सिंगरौली : साहब सबसे पहले व्यक्ति को जीवित कराओ
साहब सबसे पहले व्यक्ति को जीवित कराओShashikant Kushwaha

सिंगरौली : साहब सबसे पहले व्यक्ति को जीवित कराओ

सिंगरौली, मध्य प्रदेश : सिंगरौली जिले में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया ने पैदल यात्रा कर जिले के नगर निगम के प्रमुख गेट पर सैकड़ों की तादाद में नारेबाजी कर ज्ञापन सौंपा।

सिंगरौली, मध्य प्रदेश। सिंगरौली जिले में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया ने पैदल यात्रा कर जिले के नगर निगम के प्रमुख गेट पर सैकड़ों की तादाद में नारेबाजी कर ज्ञापन सौंपा। नगर निगम पर मनमानी व व्याप्त भ्रष्टाचार का हवाला देते हुए माँगो को पूरा करने हेतु 7 दिवस के समय कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया की तरफ से प्रशासन को दिया गया।

जीवित को मृत घोषित कर सहायता राशि में गोलमाल :

सिंगरौली नगर निगम वार्ड में जीवित व्यक्ति को मृत घोषित कर 2 लाख रुपये से अधिक राशि का फर्जीवाड़ा निगम कर्मियों के द्वारा किया गया था जिसकी खबर को राज एक्सप्रेस ने प्रमुखता से उठाया था। जिसके बाद आनन फानन में नगर निगम के संविदा कर्मचारी को हटाकर काम पूरा कर नगर निगम ने अपना पल्ला झाड़ लिया, तो वहीं अन्य आरोपियों को बचाने का प्रयास निगम के अधिकारियों के द्वारा लगातार किया जा रहा है। इस बात का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि जीवित को मृत घोषित कर सहायता राशि में गोलमाल करने के मामले को लेकर कम्युनिस्ट पार्टी की तरफ से नवानगर पुलिस के समक्ष लिखित रूप से शिकायत की जा चुकी है वहीं संबंधित मामले में मिली जानकारी के मुताबिक नवानगर पुलिस की तरफ से निगमायुक्त को मूल दस्तावेज प्रदान करने को लेकर 6 बार पत्राचार किया गया परंतु लगभग साल भर से उक्त मामले का संज्ञान निगम अधिकारियों ने नही लिया।

खुद के जीवित होने का दावा करने वाले पीड़ित ने जताई नारजगी :

लगभग साल भर पहले जीवित व्यक्ति को मृत बताकर 2 लाख से ज्यादा की राशि में गोलमाल करने वाले मामले में पीड़ित व्यक्ति ने नगर निगम सिंगरौली के कृत्यों पर नाराजगी जताते हुए अपनी व्यथा प्रकट करते हुए दोषियों पर कार्यवाही की माँग की है।

न्याय मिलने तक जारी रहेगी लड़ाई - कॉमरेड संजय नामदेव

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के नेता कॉमरेड संजय नामदेव ने नगर निगम की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा कि वर्षों से नगर निगम सिंगरौली के अधिकारी कर्मचारी ने सिंगरौली को चारागाह बना लिया वर्षों से जमे अधिकारी कर्मचारी भ्रष्टाचार को बढ़वा दे रहे हैं जिसका जीता जागता उदाहरण जीवित व्यक्ति को मृत बताकर 2 लाख से ज्यादा की राशि में गोलमाल एवं अन्य कई मामले हैं जो नगर निगम की कलई खोल देता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co