भोपाल : योजना बनाकर करें आजीवन सहयोग निधि संग्रहण
योजना बनाकर करें आजीवन सहयोग निधि संग्रहणSocial Media

भोपाल : योजना बनाकर करें आजीवन सहयोग निधि संग्रहण

भोपाल, मध्य प्रदेश : श्री चौहान गुरुवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में पार्टी के जिला अध्यक्षों एवं सहयोग निधि प्रभारियों की पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित बैठक को संबोधित किया।

भोपाल, मध्य प्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बीते साल हुए आजीवन सहयोग निधि संग्रहण के काम में हमने देखा है कि जिन जिलों में प्रयास हुए हैं, वहां परिणाम भी अच्छे मिले हैं। आजीवन सहयोग निधि का लक्ष्य सभी की सहमति से तय किया गया है, इसलिए अब इस काम में पूरी तरह जुट जाएं।

श्री चौहान गुरुवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में पार्टी के जिला अध्यक्षों एवं सहयोग निधि प्रभारियों की पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत और आजीवन सहयोग निधि के प्रदेश प्रभारी कृष्णमुरारी मोघे, प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी, प्रदेश सह संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा सहित अन्य नेता मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पार्टी का जितना विस्तार हो चुका है, उसे देखते हुए सहयोग निधि एकत्र करने के लिए जो लक्ष्य रखा गया है, वह बड़ा नहीं है। सभी से मिलें, हर कार्यकर्ता से संपर्क करें, जनप्रतिनिधियों का सहयोग लें और टीम बनाकर योजनाबद्ध तरीके से काम करें, लक्ष्य आसानी से हासिल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रयास करें कि समर्पण दिवस 11 फरवरी तक यह अभियान पूरा हो जाए और 28 फरवरी तक पूरा हिसाब-किताब हो जाए। श्री चौहान ने कहा कि आजीवन सहयोग निधि के काम के लिए एक टीम बनाएं, अपने क्षेत्र के सांसद, विधायकों, जनप्रतिनिधियों और प्रमुख नेताओं को साथ लें और निकल पड़ें। उन्होंने कहा कि पार्टी के काम के लिए सहयोग देने वालों की कमी नहीं है, आप जहां जाएंगे निराश नहीं होंगे। श्री चौहान ने जिलाध्यक्षों से आहृवान किया कि सोशल मीडिया पर हमें पीछे नहीं रहना है इसलिए सभी लोग सोशल मीडिया पर सक्रिय हों, ताकि विरोधियों द्वारा किए जा रहे हर तरह का दुष्प्रचार का जवाब जिला स्तर से दिया जा सके।

मप्र को आदर्श राज्य बनाने में जुट जाएं :

बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि आजीवन सहयोग निधि मूल रूप से मध्यप्रदेश की ही पद्धति है, जिसे संगठन का कामकाज चलाने के लिए पूरे देश में अपनाया गया है। इसलिए आप सभी मध्यप्रदेश को इस मामले में आदर्श राज्य बनाने में जुट जाएं। श्री शर्मा ने केरल का उदाहरण देते हुए कहा कि एक छोटे से राज्य में जहां पार्टी संगठन उतना मजबूत नहीं है, वहां से जब अच्छी खासी सहयोग निधि जुटाई जा सकती है, तो मध्यप्रदेश से क्यों नहीं।

बूथ समिति के सदस्यों से करें संपर्क : भगत

संगठन महामंत्री श्री भगत ने कहा कि आजीवन सहयोग निधि की योजना कुशाभाऊ ठाकरे ने तैयार की थी, ताकि समाज के सामने एक आदर्श प्रस्तुत किया जा सके। यह योजना पूरे देश को मध्यप्रदेश ने ही दी है। यह योजना हमारे संगठनात्मक कौशल का परीक्षण है, हम जितनी अच्छी योजना बनाएंगे, उतने ही अच्छे परिणाम आएंगे। श्री भगत ने कहा कि सहयोग निधि के काम के लिए सभी जनप्रतिनिधियों, सांसदों, विधायकों तक पहुंचें। हमारी 28 हजार बूथ समितियां हैं, उनके सदस्यों से संपर्क करें।

जिला अध्यक्ष नौ फरवरी से पहले कर लें टीमें गठित : मोघे

आजीवन सहयोग निधि के प्रदेश प्रभारी श्री मोघे ने कहा कि आजीवन सहयोग निधि के लिए नया अभियान शुरू होने जा रहा है, इसलिए सभी जिला अध्यक्ष नो फरवरी से पहले इस काम के लिए टीमें गठित कर लें। श्री मोघे ने कहा कि 11 फरवरी को समर्पण दिवस है और प्रयास करें कि इस दिन तक काम पूरा हो जाए। श्री मोघे ने कहा कि हिसाब किताब में देरी संशय पैदा करती है, आस्था पर चोट करती है। इसलिए नया अभियान शुरू होने से पहले पुराना हिसाब पूरा कर दें और इसके लिए एक तारीख निश्चित कर लें। बैठक में मंचासीन अतिथियों का स्वागत भोपाल जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी ने किया। संचालन प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी ने किया। बैठक के अंत में प्रदेश मंत्री रजनीश अग्रवाल ने आभार व्यक्त किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co