लोकायुक्त की टीम ने प्रभारी प्राचार्य को रिश्वत लेते धर दबोचा
लोकायुक्त की टीम ने प्रभारी प्राचार्य को रिश्वत लेते धर दबोचा|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

शिक्षा के मंदिर में रिश्वतखोरी का खेल: प्राचार्य रंगे हाथ दबोचे गए

शहडोल, मध्यप्रदेश: प्रदेश में रिश्वतखोरी के मामलों पर लोकायुक्त द्वारा कड़ी कार्रवाई करने के बाद भी कई मामले आ रहे हैं सामने, ऐसा ही एक मामला आया सामने।

Afsar Khan

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में रिश्वतखोरी और अवैध रूप से संपत्ति रखने के मामलों पर लोकायुक्त द्वारा कड़ी कार्रवाई करने के बाद भी मामले लगातार सामने आ रहे हैं, इसके चलते ही शहडोल जिले से एक मामला सामने आया है जहां लोकायुक्त की टीम ने दबिश देते हुए 10 हजार की रिश्वत के साथ एक शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। फिलहाल मामले पर लोकायुक्त की टीम द्वारा आगे की कार्रवाई जारी है।

क्या है पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक, यह मामला शहडोल जिले के जयसिंहनगर स्थित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चितराँव का है जहां लोकायुक्त की टीम को शिकायत मिली थी कि, विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य राजकुमार साकेत ने स्कूल के चपरासी गायत्री वैश्य से 5 माह के वेतन दिलाने के एवज में 20 हजार रूपए की रिश्वत की मांग की है। जिस पर कार्रवाई करते हुए लोकायुक्त की टीम ने योजनाबद्ध तरीके से कार्रवाई करते हुए प्रभारी प्राचार्य को दबोच लिया।

शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चितराँव
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चितराँवAfsar Khan

मामले पर कार्रवाई जारी

वहीं मामले में प्राचार्य को लोकायुक्त द्वारा रंगे हाथों गिरफ्तार करने के बाद आगे की कार्रवाई में जांच के आधार पर प्राचार्य के खिलाफ अधिनियम की धाराओं में रिश्वतखोरी का मामला दर्ज किया जाएगा। फिलहाल मामले में लोकायुक्त की टीम द्वारा प्रभारी प्राचार्य से पूछताछ जारी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co