शहडोल : दलालों के भरोसे चल रही पंचायत

शहडोल, मध्य प्रदेश : कुबरा पंचायत में सचिव बेच रहे काम, सरकारी खजानों से चहेतों को कर रहे उपकृत।
शहडोल : दलालों के भरोसे चल रही पंचायत
दलालों के भरोसे चल रही पंचायतAfsar Khan

शहडोल, मध्य प्रदेश। जयसिंहनगर जनपद के अंतर्गत आने वाले कुबरा पंचायत में सचिव के आगे शासन के नियम और निर्देश घुटने टेकते हैं, वहीं पंचायत के जिन करिंदों के बल पर सरकार विकास का दम भरती है वे कारिंदे सरकार के विकास को भ्रष्टाचार की नदी में बहाने कोई कोर कसर नहीं छोड़ते हैं, जिसका जीता-जागता उदाहरण कुबरा पंचायत में देखने को मिल रहा है। सूत्रों की मानें तो यहां हर काम के दाम तय हैं, जो उस दाम की भरपाई कर लेता है, उसे सचिव साहब काम बेंच देते हैं। यही नहीं किसी तथाकथित गौतम नाम के व्यक्ति के घर से कुबरा पंचायत के संचालन होने की भी खबर है, जहां से पंचायत के सारे बिल बनते हैं।

यह है मामला :

दरअसल कुबरा पंचायत में जितने काम हो रहे हैं य हो चुके हैं उनमें कहने को तो निर्माण एजेंसी पंचायत ने कराया है, लेकिन आंतरिक रूप से इन कामों का जिम्मा पंचायत में कुछ दलालों को कौड़ी के दाम पर बेच दिया गया, और निर्माण कराने की जिम्मेदारी उन्हें दे दी गई। सूत्रों की माने तो पंचायत के जीर्णोद्धार का काम सचिव ने किसी गुप्ता जी को सौंप दिया है, लेकिन जैसे ही जानकारी कुछ ग्रामीणों को लगी तो फिलहाल काम को यह कहकर अभी रुकवा दिया गया की टीएस नहीं हुआ लेकिन सूत्रों की मानें तो टीएस हुए लगभग दो सप्ताह बीत चुके हैं।

कमीशन में मिला चहेतों को छप्पर :

सचिव पद का जिम्मा कुबरा पंचायत में भले ही नत्थू सिंह सम्भाल रहे हैं, लेकिन असल में पंचायत को दलाल चला रहे हैं, वहीं खबर है कि ग्राम पंचायत में जितने भी पीएम आवास लोगों को दिए गए हैं सभी में 5 से 10 हजार तक का कमीशन सचिव ने वसूला है। वहीं सूत्रों की मानें तो कुबरा पंचायत के सरकारी खजानों से सचिव और उनके चहेतों ने जमकर चांदी काटी है।

झूठी जानकारी दे रहे सचिव :

पंचायत भवन के निर्माण का टीएस दो खण्डों में जारी हुआ है, जिसमें एक टीएस 3 लाख 50 हजार का है जो पंचायत के पास है और दूसरा 49 हजार का टीएस जनपद से जारी होना है, लेकिन जानकारों के अनुसार काम नहीं रोकना है और कार्य का निर्माण पंचायत को कराना है किंतु इस सम्बंध में जानकारी जब कुबरा पंचायत सचिव नत्थू सिंह से चाही गई ,तो उनके द्वारा झूठ बोलते हुए जवाब दिया अभी टीएस जारी नहीं हुआ है, वहीं उन्होंने यह भी मान लिया कि कार्यालय से कागज तो बाहर होते हैं लेकिन उनके अनुमति के बगैर नहीं आगे कहना था कि पंचायत का निर्माण एजेंसी द्वारा ही कराया जा रहा है, जबकि सूत्रों का कहना है कि काम सचिव के चहेते करा रहे हैं। अलबत्ता जिस तरह से सचिव ने गुमराह करते हुए जानकारी दी है उससे अंदेशा लगाया जा सकता है कि पंचायत में क्या कारनामें चल रहे होंगे।

इनका कहना है :

पंचायत में निर्माण एजेंसी द्वारा कार्य चल रहा है, कभी जरूरत पड़ जाती है तो बैठा लिया जाता है, मेरे अनुमति के बगैर दस्तावेज कार्यालय के बाहर नहीं जाते, अभी टीएस नहीं आया है मैंने उधार लेकर काम करा दिया टीएस नहीं आया है।

नत्थू सिंह, सचिव, ग्राम पंचायत कुबरा

जनपद जयसिंहनगर के सीईओ से जानकारी के लिए सम्पर्क किया गया तो साहब ने फोन उठाना जरूरी नहीं समझा।

अभिषेक कुमार, सीईओ, जनपद पंचायत जयसिंहनगर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co