अपराध की समीक्षा बैठक के दौरान पेश किए अपराधों के आंकड़े
अपराध की समीक्षा बैठक के दौरान पेश किए अपराधों के आंकड़े |Afsar Khan
मध्य प्रदेश

अपराध की समीक्षा बैठक के दौरान पेश किए अपराधों के आंकड़े

शहडोल, मध्यप्रदेश : बैठक में शहडोल जोनांतर्गत शहडोल, उमरिया, अनूपपुर एवं डिण्डोरी जिले में लंबित अपराधों, चालान, मर्ग, आदि के निराकरण के संबंध में चर्चा की गई।

Afsar Khan

राज एक्सप्रेस। पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय में गुरूवार की दोपहर एस. पी. सिंह पुलिस महानिरीक्षक,शहडोल जोन द्वारा अपराध समीक्षा बैठक की गई। बैठक में शहडोल जोनांतर्गत शहडोल, उमरिया, अनूपपुर एवं डिण्डोरी जिले में लंबित अपराधों, चालान, मर्ग, शिकायत, विभागीय जांच आदि के निराकरण एवं अपराधों पर नियंत्रण के संबंध में चर्चा की गई। समीक्षा/विश्लेषण में विगत वर्ष की तुलना में वर्ष 2019 में शहडोल जोन में सभी शीर्ष के अपराधों मात्र 03 प्रतिशत तथा महिला अपराधों में मात्र 02 प्रतिशत वृद्धि दर्ज हुई है। मायनर एक्ट के तहत् 15 प्रतिशत तथा प्रतिबंधक धाराओं के तहत् 09 प्रतिशत अधिक कार्यवाही की गई है। इस प्रकार, जोन में अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण परिलक्षित हुआ है।

557 अपराधों का निराकरण :

अपराध शीर्षवार जोन में पशु चोरी में 32 प्रतिशत, बलवा में 52 प्रतिशत, शीलभंग में 07 प्रतिशत की कमी दर्ज हुई है तथा हत्या में 17 प्रतिशत, हत्या के प्रयास में 15 प्रतिशत, साधारण चोरी में 15 प्रतिशत, लूट में 55 प्रतिशत, अपहरण में 15 प्रतिशत, बलात्कार में 07 प्रतिशत, रोड एक्सीडेंट में 30 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई है। मार्च 2019 से दिसम्बर 2019 तक जिला शहडोल में 246, अनूपपुर में 139, उमरिया में 112 तथा डिण्डोरी में 60 कुल 557 अपराधों का निराकरण किया गया है। माह दिसम्बर 2019 में जिला शहडोल द्वारा 117, अनूपपुर द्वारा 56, उमरिया द्वारा 06 एवं डिण्डोरी द्वारा 02 कुल 181 गंभीर अपराधों के निराकरण कराए गए हैं। इसी प्रकार, कुल 370 साधारण अपराधों के निराकरण कराए गए हैं।

651 गंभीर अपराध लंबित :

31 दिसम्बर, 2019 की स्थिति में लंबित गंभीर अपराध जिला शहडोल में 330 (जोन का 51 प्रतिशत), अनूपपुर में 154, उमरिया में 92 तथा डिण्डोरी में 75 कुल 651 गंभीर अपराध विवेचना में लंबित पाए गए हैं। उक्त अपराधों में से अपहरण के 346 अपराध एवं धोखाधड़ी के 120 अपराध अधिक संख्या में लंबित हैं। इसी प्रकार, जिला शहडोल में 130, अनूपपुर में 56, उमरिया में 47 एवं डिण्डौरी में 41 कुल 274 साधारण अपराध लंबित हैं।

445 चालान न्यायालय में पेश किया जाना लंबित :

मार्च 2019 से दिसम्बर 2019 तक जिला शहडोल में 189, अनूपपुर में 35, उमरिया में 27 तथा डिण्डोरी में 12 कुल 263 मर्गों का निराकरण किया गया है। दिनांक 31 दिसम्बर, 2019 की स्थिति में, जिला शहडोल में 45, उमरिया में 63, अनूपपुर में 55 एवं डिण्डोरी में 13 कुल 176 मर्ग जांच में लंबित पाए गए हैं। इस प्रकार, मर्गों के निराकरण में काफी प्रगति हुई है। इसी प्रकार, जिला शहडोल में 47, उमरिया में 63, अनूपपुर में 171 एवं डिण्डोरी में 164 कुल 445 चालान न्यायालय पेश किए जाने हेतु लंबित हैं।

तत्परता से करें निराकरण :

बैठक के दौरान पुलिस महानिरीक्षक शहडोल जोन द्वारा सभी शीर्ष के अपराधों का अधिकतम 03 माह में विवेचना पूर्ण कर आवश्यक रूप से निराकृत कराये जाने के निर्देश दिए गए। साथ ही लंबित एक वर्ष पुराने सभी प्रकरणों का तत्परता से निराकरण हेतु निर्देशित किया गया। वही गंभीर अपराधों, महिलाओं, बालकों, एससी/एसटी से संबंधित तथा चिह्नित अपराधों का यथाशीघ्र निकाल करने, धोखाधड़ी संबंधी अपराधों में कार्य-योजना अनुसार निकाल करने, 03 माह से अधिक के लंबित सभी मर्गों का निराकरण करने, वर्ष 2018 तक के लंबित सभी चालानों को न्यायालय पेश करने आदि के संबंध विस्तृत चर्चा की गई।

सख्त कार्यवाही के दिए निर्देश :

सीएम हेल्प लाईन, आयोगों, शासन, पुलिस मुख्यालय एवं अन्य माध्यमों से प्राप्त शिकायतों को गंभीरता पूर्वक एवं संवेदनशीलता के साथ त्वरित निराकरण करने, महिलाओं को काम के बहाने बाहर ले जाने वाले गिरोह/एजेंटों की पतारसी कर उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही करने, सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने, ग्राम/नगर रक्षा समितियों के नए सदस्य बनाकर पुनगर्ठित करने आदि के संबंध में भी निर्देश दिए गए।

ये रहे बैठक में मौजूद :

उक्त बैठक में पी. एस. उईके उप पुलिस महानिरीक्षक शहडोल रेंज, अनिल सिंह पुलिस उप महानिरीक्षक एवं पुलिस अधीक्षक शहडोल आदि मौजूद रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co