दिल दहलाने वाला दृश्य: चार दोस्तों का एक साथ अंतिम संस्कार
दिल दहलाने वाला दृश्य: चार दोस्तों का एक साथ अंतिम संस्कारRaj Express

दिल दहलाने वाला दृश्य: चार दोस्तों का एक साथ अंतिम संस्कार

इंदौर, मध्यप्रदेश : इंदौर में आज एक दर्दनाक हादसा हुआ जिसने इंदौर के माहौल को गमगीन बना दिया। तलावली चांदा में पेट्रोल पंप के पास हुए सड़क हादसे में 6 दोस्तों की एक साथ मौत हो गई।

हाइलाइट्स :

  • मालवीय नगर से एक साथ निकली तीन अर्थियां

  • बेटे की मौत की खबर सुनकर कानपुर से निकले माता-पिता भी बाल-बाल बचे

इंदौर, मध्यप्रदेश। तलावली चांदा में पेट्रोल पंप के पास हुए सड़क हादसे में 6 दोस्तों की एक साथ मौत हो गई। कार में सवार होकर छह दोस्त छोटू उर्फ चंद्रभान पिता शैलेंद्र रघुवंशी, मालवीयनगर, सोनू पिता दुलीचंद जाट, आदर्श मेघदूत नगर, सूरज उर्फ देव पिता राम कुमार बैरागी, मालवीयनगर, गोलू पिता विष्णु बैरागी, मालवीय नगर, सुमित पिता अमरसिंह, भाग्यश्री कालोनी एवं ऋषि पिता अजय पंवार मांगलिया की ओर से इंदौर आ रहे थे। तभी उनकी कार सड़क किनारे खड़े खाली पेट्रोल टैंकर में घुस गई जिसमें इन सबकी मौत हो गई। मंगलवार को पीएम के बाद इनके शव परिजनों को सौंपे गए। मालवीय नगर से एक साथ तीन दोस्त अंतिम यात्रा पर निकले तो पूरे इलाके में गम पसर गया। इनकी शव यात्रा सयाजी मुक्तिधाम पहुंची उसी दौरान चौथे दोस्त की अर्थी भी वहां पहुंची। चारों दोस्तों का अंतिम संस्कार एक साथ हुआ। हादसे के बाद शव एमवाय अस्पताल भेज दिए गए थे सबसे पहले सोनू पिता दिलीप जाट का पीएम हुआ। उसके परिजन शव लेकर सरदारपुर रवाना हो गए। सुमित यादव के माता-पिता कानपुर में थे। सूचना मिलने के बाद वे वहां से रवाना हुए तो उनका वाहन भी दुर्घटना का शिकार हो गया और वे बाल-बाल बचे।

मालवीयनगर निवासी हो गए गमगीन :

सोनू का पीएम होने के बाद उसके दोस्त छोटू उर्फ चंद्रभान एवं दोनों चचेरे भाई देव उर्फ डिंपल एवं गोलू उर्फ सूरज का पीएम हुआ। पीएम के बाद मंगलवार दोपहर तीनों शव को लेकर एम्बुलेंस मालवीय नगर पहुंची तो वहां परिजनों के साथ ही इलाके में रहने वाले लोगों की आंखों से भी आंसू बह निकले। इनके परिजनों का हाल-बेहाल था। उनके रुदन ने पूरे इलाके में मातम पसर गया था। युवकों के शव देखने के बाद तो परिजन अपने होश हवास ही खो चुके थे। उनकी हालत को देखते हुए इलाके के रहवासी आगे आए। उन्होंने परिजनों को संभालने के साथ ही शवों को जल्द ही मुक्तिधाम ले जाने के प्रयास शुरु कर दिए। तीनों की अर्थियाँ एक साथ निकलीं तो इसे देखने वालों की आंखे भी सजल हो गईं। इन तीनों की शवयात्रा सयाजी मुक्तिधाम पहुंची दूसरी ओर भाग्यश्री कालोनी से ऋषि पंवार की अर्थी भी वहां पहुंच गई। उसके बाद चारों दोस्तों का अंतिम संस्कार एक साथ हुआ।

दो दोस्तों ने बनाया था पार्टी का प्लान :

स्कूल के दिनों से जिगरी दोस्त सुमित और सोनू ने सबसे पहले पार्टी करने की प्लानिंग की। इसके बाद सभी दोस्तों को कार में ले चलने की बात तय हुई। कार में पांच लोगों के बैठने का स्थान होने के कारण एक दोस्त ने पार्टी में जाने से इनकार कर दिया था लेकिन दोस्तों ने उसे मना लिया और ये सभी 6 दोस्त कार में सवार होकर पार्टी के लिए रवाना हुए। बताते हैं कि ये लोग मांगलिया या उसके आसपास एबी रोड के किसी ढाबे या होटल में पार्टी मना रहे थे। देर रात तक पार्टी के बाद ये लोग कार में सवार होकर लौट रहे थे उसी दौरान तलावली चांदा पर ये हादसा हो गया।

कोरोना के कारण रुस से घर आ गया था सोनू :

