शहडोल : फर्जी एमबीबीएस डॉक्टर के क्लीनिक पर छापा
फर्जी एमबीबीएस डॉक्टर के क्लीनिक पर छापाRaj Express

शहडोल : फर्जी एमबीबीएस डॉक्टर के क्लीनिक पर छापा

शहडोल, मध्य प्रदेश : जिले के सोहागपुर गढ़ी के पास निजी क्लीनिक संचालित करने वाली बंगाली चिकित्सक के घर पर छापा मार कार्यवाही चिकित्सा विभाग द्वारा की गई।

शहडोल, मध्य प्रदेश। जिले के सोहागपुर गढ़ी के पास निजी क्लीनिक संचालित करने वाली बंगाली चिकित्सक के घर पर छापा मार कार्यवाही चिकित्सा विभाग द्वारा की गई। कलेक्टर सतेन्द्र सिंह एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के निर्देशन में जिले में अवैध पैथोलॉजी एवं फर्जी क्लीनिकों को पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए रूजोपचार प्रभारी राकेश श्रीवास्तव, डॉ. सचिन कारखुर सहित तीन सदस्यीय दल एवं सोहागपुर थाने का बल जिनमें प्रधान आरक्षक रति राम सिंह, आरक्षक प्रेम सिंह शामिल है। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार फर्जी चिकित्सक ऋचा बदरा के क्लीनिक से दवाई सहित चिकित्सा संबंधी उपकरण जब्त कर क्लीनिक को सील करने की कार्यवाही की जा रही है।

खुद का खोल रखा था अस्पताल :

छापमार कार्यवाही में टूल्स के रूप में ऑपरेशन में प्रयोग किये जाने वाले उपकरण भी मिले है, संभवत: कथित फर्जी चिकित्सक अपने क्लीनिक में ऑपरेशन सहित अन्य चिकित्सीय कार्य भी किया जाता है, वहीं सोचनीय पहलू यह है कि कथित फर्जी चिकित्सक को आखिर इतनी बड़ी मात्रा में दवाईयां, इंजेक्शन एवं ऑपरेशन में प्रयोग किये जाने वाली सामग्री किस मेडिकल स्टोर से उपलब्ध हो रही थी।

दर्ज होगा मामला :

जांच अधिकारी राकेश श्रीवास्तव ने बताया कि उक्त क्लीनिक नियमों के विपरीत संचालित हो रही थी, उक्त क्लीनिक में जांच के दौरान दवाई, इंजेक्शन, चिकित्सा में उपयोग होने वाले उपकरण सहित एक्सपायरी दवाईयां मिली हैं, पूर्व में इसकी शिकायत विभाग को मिली थी, कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह के निर्देशन एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मेघ सिंह सागर के मार्गदर्शन में कार्यवाही की गई है। कथित फर्जी चिकित्सक पर मामला दर्ज किया जायेगा।

गोपाल मेडिकल का नाम :

कथित फर्जी चिकित्सक के घर पर जब चिकित्सा विभाग की टीम ने दबिश दी, उस दौरान चिकित्सा विभाग को दवाईयों का जखीरा मिला है, सबसे बड़ी बात यह है कि जिले के प्रतिष्ठित गोपाल मेडिकल स्टोर के बॉक्स में भारी मात्रा में दवाई मिली, वहीं गोपाल मेडिकल स्टोर के संचालक द्वारा कहा गया कि हमारे द्वारा कार्टून बेचा जाता है, इतनी बड़ी मात्रा में दवाई नहीं बेची गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co