हवा-हवाई हो गया 'सिंगल यूज' प्लास्टिक बंद अभियान
हवा-हवाई हो गया 'सिंगल यूज' प्लास्टिक बंद अभियान|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

हवा-हवाई हो गया 'सिंगल यूज' प्लास्टिक बंद अभियान

छतरपुर, मध्यप्रदेश: धरती को बंजर बनाने वाली पॉलीथिन के लगे जगह-जगह ढेर, बड़े दुकानदारों की मददगार है सरकार।

Pankaj Yadav

राज एक्सप्रेस। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश भर के लोगों से अपील की है कि, वे सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग करना बंद कर दें क्योंकि यह प्लास्टिक धरती को बंजर बना रही है। अभियान शुरु होने पर प्रदेश के छतरपुर जिले में भी सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग न करने की नसीहत दी गई, लेकिन इस पॉलीथिन को बंद नहीं किया गया। परिणामस्वरूप जगह-जगह पॉलीथिन के ढेर लगे हैं और इन पॉलीथिन को खाकर जानवर भी बेमौत मर रहे हैं।

शहर के चारों ओर नजर आ रहा है कचरे का ढेर :

शहर के चारों ओर लगे कचरे के ढेरों में से सबसे ऊपर पॉलीथिन नजर आ रही है। सिंगल यूज प्लास्टिक बंद किए जाने का अभियान सिर्फ हवा-हवाई है क्योंकि, यदि इसे बंद किया गया होता तो फिर कचरे में पॉलीथिन नजर न आती। लोगों का कहना है कि, शासन-प्रशासन द्वारा फैक्ट्रियों पर कार्यवाही नहीं की जा रही सिर्फ इसके उपयोग पर मनाही की जा रही है। सुरेन्द्र कुमार सेन कहते हैं कि, जब ऊपर से पॉलीथिन को बंद नहीं किया जा रहा, तो इसे लोग उपयोग करेंगे ही। सिर्फ छोटे दुकानदारों को परेशान किया जा रहा है। धड़ल्ले से पॉलीथिन बिक रही है।

बड़े दुकानदारों की मददगार है सरकार :

कहने के लिए पॉलीथिन बंद करने का अभियान चल रहा है, लेकिन सरकार बड़े दुकानदारों पर मेहरबान हैं क्योंकि बड़े दुकानदारों पर अब तक कोई बड़ी कार्यवाही नहीं हुई, इसलिए ये पॉलीथिन बाजार में आसानी से मिल रही हैं। दिलीप सिंह का कहना है कि, सरकार बड़े दुकानदारों की मदद कर रही है। यदि फैक्ट्रियों पर सख्त कार्यवाही होगी तो सिंगल यूज प्लास्टिक चुटकियों में बंद हो जाएगी।

जानवरों की मौत बन रहा है प्लास्टिक :

दुकानों से घरों तक आने वाला प्लास्टिक सबके लिए हानिकारक है। चाय की दुकानों में प्लास्टिक के छोटे कप रखे गए हैं, जिनमें चाय दी जाती है। इसके अलावा अन्य दुकानों में गर्म सामग्री पॉलीथिन में दी जाती है। खाने-पीने के सामान में पॉलीथिन का उपयोग हो रहा है, जो बेहद घातक है। जानकारों का कहना है कि, पॉलीथिन के तत्व खाने में उतर आते हैं, जो शरीर के लिए काफी घातक है। उधर लोग खाने-पीने की सामग्री पॉलीथिन में रखकर बाहर फेंक देते हैं, जिसे जानवर खाते हैं और यही पॉलीथिन उनकी मौत का कारण बनती है।

हम लगातार प्रयास कर रहे हैं कि, सिंगल यूज प्लास्टिक पूरी तरह से बंद हो। मीडिया के माध्यम से भी आम जनमानस से इसका उपयोग न करने का आग्रह किया जा रहा है। समय-समय पर कार्यवाहियां भी चल रही हैं।

अरुण पटैरिया, सीएमओ, नगर पालिका, छतरपुर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co