कांग्रेस की भ्रष्ट व निकम्मी सरकार ने जनहितैषी योजनाएं बंद की- शर्मा

सांवेर, मध्य प्रदेश : भारतीय जनता पार्टी कार्यालय बेस्ट गार्डन परिसर सांवेर में मंडल सम्मेलन केसाथ सांवेर उप चुनाव का संकल्प पत्र का विमोचन किया।
कांग्रेस की भ्रष्ट व निकम्मी सरकार ने जनहितैषी योजनाएं बंद की- शर्मा
सांवेर उपचुनाव के संकल्प पत्र का विमोचनSocial Media

सांवेर, मध्य प्रदेश। भारतीय जनता पार्टी कार्यालय बेस्ट गार्डन परिसर सांवेर में मंडल सम्मेलन के साथ सांवेर उप चुनाव का संकल्प पत्र का विमोचन किया। आयोजन में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा विशेष रूप से शामिलि हुए। कार्यक्रम में सांसद शंकर लालवानी, केबिनेट मंत्री उषा ठाकुर, तुलसीराम सिलावट, सांवेर विधानसभा उपचुनाव प्रभारी रमेश मेंदोला, जिला अध्यक्ष डॉ. राजेश सोनकर, नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे, गोविन्द मालू, उमेश शर्मा आदि उपस्थित थे।

प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं को राजनीतिक बनना पड़ेगा और जन-जन तक हमारी केन्द्र व राज्य सरकार की उपलब्धियों की जानकारी पहुंचानी होगी तथा कांग्रेस के 15 माह के कुशासन के विषय में प्रत्येक मतदाता तक मुखरता के साथ उक्त विषयों को पहुंचाना होगा।

यशस्वी मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने हर वर्ग के उत्थान के लिये गरीबों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिये कई जनहितेषी योजनाएं बनाई तथा उन्हें लागू की थी, लेकिन मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार ने उन सभी जनहितैषी योजनाओं को कमलनाथ के नेतृत्व में एक-एक करके बंद कर दिया। कमलनाथजी कभी किसी से मिलते नहीं थे और ना ही कहीं आते-जाते थे, वे तो केवल वल्लभ भवन से ही सरकार चलाते थे और कोई जनप्रतिनिधि उनके पास किसी योजना को लेकर जाते थे तो उन्हें चलो-चलो अभी सरकार के पास पैसे नहीं है कहकर चलता कर देते थे और कोई ठेकेदार, माफिया या उद्योगपति आते थे तो उन्हें ससम्मान बिठाकर बातचीत करते थे।

जनहित की नही आईफा की फिक्र थी :

श्री शर्मा ने कांग्रेस सरका पर आरोप लगाते हुए कहा कि कई जनहितैषी योजनाओं को प्रदेश की पिछली भ्रष्ट और निकम्मी कांग्रेस सरकार ने कमलनाथजी के नेतृत्व में एक-एक करके बंद कर दिया था तथा अब पुछते फिर रहे है कि हमारी क्या गलती थी। कमलनाथ सरकार ने जनहित में कोई योजना नहीं लागू की, उन्हें तो बस आईफा अवार्ड की चिंता थी और उसके लिये उन्होने 700 करोड़ रूपये का प्रावधान किया था, क्योंकि उन्हें गरीबों का दर्द नहीं दिखाई देता था, उन्होंने कभी गरीबी देखी नहीं थी और ना ही उन्होंने कभी गांव देखा है। इसलिये वे एक-एक करके सभी जनहितैषी योजनाओं को बंद कर रहे थे। उन्होनों कहा कि फूट डालो और राज करो, कांग्रेस की आदत ही नहीं उसके खून में और वे पूछते फिर रहे है कि सांसद ज्योतिरादित्यजी का नाम 10 नम्बर पर क्यों है, हमारा कहना है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया हमारे सांसद है और वे उपचुनाव में एक रणनीति के तहत कार्य कर रहे है। हमें अच्छी तरह से पता है कि हमें उनका सम्मान कैसे करना चाहिए आपकी चिंता की कोई आवश्यकता नहीं है।

