शिक्षक ही नहीं कैसे जचेंगी कॉपियां
शिक्षक ही नहीं कैसे जचेंगी कॉपियां|सांकेतिक चित्र
मध्य प्रदेश

शिक्षक ही नहीं कैसे जचेंगी कॉपियां

अधिकांश शिक्षकों को सर्वे कार्य में लगाया, जिससे शिक्षकों की हुई कमी। कमी से कारण इनका समय पर जंचना संभव नहीं दिखाई दे रहा है। लगभग 250 शिक्षकों की आवश्यकता है, लेकिन आधे भी नहीं पहुंच रहे हैx।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

इंदौर, मध्य प्रदेश। शहर में हायर सेकेंडरी की कॉपियां जांचने का काम तो शुरू हो गया है, लेकिन शिक्षकों की कमी से कारण इनका समय पर जंचना संभव नहीं दिखाई दे रहा है। लगभग 250 शिक्षकों की आवश्यकता है, लेकिन आधे भी नहीं पहुंच रहे हैं। ऐसे में माशिमं की गाइडलाइन 30 जून तक कैसे कॉपियों का मूल्यांकन हो पाएगा।

मिली जानकारी के अनुसार इंदौर में 27 हजार से अधिक कॉपियां मंडल ने भेजी हैं। जिनका मूल्यांकन कार्य समन्वयक संस्था मालव कन्या स्कूल मोती तबेला पर सोमवार से शुरू हुआ है। तीन दिन में लगभग 4 हजार कॉपियां ही जांची गई हैं।

अधिकांश शिक्षक सर्वे कार्य में जुड़े :

शहर में कोरोना संक्रमण की जांच का सर्वे युद्ध स्तर पर चल रहा है। घर-घर इनकी जांच हो रही है, जिसमें शिक्षकों की भी ड्यूटी लगी है। अधिकांश शिक्षक इस सर्वे कार्य में लगे हुए हैं। जिसके कारण ये शिक्षक मूल्यांकन कार्य के लिए नहीं पहुंच रहे हैं। जो पहुंचते भी हैं तो आधे में ही सर्वे कार्य का आर्डर आने पर चले जाते हैं। डीईओ ने शिक्षकों की कमी को लेकर सीईओ जिला पंचायत और कलेक्टर के समक्ष अपनी बात रखी है, साथ ही मंडल को भी इससे जल्द अवगत कराया जाएगा, नहीं तो समय पर मूल्यांकन कार्य संपन्न नहीं हो पाएगा और रिजल्ट में देरी होगी।

30 जून तक देना हैं कॉपियां :

समन्वयक संस्था व मालव कन्या स्कूल के प्राचार्य एमएम तिवारी ने बताया कि अभी तक चार हजार कॉपियां जांची जा चुकी है। बुधवार को लगभग 110-120 शिक्षक तक मूल्यांकन केंद्र पहुंचे थे। इनमें से कुछ हेड व डिप्टी हेड की भूमिका में लग जाते हैं, जिसके कारण जांचने वाले शिक्षक और कम हो जाते हैं।

9 विषयों की कॉपियां आई :

उन्होंने बताया कि हमारे यहां कुल 9 विषयों की कॉपियां आई हैं, जिनके लिए शिक्षकों की आवश्यकता है। जिन विषयों की कॉपियां आई है, उनमें केमेस्ट्री, बायलॉजी, मैथ्स, बुककीपिंग, व्यवहारिक अर्थशास्त्र, भूगोल, राजनैतिक शास्त्र, अर्थशास्त्र व कृषि की कॉपियां जांचने आई हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co