहां आदिवासी स्व सहायता समूह हेरिटेज शराब का निर्माण करेंगे। साथ ही इसके शराब का उत्पादन सितंबर महीने से शुरू होने की बात कही जा रही है। इसकी सबसे पहली बिक्री पर्यटन विभाग के संबंधित होटलों में होगी।'

क्या है हेरिटेज शराब ?

जानकारी के लिए बता दें, हेरिटेज शराब एक ऐसी शराब होती है जिसका निर्माण फूलों से किया जाता है। यह एकमात्र फूलों से बनने वाली शराब होती है और पूरे भारत में सिर्फ मध्य प्रदेश में इसका निर्माण होता है। हेरिटेज शराब के निर्माण में किसी भी केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। साथ ही पानी उच्च गुणवत्ता का प्रयोग किया जाता है। वहीं हेरिटेज शराब बनाने वाले हर स्व सहायता समूह को 'भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण' का सर्टिफिकेट लेना पड़ता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co