प्रदेश को बचाने गिराई सरकार :

भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि हमारे मित्रों ने गरीब, शोषित वंचित और मध्यप्रदेश को भ्रष्ट सरकार से बचाने के लिये सरकार से इस्तीफा दे दिया था क्योंकि अगर सरकार नहीं गिराते तो दिग्विजयसिंह व कमलनाथ की भ्रष्ट जोड़ी प्रदेश को प्रत्येक दिन खोखला करने के लिये जी तोड़ मेहनत कर रही थी और तबादला उद्योग, माफिया, अराजकतत्वों का प्रभाव बढ़ता जा रहा था, प्रदेश में हर वर्ग अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहा था और जनप्रतिनिधियों की बाते कमलनाथ सुनने को तैयार नहीं थे। तब प्रदेश का हित चाहने वाले साथियों ने कांग्रेस की भ्रष्ट और निकम्मी सरकार से इस्तीफा देकर उन्हें रोड पर ला दिया।

चुन्नू -मुन्नू के बाद जयचंद :

श्री शर्मा ने कहा कि दिग्विजयसिंह और कमलनाथ जैसे जयचंदों को अपना बूथ जीतकर जवाब देना है और उन्हें यह बताना है कि छल और धोखा ज्यादा समय तक नहीं चलता है। उन्होनें पूर्व मुख्यमंत्री को देश का सबसे बडा जयचंद भी कहा। सम्मेलन को केबिनेट मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, बाबूसिंह रघुवंशी ने भी संबोधित किया। सम्मेलन में प्रमुख रूप से श्रवणसिंह चावड़ा, सुमित मिश्रा, अशोक सोमानी, विष्णुप्रसाद शुक्ला, देवकीनंदन तिवारी, मुकेश जरिया, मुकेशसिंह राजावत, नानूराम कुमावत, कंचनसिंह चौहान, अजयसिंह नरूका, उमरावसिंह मौर्य, राजाराम गोयल, सुमेरसिंह सोलंकी, गोविन्दसिंह चौहान सहित सांवेर विधानसभा के प्रमुख नेता व कार्यकर्ता उपस्थित थे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पप्पू भैया ने भाजपा की रीति-नीति से प्रभावित होकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा के समक्ष मंच पर कांग्रेस छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। प्रदेश अध्यक्ष ने उन्हें भाजपा का अंग वस्त्र पहनाकर सम्मान किया। इसके पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने सांवेर विधानसभा उपचुनाव का संकल्प पत्र का विमोचन किया। संकल्प पत्र का निर्माण भाजपा के वरिष्ठ नेता देवराजसिंह परिहार, राजेश अग्रवाल व गोविन्द मालू ने किया।

संकल्प पत्र में नर्मदा पर फोकस :

भाजपा द्वारा सांवेर के लिए जारी संकल्प पत्र में नर्मदा के जल को खास महत्व दिया गया है। घोषणा पत्र में सभी विभागों के कार्य का लेखा जोखा के साथ जारी विकास कार्य की जानकारी भी दी गई है। इसमें विधायक निधी से किए गए कार्य के साथ आर्थिक सहायता पानों के नाम भी शामिल किए गए है। संकल्प पत्र में सभी वरिष्ठ नेताओँ और मंत्रियों के भी शामिल किया गया है। संकल्प पत्र के माध्यम से भविष्य में किए जाने वाले कार्यो का भी विवरण प्रदान किया गया है। इसमें आम जनता से जुडे सभी विभागों और विषयों को शामिल किया गया है। इसके निमार्ण के लिए इंदौर के वरिष्ठ नेताओँ के साथ स्थानीय भाजपा नेताओं को शामिल किया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co