Raj Express
www.rajexpress.co
लापरवाही ने ली छात्रा की जान
लापरवाही ने ली छात्रा की जान|Satish Tiwari
मध्य प्रदेश

लापरवाही ने ली छात्रा की जान, परिजनों ने लगाये आरोप

शहडोल, मध्यप्रदेश : चिकित्सा विभाग में हुई बच्चों की मौत का मामला ठण्डा ही नहीं हुआ था कि, जिले में शिक्षा विभाग का नया मामला आया सामने ।

Satish Tiwari

राज एक्सप्रेस। चिकित्सा विभाग में हुई बच्चों की मौत का मामला ठण्डा ही नहीं हुआ था कि शहडोल जिले में शिक्षा विभाग का नया मामला सामने आया है, जहां शिक्षकों की लापरवाही के चलते एक मासूम छात्रा की जान चली गई, घटना के संबंध में बताया गया कि, पपौंध थाना क्षेत्र अंतर्गत हॉयर सेकेण्ड्री निपनिया के कक्षा 9 वीं से 12 वी के लगभग 60-65 बच्चों को रविवार की सुबह 10 बजे सीधी जिले में परसली रिसोर्ट प्राइवेट बस में पिकनिक ले गये थे। आरोप है कि बस ड्राइवर शराब के नशे में था और शिक्षक ड्राइवर के भरोसे बच्चों को छोड़ शिक्षक अपने-अपने घर चले गये थे। रात्रि 8 बजे के आस-पास संजना शुक्ला सकंदी निवासी बस की चपेट में आ गई, जिससे उसे गंभीर चोटे आई, इलाज के लिए ले जाते वक्त रास्ते में ही छात्रा ने दम तोड़ दिया।

तड़पती रही संजना :

हायर सेकेण्ड्री स्कूल निपनिया के कक्षा-12 छात्रा संजना शुक्ला निवासी ग्राम सकंदी स्कूल प्रबंधन के द्वारा स्कूली छात्रों को शैक्षणिक भ्रमण हेतु सीधी जिले के परसिली रेस्टहाउस ले जाया गया था। जिनकी वापसी उसी दिन शाम को हुई। जिस बस से, छात्रों को भ्रमण हेतु ले जाया गया था वापसी में रात्रि लगभग 8: 00 बजे छात्रा (संजना) को उसके घर से लगभग दो किलोमीटर पहले सकंदी बिजयसोता तिराहे पर बस से उतार दिया। उतारने के बाद बस ड्राइवर ने बस को तेजी से पीछे की तरफ बैक किया तो अंधेरा होने के कारण उक्त छात्रा बस की चपेट मे आकर गंभीर रुप से घायल हो गई और बिना देखे बस वापस चली गई। बस की ठोकर से छात्रा को गंभीर चोट लगी, जिससे वह गिर कर वहीं पर तड़पती पड़ी रही।

हुई छात्रा की मौत :

रात अधिक होने और पुत्री के वापस नहीं लौटने से परेशान पिता ने स्कूल प्राचार्य राधिका तिवारी को पुत्री का हालचाल जानने फोन भी लगाया, लेकिन लापरवाह प्राचार्य ने अभिभावक का फोन उठाना मुनासिब नहीं समझा। रात के समय सड़क पर तड़पती छात्रा को देखकर कुछ लोगों ने उसके घर में सूचना दी। तब घर के लोग घटनास्थल पर पहुंचे और छात्रा को गंभीर हालत में ब्यौहारी सिविल हॉस्पिटल लाए। जहां कुछ ही समय के बाद छात्रा की मृत्यु हो गई। चिकित्सकों ने पीएम कर लाश परिजनों को सौंप दी। छात्रा की मृत्यु की खबर सुनकर लोगों में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ आक्रोश दिखाई दे रहा है। परिजनों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर की मांग की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।