शहडोल : सड़क हादसे का कारण बनते अनफिट वाहन
सड़क हादसे का कारण बनते अनफिट वाहनसांकेतिक चित्र

शहडोल : सड़क हादसे का कारण बनते अनफिट वाहन

शहडोल, मध्य प्रदेश : सड़कों पर बेतरतीब वाहनों की पार्किंग और अनफिट वाहनों की रफ्तार हादसे का कारण बन रही है। हर वर्ष लाखों लोग सड़क हादसे में अपनी जान गंवा रहे हैं।

शहडोल, मध्य प्रदेश। सड़कों पर बेतरतीब वाहनों की पार्किंग और अनफिट वाहनों की रफ्तार हादसे का कारण बन रही है। हर वर्ष लाखों लोग सड़क हादसे में अपनी जान गंवा रहे हैं। जिले में ही हर महीने लोग सड़क हादसे में मौत के शिकार बन जाते। सर्दी के मौसम में कोहरे की चादर में ढकी सड़कों पर जब वाहन के ग्लास पर धुंध जम जाती है तो, वह हादसे का कारण बनती है। ट्रेक्टर ट्रॉली में रिफ्लेक्टर न लगा होना रात के समय हादसे को जन्म देता है। नशे की हालत में वाहनों का संचालन, यातायात नियमों की अनविज्ञता व उनका उल्लंघन हादसों को बढ़ा रहा है। सड़क पर खड़े वाहन, टूटी सड़कें व अधूरे निर्माण में वाहन व उनके चालकों के लिए खतरा बने हुए हैं। हालांकि सड़क सुरक्षा के लिए तमाम गैर वर सरकारी एजेंसियां काम कर रही है लेकिन वह उतना प्रभावी नहीं हो पा रहा है।

जगह-जगह बनीं पार्किंग :

सड़क किनारे वाहनों का खड़ा होना हादसे का कारण बनता है, सड़क किनारे लोग ऐसे वाहन रख देते हैं, जो चलने की स्थिति में नहीं होते। यह वाहन लोगों की जान का दुश्मन बन जाते हैं, लेकिन ऐसे वाहनों को हटाने की कार्रवाई पुलिस व नपा द्वारा कभी नहीं की जाती। जिसका खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ता है। वहीं शहर में कई ऐसे वाहन दौड़ रहे हैं, जिसमें नंबर प्लेट न होने की वजह से उनके द्वारा दुर्घटना कारित करने के बावजूद उन्हें पकड़ पाने में पुलिस को मशक्कत करनी पड़ती है।

नशा बन जाता नाश का कारण :

नशे की हालत में वाहनों का संचालन हमेशा दुर्घटना को आमंत्रण देता है। लोडिंग या टैक्सी वाहन चालक जब नशे की हालत में वाहनों का संचालन करते हैं तो, वह अपने साथ अन्य लोगों की जान से भी खेलते हैं। यह बात युवाओं में तेजी से देखने को मिल रही है। पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार भी कई हादसे नशे की हालत मेें वाहनों के संचालन से ही होती हैं। सड़क हादसे का कारण जर्जर सड़कें हैं। सड़क के गड्डे वाहनों की जिन्दगी तो घटाते ही हैं साथ लोगों के जीवन को भी यह निगल जाते हैं। शहर की जर्जर सड़के दुर्घटना का कारण बनी हुई हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co