सिंधिया ने सांवेर में आमसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ सरकार पर लगाए आरोप

इंदौर, मध्य प्रदेश : कमलनाथ सरकार में अवैध रेत उत्खन्न, शराब माफिया, भ्रष्टाचार को पूरा संरक्षण प्राप्त था और कमलनाथ तथा दिग्विजयसिंह के संरक्षण में ही यह फल-फूल रहा था।
सिंधिया ने सांवेर में आमसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ सरकार पर लगाए आरोप
आमसभा को संबोधित करते हुए सिंधियाSocial Media

इंदौर, मध्य प्रदेश। कमलनाथ सरकार में अवैध रेत उत्खन्न, शराब माफिया, भ्रष्टाचार को पूरा संरक्षण प्राप्त था और कमलनाथ तथा दिग्विजयसिंह के संरक्षण में ही यह फल-फूल रहा था। कांग्रेस की सरकार में इतना भ्रष्टाचार था कि उनके मंत्री उमंग सिंगार ने राष्ट्रीय अध्यक्ष को चिट्टी लिखी और स्वत: कहा कि मुख्यमंत्री प्रदेश में भ्रष्टाचार कर रहे हैं और प्रदेश में अवैध रेत उत्खनन शराब माफिया और तबादला उद्योग चरम पर चल रहा है। यह आरोप राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सांवेर विधानसभा के ग्राम डकाज्या में आमसभा को संबोधित करते हुए कही। उन्होनें कांग्रेस नेताओं पर टिप्पणी करते हुए कहा कि कमलनाथ और दिग्विजयसिंह सुन लो वादाखिलाफी और गद्दारी प्रदेश की भोलीभाली जनता के साथ आप लोगों ने की थी इसलिये आप प्रदेश के सबसे बडे गद्दार हो, अगर आप लोगों से गलती हुई तो आपको प्रदेश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव में प्रचार थमने से पहले दोनो की दल पूरा जोर लगा कर प्रचार कर रहे हैं। प्रदेश में चर्चा का विषय बनी सांवेर विधानसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी तुलसीराम सिलावट के समर्थन में राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया गुरुवार को ग्राम डकाज्या में सभा में पंहुचे। जनसभा में प्रमुख रूप से संभागीय संगठन मंत्री जयपालसिंह चावड़ा, सांसद शंकर लालवानी, विधानसभा उपचुनाव प्रभारी रमेश मेंदोला, जिला अध्यक्ष डॉ. राजेश सोनकर, विधायक आकाश विजयवर्गीय, मधु वर्मा, सावन सोनकर, गोविन्द मालू, उमेश शर्मा, प्रेमसिंह ढाबली, प्रहलाद पटेल, डोंगरसिंह, हजारीलाल पटेल, जीवन गेहलोद, हुकुम पटेल, ओम सेठ, मुकेश पटेल, बलराम मेहता, श्रवणसिंह चावड़ा सहित वरिष्ठ नेता उपस्थित थे।

15 माह में 1 भी उद्योग नहीं लगा :

सभा में कांग्रेस और कांग्रेस नेताओं पर रोष जताते हुए श्री सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस सरकार के 15 माह में कमलनाथ ने वल्लभ भवन को भ्रष्टाचार का केन्द्र बना लिया था वे अकेले नहीं थे, उसमें उनका साथ दिग्विजयसिंह परदे के पीछे दे रहे थे, पिछले 40 सालों में कांग्रेस ने हमेशा चुनाव में मुखोटा किसी और का, और सरकार किसी और की बन रही है एवं सरकार की डोरी किसी ओर के पास रहती है। कमलनाथजी उद्योगपति है और उन्होंने पिछले 15 माह में एक भी नया उद्योग नहीं लगाया, उन्हें सिर्फ एक ही उद्योग को बढ़ावा दिया वह है तबादला उद्योग और इसके अंतर्गत वल्लभ भवन में बोली लगती थी 10 लाख, 20 लाख, 50 लाख-जो ज्यादा बोली लगाता था उसे मनपसंद ट्रांसफर दे दिया जात था, किसी किसी का तो चार-चार बार ट्रांसफर कर दिया गया।

1967 में भी गद्दारों को धूल चटाई थी :

