सैक्स रैकेट का पर्दाफाश, 5 गिरफ्तार
सैक्स रैकेट का पर्दाफाश, 5 गिरफ्तार|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

हनी का टेस्ट देकर करते थे ब्लैकमेल, सैक्स रैकेट का पर्दाफाश, 5 गिरफ्तार

शहडोल, मध्य प्रदेश : पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है, रैकेट को संचालित करने वाले युवक और युवतियों को पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए मामले से पर्दा उठाया है।

Afsar Khan

शहडोल, मध्य प्रदेश। जिले में हुए सेक्स रैकेट के खुलासे की कहानी हनी ट्रैप से कम नहीं है, नामचीन लोगों को हनी का चस्का लगाने के बाद ब्लैकमेलिंग का खेल शुरू होता था। अंकित गुप्ता ने अगर आत्महत्या न की होती तो, शायद यह गैंग कई को अपना शिकार बना लेती। पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है, रैकेट को संचालित करने वाले युवक और युवतियों को पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए मामले से पर्दा उठाया है।

अंकित की मौत ने खोला राज :

नरसरहा डिपो में रहने वाले राजेश गुप्ता ने कोतवाली में 11 जुलाई को शिकायत दर्ज कराई थी कि उसके भतीजे अंकित गुप्ता ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी, पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए पूरे मामले की पड़ताल शुरू की तो, चौंकाने वाले तथ्य सामने आये, जिसके बाद सैक्स रैकेट के इस गोरखधंधे से पुलिस ने पर्दाफाश किया है।

लवली के जाल में फंसा अंकित :

मौत से एक दिन पहले 10 जुलाई को ज्योति यादव ने अपनी सहेली सुधा, गोलू पाण्डेय और साथी शुभम जायसवाल के साथ मिलकर षडय़ंत्र रचा और लवली को अंकित के पास भेजा, शारीरिक संबंध बनाने के बाद रैकेट में शामिल सभी आरोपियों ने अंकित की फोटो खींचकर वॉयरल करने के नाम पर 3 लाख रूपये की मांग की, हुस्न के फरेब में फंसकर अंकित ने आत्महत्या कर ली थी।

भुगतना पड़ेगा अंजाम :

सौदा तो 3 लाख रूपये में हुआ था, अंकित ने 20 हजार रूपये दे दिये थे, बाकी की रकम दो से तीन दिन में उसेे देनी थी, रैकेट में शामिल आरोपियों ने उसे धमकी दी थी कि यदि उसने पैसों की बात किसी को बताई तो, खामियाजा भुगतना होगा। बदनामी के डर से अंकित ने 11 जुलाई को मौत को गले लगा लिया था।

बलात्कार के आरोप में फंसाने की धमकी :

इतना ही नहीं गैंग में शामिल आरोपियों ने अंकित को रूपये न देेने पर बलात्कार में भी फंसाने की धमकी दी थी, साथ ही अंकित एसबीआई, आईडीबीआई एवं बंधन बैंक के चैक बुक व थैला ले गये थे, पुलिस ने आरोपियों के पास से 6 हजार रूपये, 6 नग मोबाइल, चेक बुक, बैग, घटना में उपयुक्त आटो एमपी 18 आर 2054 एवं मोटर सायकल क्रमांक एमपी 18 एमएल 5851 कुल 3 लाख 50 हजार रूपये का सामान जब्त किया है, आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया।

ये चढ़े पुलिस के हत्थे :

सैक्स रैकेट की आड़ में ब्लैकमेलिंग करने वाले गिरोह के गोलू उर्फ अविनाश पाण्डेय पिता रावेन्द्र पाण्डेय उम्र 29 वर्ष निवासी शिवम कालोनी, सुधा पाण्डेय (शुक्ला) पति पंकज उर्फ शेखावत शुक्ला उम्र 40 वर्ष निवासी संजय मार्केट उमरिया, लवली उर्फ गायत्री राठौर पिता चैतू राठौर उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम मुंडा अनूपपुर, शुभम जायसवाल पिता नवीन जायसवाल उम्र 29 वर्ष निवासी रानीकटारा लखनऊ हालमुकाम अनूपपुर, ज्योति उर्फ भानवती यादव पिता गोपाल यादव उम्र 35 वर्ष निवासी सलैया जिला उमरिया को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

इनकी रही भूमिका :

इस पूरे रैकेट का खुलासा करने में पुलिस अधीक्षक सतेन्द्र शुक्ला, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रतिमा एस. मैथ्यू के मार्गदर्शन में कोतवाली प्रभारी राजेश चंद्र मिश्रा, प्रशिक्षु उपपुलिस अधीक्षक संघप्रिय सम्राट, सोनाली गुप्ता, उपनिरीक्षक प्रियंका सिंह बघेल, सुभाष दुबे, सहायक उपनिरीक्षक राकेश सिंह बागरी, आरक्षक हीरालाल मेहरा, गिरीश मिश्रा, हरेन्द्र सिंह, महिला आरक्षक बसंता सिंह श्याम व सोनी नामदेव की भूमिका रही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co