Raj Express
www.rajexpress.co
शारदीय नवरात्र त्यौहार की भव्य शुरुआत
शारदीय नवरात्र त्यौहार की भव्य शुरुआत|Mukesh Choudhary
मध्य प्रदेश

शिवपुरीः मां जगदम्बा की भक्ति में सराबोर हुई शिव की नगरी

शिवपुरी, मध्यप्रदेशः 29 सितंबर से शारदीय नवरात्र त्यौहार की शुरूआत और मां दुर्गा का आगमन हो चुका है। 9 दिन चलने वाले इस त्यौहार को लेकर लोगों मे खासा उत्साह है और मंदिरो में लग रही है भक्तों की भीड़।

Mukesh Choudhary

Abhay Kocheta

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के शिवपुरी में शारदीय नवरात्र को लेकर शहर में धूम मची हुई है, शिव की नगरी कही जाने वाली शिवपुरी में सभी धार्मिक त्यौहारों को पूरे श्रृद्धाभाव एवं विधि विधान के साथ मनाया जाता है। जहां शहर में अनंत चतुर्दशी पर गणेश विसर्जन की धूम होती है वहीं नवरात्र का महोत्सव प्रदेश में अलग पहचान रखता है।

नवरात्र के पहले दिन रहा लोगों में काफी उत्साहः

नवरात्र की शुरूआत से ही लोग मां की भक्ति में सराबोर होकर पूजा-अर्चना, अनुष्ठान,व्रत उपवास के माध्यम से मां को मनाने में लग गए, इस मौके पर नवरात्र के पहले दिन लोगों ने पूरे भक्तिभाव के साथ व्रत उपवास रखते हुये घरों में एवं देव स्थानों पर घट स्थापना के साथ माँ जगदम्बा का आव्हान किया।

नगर के प्रसिद्ध तीर्थ कहे जाने वाले अति प्राचीन मंदिरों राज-राजेश्वरी दरबार, काली माता मंदिर, सिद्धेश्वर मंदिर, कैला माता मंदिर एवं आसपास के क्षेत्रों में प्रसिद्ध मातारानी के मंदिरों पर भक्तों का तांता लगा रहा।

नवरात्र की बाजारों में रही रौनक
नवरात्र की बाजारों में रही रौनक
Abhay Kocheta

नवरात्र के पहले से ही हो जाती तैयारियां शुरू:

नवरात्र के आने से लगभग एक-दो माह पहले से इन धार्मिक स्थलों की साज-सज्जा, साफ सफाई एवं दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए तैयारियां शुरू हो जाती हैं। विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन पूरे नवरात्रों में प्राचीन धार्मिक स्थलों पर चलते रहते हैं। सुन्दर साज-सज्जा एवं मातारानी के श्रृंगारमय दरबार के दर्शन का लाभ दूर-दराज से भक्तगण माता दरबारों में हाजिरी लगाकर प्राप्त करते हैं। वहीं मातारानी अपने सच्चे मन से आये हुये भक्त की मनोकामनाऐं पूर्ण करती है।

मनोवांछित फल प्रदायनी माँ राज-राजेश्वरी का सुन्दर सजा दरबारः

शिवपुरी के सुप्रसिद्ध ऐतिहासिक धार्मिक तीर्थ जो माँ जगदम्बा का शक्तिपीठ कहा जाता है, शिवपुरी शहर के मध्य में स्थापित माँ राज-राजेश्वरी दरबार इन दिनों नवरात्र के पावन महोत्सव पर अत्यधिक आकर्षक साज-सज्जा से सराबोर दिख रहा है। मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा दर्शनार्थियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुये सुचारू इंतजाम किये गये है। प्रशासन द्वारा भी माँ के दरबार में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रखे गये है। संध्याकालीन समय में जब भक्तों की अत्यधिक भीड़ इस मंदिर पर देखी जाती है। तब गुरूद्वारा से राजेश्वरी मंदिर तक यातायात व्यवस्था को प्रशासन द्वारा व्यवस्थित किया जाता है। चार पहिया वाहनों के प्रवेश को चिन्हित स्थान पर रोका जाता है।

सुखकरनी एवं दु:खहरनी है माँ काली का दरबारः

शिवपुरी के झांसी रोड स्थित माँ काली का दरबार नवरात्र के पावन महोत्सव पर सुन्दर व आकर्षक सजाया गया है। पहले दिन से ही भक्तों की भारी भीड़ माँ के दरबार में देखने को मिल रही है, शिवपुरी नगर का अति प्राचीन यह सिद्ध धार्मिक स्थल माँ काली दरबार जहां साल के बारहों महीनें कुछ न कुछ धार्मिक कार्यक्रम, भागवतकथा, रामकथा, अनुष्ठान, पूजन-अर्चन इत्यादि चलते ही रहते हैं। वहीं नवरात्र महोत्सव के दौरान माँ काली के दरबार में दूर-दराज से एवं आसपास के क्षेत्र से भक्तगण माँ जगदम्बा के दरबार में अर्जी लगाने पहुंचते हैं।

माँ सिद्धेश्वर दरबार की झलक
माँ सिद्धेश्वर दरबार की झलक
Mukesh Choudhary

माँ सिद्धेश्वर दरबार में होते है भक्तों के कार्य सिद्धः

मंगलकरनी, संकटहरनी माँ जगदम्बा के सुन्दर और आकर्षक दर्शन से दर्शनार्थियों को अभीभूत करता माँ सिद्धेश्वर दरबार। जहां लोग अपनी खाली झोली लेकर आते हैं और सच्चे मन से माँ की प्रार्थना करते हुये अपने कार्य सिद्ध होते हुये पाते हैं। शिवपुरी में नगर के विष्णु मंदिर और चिन्ताहरण मंदिर के बीचों बीच बने सिद्धेश्वर प्रांगण में सजा माँ दुर्गा का दरबार सिद्धेश्वर मंदिर के नाम से अति प्राचीन मंदिरों में से एक है। प्रतिवर्ष पूरे सालभर समय-समय पर विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन चलता रहता है।

प्राचीन कैला माता मंदिर
प्राचीन कैला माता मंदिर
Abhay Kocheta

मनोवांछित फलदायिनी है माँ कैलादेवी दरबारः

शिवपुरी के प्रसिद्ध राज-राजेश्वरी दरबार के ही समीप अस्पताल रोड चौराहे एवं नाई की बगिया के पीछे स्थित माँ कैलादेवी दरबार पर भी नवरात्र महोत्सव के पहले दिन से ही भक्तों का तांता लगना प्रारंभ हो गया है। शिवपुरी का प्रसिद्ध प्राचीन एवं ऐतिहासिक माँ कैलादेवी मंदिर में एक विशेष बात यह है कि यहां भगवान गिर्राज जी महाराज का भी अत्यंत मनोहारी दर्शन भक्तों को प्राप्त होता है।

मां दुर्गा की झांकी की झलक
मां दुर्गा की झांकी की झलक
Mukesh Choudhary

नवरात्र के पहले दिन निकाली गई कलश यात्राः

करैरा में कलश यात्रा के साथ सजा माँ काली का दरबार कामाक्षा मन्दिर से होती हुई पहुँची खटीक मोहल्ला में भव्य कलश यात्रा नवरात्रि का पर्व शुरू होते ही करैरा नगर में पिछले 7 सात सालों से लगातार खटीक समाज के द्वारा माँ काली की विशाल प्रतिमा को स्थापित कराया जा रहा है । इस प्रतिमा को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आज नवरात्रि पर्व के मौके पर कलशयात्रा में शामिल हुए ।