Raj Express
www.rajexpress.co
गौतम ने जताई आपत्ति
गौतम ने जताई आपत्ति|Shashikant kushwaha
मध्य प्रदेश

कोहरे के कारण बंद की गई इंटरसिटी एक्सप्रेस : गौतम ने जताई आपत्ति

सिंगरौली-शक्तिनगर से वाराणसी तक चलने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस को कोहरे के कारण बन्द किया जाना अनुचित-श्री गौतम।

Shashikant Kushwaha

राज एक्सप्रेस। उत्तर मध्य रेलवे के सदस्य ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष से मिलकर सिंगरौली शक्तिनगर से बनारस तक चलने वाली ट्रेनों के संबंध में अपनी बात रखी। सोनभद्र के सांसद श्री पकौडी लाल कोल तथा क्षेत्राीय रेल उपयोगकर्ता परामर्श दात्राी समिति उत्तर मध्य रेलवे इलाहाबाद के सदस्य श्री एस.के. गौतम ने आज रेल मंत्रालय रेलवे बोर्ड चेयरमैन श्री विनोद कुमार यादव से मुलाकात कर सिंगरौली-शक्तिनगर से वाराणसी तक चलने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस को कोहरे के कारण बन्द किये जाने को अनुचित बताते हुए इसे पुनः चलाने की मांग की ।

परिचालन के सम्बंध में अवगत कराया

इसके अतिरिक्त उन्होंने सिंगरौली-शक्तिनगर से चलने वाली त्रिवेणी एक्सप्रेस के निरन्तर लेट चलने की ओर उनका ध्यान आकृष्ट करते हुए इसे समयानुसार चलाये जाने की भी मांग की।

बोर्ड अध्यक्ष ने दिया निर्देश

चेयरमैन रेलवे बोर्ड ने एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर; कोचिंग को बुलाकर उक्त दोनों गाड़ियों केो समय अनुसार चलाये जाने के निर्देश दिये।

सांसद ने भी रखा अपना पक्ष

सांसद ने चोपन से सिंगरौली एवं करैला रोड से शक्तिनगर 32 किमी रेल लाईन दोहरीकरण तथा करैला रोड से सिंगरौली तक तथा करैला रोड से शक्ति नगर 32 कि.मी. रेल लाईन विद्युतीकरण की शीघ्र पूरा किये जाने हेतु भी अनुरोध किया।

धनराशि जारी करने की माँग

उक्त द्वय ने आगामी रेल बजट में चोपन-चुनार 103 कि.मी. रेल लाईन दोहरीकरण तथा राबर्ट्सगंज-मुगलसराय वाया मधुपुर-सुकृत-अहरौरा 70 कि.मी. तथा सिंगरौली-लूसा-घोरावल नई रेल लाईन हेतु आगामी रेल बजट में धनराशि जारी किये जाने की मांग की।

उर्जाधानी से बढ़ेगी कनेक्टिविटी

सांसद श्री पकौडी लाल कोल ने चेयरमैन रेलवे बोर्ड को अवगत कराया कि उक्त रेल लाईनों के बनने से देश की ऊर्जाधानी के रूप में जाने वाले सिंगरौली व शक्तिनगर का सीध रेल लाईन से जुड़ाव मुगलसराय व वाराणसी से हो जाएगा तथा ये नई रेल लाइने बनने से कोयला ढुलाई आसान होगी तथा इस लाईन से महानगरों व रामनगर स्थित बन्दरगाह से फैक्टरी प्रबन्धनों की सीधी पहुंच आसान होने के साथ-साथ मुम्बई व भारत के महानगरों की दूरी 150 से 200 कि.मी. तक कम हो जाएगी।

इस नई रेल लाईन के बनने से सोनभद्र के आदिवासी बाहुल्य एवं चंदौली, वाराणसी जिले के लोगों को भी लाभ पहुंचेगा। चोपन-चुनार दोहरीकरण होने से सिंगरौली एवं शक्तिनगर का नई दिल्ली, धनबाद, हावड़ा तक सभी दोहरी लाईन से जुड़ जायेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।