Raj Express
www.rajexpress.co
उपभोक्ता स्टैट बैंक की सेवाओं से असंतुष्ट
उपभोक्ता स्टैट बैंक की सेवाओं से असंतुष्ट |Mukesh Choudhary
मध्य प्रदेश

शिवपुरी: स्टैट बैंक की सेवाओं से असंतुष्ट नजर आ रहे है उपभोक्ता

शिवपुरी, मध्य प्रदेश : भारतीय स्टेट बैंक,शिवपुरी जिले में कार्यरत कुछ बैंक शाखाओं द्वारा अपनाई जा रही कार्यप्रणाली, उपभोक्ताओं के प्रति अभद्र व्यवहार और बर्ताव इन दिनों सुर्खियों में है।

Mukesh Choudhary

हाइलाइट्स

  • भारतीय स्टेट बैंक की कुछ बैंक शाखाये इन दिनों सुर्खियों में

  • SBI शाखा के कर्मचारियों द्वारा अभद्रता एवं अन्य शिकायतें उपभोक्ताओं से मिली

  • पोहरी के अलावा पिछोर व अन्य विकासखण्डों से भी उपभोक्ताओं ने जताई असंतुष्टता

  • कर्मचारियों द्वारा किये जा रहे बर्ताव के सुधार की मांग

राज एक्सप्रेस। भारत सरकार द्वारा भारत के नागरिकों को सुलभ एवं स्वच्छ आर्थिक लेन-देन करने हेतु भारत में प्रमुख राष्ट्रीय बैंकों में गिने जाने वाले भारतीय स्टेट बैंक की शिवपुरी जिले में कार्यरत कुछ बैंक शाखाओं द्वारा अपनाई जा रही कार्यप्रणाली, उपभोक्ताओं के प्रति अभद्र व्यवहार व बर्ताव इन दिनों सुर्खियों में है। एक तरफ तो भारतीय स्टेट बैंक प्रबंधन अपने उपभोक्ताओं को अच्छी से अच्छी सुविधायें देने की बात करता है, वहीं दूसरी ओर उसी बैंक की कुछ शाखाओं में कार्यरत अधिकारीयों/कर्मचारियों का उपभोक्ताओं के प्रति दुर्व्यवहार व उदंण्डता उनकी इस सकारात्मक कार्यप्रणाली पर कालिख पोतती प्रतीत होती है। जब उपभोक्ता अपनी आप बीती सुनाते हुये बाजार में देखे जाते हैं तो निश्चित तौर पर एसबीआई (शाखा प्रबंधन) दोषी प्रतीत होने लगता है।

अभद्रता एवं अन्य शिकायतें उपभोक्ताओं द्वारा मिली

हाल ही में सामने आईं कुछ घटनाओं के चलते पोहरी की एसबीआई शाखा के कर्मचारियों द्वारा पेट्रोल पम्प के संचालक से की गई अभद्रता एवं अन्य उपभोक्ताओं द्वारा मिली शिकायतों के कारण अब लोगों का भरोसा एसबीआई से विलग होता दिखाई देता है। वहीं आमजन द्वारा प्रशासन से एक नई राष्ट्रीयकृत बैंक शाखा की मांग ने यह स्पष्ट मंशा जाहिर की है कि, वे एसबीआई के बैंक प्रबंधन से संतुष्ट नहीं है। ठीक इसी प्रकार का आलम पिछोर की चंदेरी रोड स्थित बैंक शाखा का बना हुआ है। उपभोक्ताओं की माने तो यहां बैंक कर्मियों की मर्जी के मुताबिक ही नियम-कानून बनते व मिटते हैं। किसके साथ कैसा बर्ताव करना है यह इन्हीं पर निर्भर रहता है। लेन-देन अपनी मर्जी के मुताबिक समय निर्धारित हो जाता है।

उपभोक्ता स्टैट बैंक की सेवाओं से असंतुष्ट
उपभोक्ता स्टैट बैंक की सेवाओं से असंतुष्ट
Mukesh Choudhary

पिछोर के आसपास खनियाधाना, सेमरी में भी एसबीआई की शाखायें है। उपभोक्ताओं का मानना है कि, पिछोर शाखा का लेन-देन समय अन्य शाखाओं से पृथक होकर चलता देखा गया है। जिस समय पिछोर शाखा में लेन-देन बंद हो जाता है उस समय वहीं आसपास की शाखाओं में उपलब्ध हो जाता है। इस प्रकार से पोहरी की तरह पिछोर शाखा भी उपभोक्ताओं के लिये सुविधाओं के नाम पर अपना वजूद खोता जा रहा है। इसके अलावा शिवपुरी शहर के कई उपभोक्ताओंं ने नगर की स्थानीय शाखाओं में भी कर्मचारियों द्वारा किये जा रहे बर्ताव में सुधार की मांग प्रशासन से की है।

