Singrauli : कृति महिला मंडल ने महिला स्वरोजगार को किया प्रोत्साहित, खरीदे जूट बैग
कृति महिला मंडल ने महिला स्वरोजगार को किया प्रोत्त्साहितPrem Gupta

Singrauli : कृति महिला मंडल ने महिला स्वरोजगार को किया प्रोत्साहित, खरीदे जूट बैग

सिंगरौली, मध्यप्रदेश : कृति महिला मंडल ने मुहिम “पंख प्रसार” के तहत कथास ग्राम में स्थित आंगनवाड़ी में 50 बच्चों को चप्पल का वितरण किया जिससे बच्चों के पैर सुरक्षित रहेंगे।

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। नॉदर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के अन्तर्गत आने वाली कृति महिला मंडल की अध्यक्षा श्रीमती संगीता सिन्हा एवं उपाध्यक्षा श्रीमती सुचंद्रा सिन्हा, श्रीमती लक्ष्मी दुबे एवं श्रीमती संजू सिन्हा के मार्गदर्शन में सेमुआर गाँव में संचालित खादी एवं हैंडलूम केंद्र में कार्य कर रही महिलाओं को प्रोत्साहन देते हुए, महिलाओं द्वारा निर्मित 200 जूट के बैग खरीदे गए। साथ ही वहाँ पर कार्यरत सभी महिलाओं को साड़ी व मिठाई भी बांटी गयी। एनसीएल द्वारा संचालित इस खादी एवं हैंडलूम केंद्र में स्थानीय महिलाएं स्वयं सहायता समूह बनाकर खादी का कपड़ा, गमछा, जूट के बैग इत्यादि अनेक सामान बनाती हैं।

कथास में बांटी सोलर लाइट :

कृति महिला मंडल के सौजन्य से कथास में रहने वाले 50 जरूरतमन्द परिवारों में सोलर लाइट दी गयी। इनमें से अधिकतम लोग गाँव से बाहर खेतों व जंगल के बीच में रहते हैं जिससे रात के समय में उन्हें कठिनाई का सामना करना पड़ रहा था।

कथास में बांटी सोलर लाइट
कथास में बांटी सोलर लाइटPrem Gupta

कथास में ही बच्चों को बांटी चप्पल :

कृति महिला मंडल ने मुहिम “पंख प्रसार” के तहत कथास ग्राम में स्थित आंगनवाड़ी में 50 बच्चों को चप्पल का वितरण किया जिससे बच्चों के पैर सुरक्षित रहेंगे।

गौरतलब है कि कृति महिला मण्डल, श्रीमती संगीता सिन्हा के नेतृत्व में बहुद्देशीय मुहिम प्रयास की तीन अलग अलग शाखाओं “जीवन से मैत्री” , “पंख” व “ज्ञान ज्योति” के माध्यम से एनसीएल परिक्षेत्र में स्वास्थ्य एवं दैनिक जीवन में स्वच्छता के प्रति जन जागरण, स्वास्थ्य संरक्षा, औषधि वितरण, पर्यावरण संरक्षण, कौशल विकास, महिला सशक्तिकरण व स्वावलंबन, बाल पोषण तथा बाल शिक्षा की दिशा में उल्लेखनीय कार्य कर रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.