शहडोल में ऑक्सीजन की कमी से 12 कोविड मरीजों की मौत, अस्पताल में मचा हड़कंप
ऑक्सीजन की कमी से 12 कोविड मरीजों की मौतSocial Media

शहडोल में ऑक्सीजन की कमी से 12 कोविड मरीजों की मौत, अस्पताल में मचा हड़कंप

शहडोल, मध्यप्रदेश। एमपी में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बेकाबू हो गई है अब मध्यप्रदेश के शहडोल मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से 12 मरीज़ों की मौत।

शहडोल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में कोरोना संक्रमण ने जहां तेजी पैर पसार लिए है वहीं कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के साथ ऑक्सीजन की कमी से हो रही मौतों पर बवाल मचा हुआ है। मिली जानकारी के मुताबिक अब मध्यप्रदेश के शहडोल मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से 12 मरीजों की मौत हो गई।

ऑक्सीजन की कमी से 12 की मौत :

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बेकाबू हो गई है वही इस गंभीर संकट के बीच अब मध्यप्रदेश के शहडोल मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की सप्लाई का प्रेशर कम होने से 12 कोविड मरीजों की मौत हो गई, मिली जानकारी के मुताबिक सभी मरीज ICU में भर्ती थे। घटना शनिवार रात 12 बजे की है। ऑक्सीजन कम होते ही अस्पताल में हड़कंप मच गया। ऑक्सीजन सिलेंडरों की व्यवस्था के लिए अफरा तफरी मच गई, मेडिकल प्रबंधन और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे।

बताते चले कि अपर कलेक्टर अर्पित वर्मा ने 12 मौतें होने की जानकारी दी, बता दे ऑक्सीजन की कमी वाले 12 मरीजों से पहले मेडिकल कॉलेज में ही कोरोना के 10 और मरीजों की मौत हो गई थी, इस तरह शनिवार को कुल 22 मरीजों की जान गई।

एक बार फिर कमलनाथ ने सरकार को घेरा

ऑक्सीजन की कमी से लगातार हो रही मौतें पर एक बार पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर जमकर निशाना साधा, उन्होंने ट्वीट कर कहा- 'अब शहडोल में ऑक्सीजन की कमी से मौतों की बेहद दुखद खबर? भोपाल, इंदौर, उज्जैन , सागर , जबलपुर, खंडवा, खरगोन में ऑक्सीजन की कमी से मौतें होने के बाद भी सरकार नहीं जागी? आखिर कब तक प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से यूं ही मौतें होती रहेगी?

रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की भी यही स्थिति , सिर्फ़ सरकार के बयानो में व आँकड़ो में ही ऑक्सीजन व रेमड़ेसिविर उपलब्ध , अस्पतालों से ग़ायब ? सरकार काग़ज़ी बैठकों से निकलकर मैदानी स्थिति सम्भाले , स्थिति बेहद विकट।

कमलनाथ ने कहा-

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co