सीधी: जंगल में लकड़ी बीनने गई 12 वर्षीय बच्ची को तेंदुए ने बनाया शिकार, मौत
12 वर्षीय बच्ची को तेंदुए ने बनाया शिकारSocial Media

सीधी: जंगल में लकड़ी बीनने गई 12 वर्षीय बच्ची को तेंदुए ने बनाया शिकार, मौत

सीधी, मध्यप्रदेश : सीधी जिले से तेंदुए द्वारा बच्ची को शिकार बनाने का मामला सामने आया है, जंगल में लकड़ी बीनने गई 12 वर्षीय बच्ची को तेंदुआ बहन की आंखों के सामने से मुंह में दबाकर भाग गया।

सीधी, मध्यप्रदेश। एक ओर जहाँ मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के मामलों में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है वहीं दूसरी तरफ कई अप्रत्याशित घटनाएं तेजी से सामने आती जा रही हैं, बता दें कि प्रदेश में जानवरों द्वारा आमजनों पर हमले करने के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक अब मध्यप्रदेश के सीधी जिले में 12 वर्षीय बच्ची पर तेंदुए ने हमला कर दिया है।

क्या है पूरा मामला :

मध्यप्रदेश के सीधी जिले से तेंदुए द्वारा बच्ची को शिकार बनाने का मामला सामने आया है, घटना मड़वास रेंज के खजुरिहा बादामनाका की है। मिली जानकारी के अनुसार जंगल में लकड़ी बीनने गई 12 वर्षीय बच्ची को तेंदुआ बहन की आंखों के सामने से मुंह में दबाकर भाग गया, लड़की को बचाने के लिए साथ में गईं महिलाओं और उसकी बहन ने तेंदुआ को पत्थर मारे तब जाकर तेंदुआ थोड़ी देर बाद बच्ची काे छोड़कर भाग गया, लेकिन जब तक 12 वर्षीय बच्ची की मौत हो चुकी थी।

घटना की सूचना वन विभाग को दी:

इस घटना की सूचना वन विभाग को दी, जिसे ही घटना की जानकारी वन विभाग के अमला को लगी तो वह तुंरत वहां पहुंचे, वहीं 12 वर्षीय बच्ची (सरोज सिंह) की मौत की खबर जैसे ही उसके परिवार को पता चली तो वह दौड़ते- भागते जंगल में पहुंच गए। परिवार के लोगों का रो-रो कर बुरा हाल है। वन विभाग ने पीएम के बाद बच्ची का शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

बता दें कि मध्यप्रदेश में वन विभाग की सतर्कता के बावजूद भी जानवरों द्वारा लोगों पर हमले की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं जहां जानवरों द्वारा किसी ना किसी का शिकार बनाया गया है। वहीं कई खबरें ऐसी भी सामने आई है जहां बाघ, तेंदुआ जंगल के अलावा शहर में विचरण करते पाया गया, वन विभाग द्वारा घटना के बाद सफायी दी जाती है कि, सुरक्षा इंतजाम रखे गए थे।

नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर पढ़ें खबरें-

सो रही महिला को बाघ ने बनाया शिकार

रायसेन में तेंदुए द्वारा 12 वर्षीय बच्ची को शिकार बनाने का मामला

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co