शासन द्वारा बैंक प्रबंधन के माध्यम से उपभोक्ताओं को 24 घंटे लेन-देन की सुविधा मुहैया कराने की दृष्टि से एटीएम व्यवस्था जारी की गई है। पिछोर में 24 घंटे खुलने वाला मात्र एक ही एसबीआई का एटीएम डाक बंगला चौराहा पर स्थित है परन्तु पिछोर के उपभोक्ताओं के लिये दिखावा बनके रह गया है। एटीएम से राशि आहरण करने गये उपभोक्ता संजय तिवारी, अनिल शर्मा, राजकुमार आदि जब एटीएम से बाहर निकले तो उन्होंंने बताया कि एटीएम में पैसा ही नहीं है। यह हाल आज का नहीं अपितु लगभग आये दिन का बना रहता है। कभी कभार ही एटीएम धारकों की राशि का आहरण एटीएम से हो पाता है। वरना मशीन के बटन दबाकर निराश होकर वापिस जाना होता है।

नहीं होता जिम्मेदाराना व्यवहार

नागरिकों के आर्थिक प्रबंधन के लिये बैंक एक जिम्मेदाराना भूमिका अदा करता है। किन्तु एसबीआई की स्थानीय शाखा का गैर जिम्मेदाराना रवैया उपभोक्ताओं की जुबानी सुनने को मिला। एक प्रतिष्ठित व्यापारी ने आप बीती सुनाते हुये बताया कि उनका चैक भुगतान हेतु बैंक में लगाया गया था परन्तु वह बाउन्स हो गया। जिसकी सूचना उन्हें नहीं मिली। काफी समय बीतने पर भी जब राशि खाते में नहीं आई तो उन्होंने बैंक शाखा में जाकर पता किया तब उन्हें चैक बाउन्स की जानकारी मिली।

वह बाउन्स चैक भी बैंक कर्मियों द्वारा मौके पर न दिया, कई बार यह कहकर कि अभी काम अधिक है बाद में ले जाना, टाल दिया गया। यदि उपभोक्ता द्वारा जिद्द न की जाती तो वह चैक क्लेम करने की स्थिति से आउट ऑफ डेट भी हो जाता। यहां बैंक का यह उत्तरदायित्व बनना चाहिए कि उपभोक्ता का चैक बाउन्स होने पर उसकी सूचना दूरभाष अथवा पत्र व्यवहार के माध्यम से उपभोक्ता तक शीघ्र पहुंचाई जावे। किन्तु बैंक शाखा का गैर जिम्मेदाराना रवैया उसके प्रबंधन पर प्रश्र चिन्ह अंकित करता है।

पासबुक प्रिटिंग की समस्या आम

भारतीय स्टेट बैंक की पिछोर शाखा हो अथवा पोहरी अथवा फिर शिवपुरी नगर की स्थानीय शाखा अक्सर शाखाओं में पासबुक प्रिटिंग की समस्या से ग्राहकों को जूझते देखा गया है, क्योंकि शाखाओं में या तो खाता धारकों से प्रिन्टर खराब होने का बहाना बनाया जाता है या फिर कोई अन्य समय देकर टाला जाता है। हालांकि बैंक की कुछ एटीएम पर पासबुक प्रिन्टर मशीनों को लगाया गया है, किन्तु उन मशीनों पर प्रत्येक खाता धारक पासबुक प्रिन्ट करने में समर्थ नहीं होता और कई बार ये मशीन भी खराब हालात में देखी गईं हैं। यहां बैंक प्रबंधन को चाहिए कि वे खाता धारकों की पासबुक प्रिन्ट की सुचारू व्यवस्था कराते हुये सुविधा मुहैया कराये।

अभी इस तरह की कोई भी शिकायत खाताधारकों द्वारा मेरे पास नहीं आई है। यदि भविष्य में कोई शिकायत मेरे क्षेत्र की किसी भी शाखा से संबंधित आती है तो मेरे द्वारा तुरन्त कार्यवाही करते हुये सुधार किया जायेगा।

राकेश अग्रवाल एजीएम शिवपुरी