23 साल का सोनू जाट डॉक्टर बनना चाहता था । वह रुस मे एमबीबीएस की पढ़ाई भी कर रहा था। कोरोना फैलने के बाद परिजनों ने उसे घर बुलवा लिया था। बताते हैं कि सोनू जल्द ही फिर से पढ़ाई के लिए रुस रवाना होने वाला था। उसके पिता का इंदौर में ट्रेवल्स का कामकाज है। सोनू मूलत: धार जिले के सरदारपुर का रहने वाला था। वह रात को मां से ये कहकर निकला था कि दोस्त की पार्टी में जा रहा हूं। सोनू की तीन बहने हैं। देर रात तक वह घर नहीं लौटा तो तब मां के कहने पर छोटी बहन सरिता ने उसे फोन लगाया। दूसरी तरफ से आवाज आई कि ये फोन जिनका है वे हादसे का शिकार हो चुके हैं। उसके बाद परिजनों को उसकी मौत की खबर मिली।

कानपुर से निकले माता-पिता भी हादसे में बाल-बाल बचे :

भाग्यश्री कॉलोनी के रहने वाले सुमित के पिता अमर सिंह यादव किराना दुकान के मालिक हैं। सुमित फर्स्ट ईयर में पढ़ रहा था। हाल ही में उसके रिश्तेदार का निधन हुआ है। सुमित के माता-पिता शोक मनाने कानपुर गए हैं। घर पर ये दोनों भाई शुभम और सुमित ही घर पर थे। सुमित ने भाई से कहा था कि मैं पार्टी के लिए जा रहा हूं, तुम अपना ध्यान रखना। देर रात को भाई को हादसे में सुमित की मौत की खबर मिली। भाई ने तत्काल इसकी सूचना माता-पिता को कानपुर के गांव में सूचना दे दी थी। बेटे की मौत की सूचना मिलते ही माता-पिता इंदौर के लिए रवाना हो गए। रास्ते में वे भी सड़क हादसे का शिकार हो गया। उनके वाहन की टक्कर दूसरे वाहन से हो गई। सुमित के माता-पिता को ज्यादा चोट नहीं आई और उनके वाहन में भी ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। वे उसी वाहन से कानपुर से इंदौर के लिए रवाना हुए।

मोबाइल नहीं उठाया, मिली मौत की खबर :

चंद्रभान उर्फ छोटू बीकॉम का स्टूडेंट था। वह परिजनों को कहकर गया था कि मैं दोस्त की पार्टी में जा रहा हूं। उसके बड़े भाई हरिओम को जब पुलिस की ओर से सूचना मिली कि छोटू हादसे का शिकार हो गया तो भाई के होश उड़ गए। इस सूचना के पहले देर रात तक छोटू घर नहीं लौटा तो परिजनों ने उसके मोबाइल पर कई बार काल किए लेकिन दूसरी ओर से कोई जवाब नहीं मिला था।

परिजन बोले थे हमारे बच्चे तो घर में सो रहे हैं :

मालवीय नगर के गोलू उर्फ सूरज और चचेरे भाई देव उर्फ डिंपल तो परिजनों को बिना बताए ही पार्टी में चले गए थे। देर रात को हादसे के बाद इनके परिजनों को फोन पर सूचना दी गई कि इन दोनों की हादसे में मौत हो गई तो परिजनों का जवाब था कि वे तो घर पर सो रहे हैं। जब उन्हें बताया गया कि वे घर पर नहीं है यहां हादसे का शिकार हुए हैं। उसके बाद परिजनों ने घर में देखा तो दोनों चचेरे भाई गायब थे। पुलिस की सूचना के बाद परिजन अस्पताल पहुंचे और इन दोनों की पहचान की। सूरज इकलौता बेटा था और बीबीए सेकेंड ईयर का छात्र था। हादसे वाली कार के बारे में बताया जा रहा है कि वह सूरज की ही थी। उसका चचेरा भाई देव बीबीए की पढ़ाई कर रहा था। ऋषि पिता अजय पंवार भी इकलौटा बेटा था। वह आईटीआई में पढ़ाई कर अपना कैरियर बना रहा था। वह संयुक्त परिवार का सदस्य था। उसके माता-पिता और दादा-दादी सभी साथ में रहते हैं।

पेट्रोल पंप संचालक पर कार्रवाई हो : पूर्व पार्षद

क्षेत्र की पूर्व पार्षद संध्या सुभाष सोलंकी ने कहा कि एबी रोड पर स्थित उक्त पेट्रोल पंप के आसपास अवैध रूप से ढेर सारे वाहन खड़े रहते हैं, जिससे अक्सर ट्रैफिक जाम की स्थिति होती रहती है। उक्त बड़े वाहनों के कारण ही बीती रात दर्दनाक हादसा हुआ और छह युवकों को अपनी जान गंवाना पड़ी। उक्त स्थान पर स्पीड ब्रेकर और डिवाईडर नहीं होने से दुर्घटना होने की आंशका बनी रहती है। पूर्व में मेरे द्वारा एबी रोड पर वाहनों को खड़े किए जाने पर कई बार आपत्ति लेने के बावजूद संबंधित अधिकारियों द्वारा ध्यान नहीं दिया गया। संध्या सोलंकी ने कहा कि भविष्य में इस प्रकार के दु:खद हादसों की पुनरावृत्ति रोकने के लिए एबी रोड पर बड़े वाहनों की पार्किंग पर रोक लगाएं, स्पीड ब्रेकर व डिवाईडर का निर्माण करते हुए पम्प संचालक पर बड़े वाहनों की अवैध पार्किंग किये जाने पर दंडात्मक कार्रवाई की जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co