Shahdol : प्राचार्य पर अवैध रूप से फीस लेने के लगे आरोप
प्राचार्य पर अवैध रूप से फीस लेने के लगे आरोपराज एक्सप्रेस, संवाददाता

Shahdol : प्राचार्य पर अवैध रूप से फीस लेने के लगे आरोप

शहडोल, मध्यप्रदेश : जैतपुर के दो-दो उच्चतर माध्यमिक संस्थान को संभाल रहे प्राचार्य पर गंभीर आरोप लग रहे हैं और यह आरोप किसी एक व्यक्ति के नहीं बल्कि, ग्राम क्षेत्र के दर्जनों लोगों ने लगाए हैं।

शहडोल, मध्यप्रदेश। जिले के जैतपुर ब्लॉक पर दो-दो स्कूलों पर प्रभारी रहते हुए प्राचार्य पर इन दिनों बेहद ही शर्मनाक आरोप लग रहे हैं। जिस पर गरीब तबके के लोग जिन्हें मध्य प्रदेश सरकार के योजनाओं पर छूट देते हुए नि:शुल्क पढ़ाई-लिखाई का खर्च संबल योजना के तहत कराएं जाने की गाइडलाइन तैयार की गई है, जिससे ग्रामीण क्षेत्र के छात्र-छात्राएं आसानी से पढ़-लिख कर अपने जीवन को संवार सके और देश के आने वाले कल पर अपनी सहभागिता दर्ज करा सकें, लेकिन इन योजनाओं को पलीता लगाने का काम करते हुए जैतपुर कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य जिन्हें शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बालक का भी प्रभार दिया गया है, इनके द्वारा गरीब बच्चों के भविष्य को बर्बाद करने का पूरा काम भी किया जा रहा है। इस बात को लेकर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी समाज कल्याण प्रकोष्ठ जैतपुर के अध्यक्ष रवि नारायण तिवारी गंभीर विषय मानते हुए छात्र-छात्राओं के हित में नि:शुल्क प्रणाली को बदलकर जिन बच्चों से फीस नहीं लेना चाहिए उन बच्चों को धोखे में रखकर सरकार की योजनाओं को धता बताते हुए उनसे फीस ली जा रही है, जिससे कई छात्र-छात्राएं फीस जमा न करने के कारण आगे की शिक्षा भी ग्रहण नहीं कर पा रहे हैं।

फीस से अधिक वसूली :

कांग्रेस कमेटी के ब्लॉक अध्यक्ष ने बताया कि दोनों स्कूलों के प्रभार पर बैठे बृजकिशोर साय पैकरा द्वारा क्षेत्र के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति जिन्हें संबल कार्ड योजना के सारे लाभ मिलने के पात्रता रखते हैं, उन लोगों से अवैध रूप से फीस लेकर उन्हें ना सिर्फ रसीद दिया जाता है, बल्कि जितना फीस स्कूल का होता है उससे भी अधिक की वसूली की जा रही है, इस बात को लेकर दर्जनों छात्र-छात्राओं के अभिभावकों ने कलेक्ट्रेट में आवेदन देने के साथ सहायक आयुक्त शहडोल से उक्त प्रधानाचार्य पर जांच करने के साथ-साथ कार्यवाही की भी मांग की है, ताकि आने वाले समय में किसी भी प्रकार से पात्र एवं आजाक हितग्राहियों को अवैध रूप से वसूली का शिकार ना होना पड़े और मिलने वाले शासकीय लाभ का फायदा भी मिल सके, ऐसा ना हो कि कल कोई गरीब बालक फीस ना भरपाई करने के कारण शिक्षा से वंचित हो जाए।

जेब भरने का चल रहा खेल :

जी हां जैतपुर के दो-दो उच्चतर माध्यमिक संस्थान को संभाल रहे प्राचार्य पर गंभीर आरोप लग रहे हैं और यह आरोप किसी एक व्यक्ति के नहीं है बल्कि, ग्राम क्षेत्र के दर्जनों लोगों ने इस बात की शिकायत की है कि अवैध रूप से जिन छात्रों से फीस माफ होने के बाद भी फीस वसूली जा रही है, उस पैसे का हिसाब-किताब किए बगैर ही कई वर्षों से प्रधानाचार्य अपनी जेबें भर रहे हैं और यह सिलसिला अनवरत चला आ रहा है।

नहीं हो रही कार्यवाही :

प्रधानाचार्य पर अवैध रूप से फीस लेते हुए किए गए शिकायत पर आज लगभग 2 महीने बीतने को है लेकिन अभी तक विभाग के द्वारा कोई भी कार्यवाही उक्त प्रधानाचार्य पर सुनिश्चित नहीं की गई है, यह भी अपने आप में बड़े अचरज और शर्म का विषय है कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्र-छात्राओं से अवैध रूप से फीस की वसूली करते हुए 2 महीने बीत जाने के बाद भी जिम्मेदार कार्यवाही से कोसों दूर हैं, निश्चित रूप से अगर यही रवैया प्रधानाचार्य और उच्च अधिकारियों को राहत आने वाले दिनों में ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे शिक्षा से निश्चित रूप से वंचित रह सकते हैं, इसके साथ ही क्या शिकायत के बाद जिम्मेदारों का भरपाई जैतपुर के प्रधानाचार्य द्वारा कर दिया गया है, शायद इसलिए कोई कार्यवाही भी नहीं की जा रही है यह खबर भी चर्चा का विषय बना हुआ है।

इनका कहना है :

मेरे द्वारा संबल योजना के तहत पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं का फीस लिया गया था, लेकिन जैसे ही ऊपर से आदेश मिला, सभी का फीस वापस हो चुकी है, साथ ही लग रहे आरोप पर मैंने विभाग को लिखित में जानकारी दे दी है।

बृजकिशोर साय पैकरा, प्राचार्य, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, जैतपुर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co