श्री सिंधिया ने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने धारा 370 खारिज किया मैंने कांग्रेस वर्किंग कमेठी में उक्त बिल का समर्थन किया था क्योंकि सिंधिया परिवार सत्य के साथ खड़ा रहता है। मोदीजी ने बहुप्रतिक्षित राममंदिर निर्माण का भूमिपूजन किया यह हमारा आस्था का विषय है। भाजपा में जय-जय सियाराम का नारा लगाया जाता है जबकि कांग्रेस में जय-जय कमलनाथ का नारा लगाया जाता है तथा कांग्रेसी अपने आप को भगवान के बराबर समझते है। ये दोनों दलों में विचारधारा का अंतर है। उन्होनें कहा कि सन् 1967 में मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तब डीपी मिश्रा की सरकार मेरी दादी ने बनवाई थी और जब डीपी मिश्रा ने प्रदेश की जनता के साथ गददारी की थी तब मेरी दादी ने उन्हें भी धूल चटाई थी। मैंने भी जब देखा कि यह जोड़ी प्रदेश की भोलीभाली जनता के साथ गद्दारी कर रही है तब मैंने भी उनको धूल चटाकर रोड पर ला दिया। आज शिवराजजी और ज्योतिरादित्य की जोड़ी है प्रदेश में डबल इंजन बनकर प्रदेश के विकास को ऐतिहासिक स्तर पर लेकर जायेंगे और जनहित के कार्य करेंगे।

नहीं समझा किसानों का दर्द :

राज्यसभा सासंद सिंधिया ने कहा कि मप्र में 40 साल से कमलनाथ और दिग्विजयसिंह ने पूरे प्रदेश को चक्कर में डाल रखा था, चुनाव आता है तब छोटा भाई आगे आ जाता है और जब चुनाव चला जाता है बड़ा भाई आगे आकर सरकार संभल लेता है। अतिवृष्टि के समय कमलनाथ ने एक भी जगह निरीक्षण नहीं किया, केवल 15 माह वल्लभ भवन बैठकर नोट की चिंता की। जब कुर्सी खिसक गई तब प्रदेश में धुल खा रहे है जबकि मुख्यमंत्री का अपना परिवार ना होकर पूरा प्रदेश ही उसका परिवार होता है एवं जनता का दुख दर्द ही अपना दुख दर्द बांटना जनप्रतिनिधि का कर्तव्य होता है। चुनाव के समय मंच से कहा था कि यह वचन पत्र नहीं धर्मग्रंथ है 10 दिन में अगर कर्जा माफ नहीं होता है तो हम मुख्यमंत्री बदल देंगे, बदला था क्या। इसलिये जनता के साथ आपने गद्दारी की थी उसकी सजा आप भुगत रहे हो। मैंने चुनाव में जनता के सामने इनके बेहकावे में यह वचन दे दिया था कि हम 10 दिन में किसानों का कर्जा माफ कर देंगे, जब 10 दिन हो गये तो मैंने इंतजार किया अब होगा, फिर इंतजार करते-करते 10 माह बीत जाने के बाद भी मैंने कमलनाथजी से कहा कि मैं प्रदेश के अन्नदाता के साथ धोखा नहीं कर सकता।

झूठे वचन देकर राज किया :

भाजपा प्रत्याशी तुलसीराम सिलावट ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने जनता को झूठे वचन देकर राज किया है जिसके लिये जनता कांग्रेस को कभी माफ नहीं करेगी, भाजपा की सरकार वर्तमान में अपने अल्पसमय में एवं प्रदेश में पूर्व में रही 15 साल मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने प्रदेश की जनता के हित में काम कर जनहित में बड़ी संख्या में लोककल्याणकारी योजना के माध्यम से लांभावित किया है। सम्मेलन को जिला अध्यक्ष डॉ. राजेश सोनकर, सुदर्शन गुप्ता, उमेश शर्मा, सावन सोनकर, सुभाष चौधरी, श्रवणसिंह चावड़ा ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन मुकेश पटेल ने किया एवं आभार पूर्व सरपंच रमेश पटेल ने माना। इस अवसर पर राजेन्द्रसिंह पवांर, राजेन्द्र पटेल, दिलीपसिंह पंवार, जीतसिंह चौहान, बलराम मेहता, सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता व आमजन उपस्थित थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co