शिवराज सिंह ने ग्रामीणों से सहयोग की अपील की
शिवराज सिंह ने ग्रामीणों से सहयोग की अपील कीRaj Express

Madhya Pradesh : शिवराज सिंह ने ग्रामीणों से बांध के राहत और बचाव कार्य में सहयोग की अपील की

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने धार और खरगोन जिले के कारम बांध के रिसाव से प्रभावित ग्रामों के ग्रामीणों से गांव में न जाने की अपील की है। सभी ग्रामीणजन राहत और बचाव के कार्य में सहयोग करें।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने धार और खरगोन जिले के कारम बांध के रिसाव से प्रभावित ग्रामों के ग्रामीणों से गांव में न जाने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि उनके लिए भोजन और अन्य सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही हैं। सभी ग्रामीणजन राहत और बचाव के कार्य में सहयोग करें।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार श्री चौहान ने सुबह 11 बजे से लगातार 9 घंटे तक स्थिति पर नजर रखने के बाद जानकारी देते हुए कहा कि सभी 18 गांव पूरी तरह से खाली करवा लिए गए है। गांव में ऐसा कोई भाई-बहन न रहे इसके लिये हमारी पूरी टीम घूम रही है। धार-खरगोन के कलेक्टर, एसपी, एडीएम, एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, पुलिस एवं होमगार्ड के जवान, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें, आर्मी के कालम सब फील्ड में तैनात हैं। ये सभी सुनिश्चित कर रहे हैं कि प्रभावित होने वाले क्षेत्र के गांव में कोई न रहे। कोई पशु भी गांव में न रह जाए। गाय, बैल, भैंस, बकरी, बकरा सभी को निकालने की व्यवस्था की है। सबको सुरक्षित ऊंचे स्थानों पर ले जाया गया है।

मुख्यमंत्री ने जन-प्रतिनिधियों से भी चर्चा की है। दोनों क्षेत्र के सांसद, धरमपुरी के विधायक और राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं और संघ के स्वयंसेवकों से भी बात की है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम हर संभव कोशिश कर रहे हैं कि हर जिंदगी सुरक्षित रहे और पानी बाहर निकल जाए, जिससे बाद में निश्चिंत होकर लोग अपने-अपने गांव वापस आ जाएं। इसमें हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे, यह जनता की जिंदगी का मामला है। श्री चौहान ने 18 गांवों और इनके टोले-मजरे के भाई-बहनों से प्रार्थना की है कि पूरा सहयोग करें। किसी भी हालत में अपने गांव अभी न जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे भी कंट्रोल रूम में बैठ कर हर परिस्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि हम सब मिल कर इन कठिन परिस्थितियों से बाहर निकलेंगे। बांध में पानी का रहना उचित नहीं है, इसलिए हमने फैसला किया है कि बांध को काट कर पानी निकालेंगे और खाली करेंगे। बांध कट करने का काम प्रारंभ कर दिया गया है।

श्री चौहान ने कहा कि वे मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक और अपनी पूरी टीम के सदस्यों के साथ राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम में बैठे हैं। औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री राजवर्धन सिंह और जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट कल से बांध क्षेत्र में मौजूद हैं। कमिश्नर, आईजी, सिंचाई विभाग के इंजीनियर, चीफ इंजीनियर पूरा अमला बांध स्थल पर ही मौजूद है और सुबह से हम विशेषज्ञों से सलाह ले रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आईआईटी रुड़की के प्रोफेसर श्री गोयल, जो कि इस मामले के विशेषज्ञ माने जाते हैं, उनसे भी हमने परामर्श किया है। रिटायर्ड चीफ इंजीनियर से भी एडवाइजरी ली है। हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और जल शक्ति मंत्री से भी इस संबंध में बात की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co