नगर निगम कर्मियों ने जीवित को बताया मृत, लाखों की हेरा-फेरी
नगर निगम कर्मियों ने जीवित को बताया मृत, लाखों की हेरा-फेरी|Shashikant Kushwaha
मध्य प्रदेश

नगर निगम कर्मियों ने जीवित को बताया मृत, लाखों की हेरा-फेरी

मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले में जीवित व्यक्ति को मृत घोषित कर लाखों रुपए की हुई हेरा फेरी, मृतक ने लगाई गुहार "मैं जिंदा हूँ।"

Shashikant Kushwaha

राज एक्सप्रेस। पैसे के लालच में आए दिन धोखाधड़ी के मामले सामने आते रहते हैं ताजा मामला मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले का है ऊर्जा धानी सिंगरौली में घोटाले करने वाले नगर निगम कर्मियों का कृत्य उजागर हुआ है, जिसमें कि नगर निगम के द्वारा किए गए कृत्य के सामने आने के बाद एक और जहां निगम कार्यालय में हड़कंप मचा हुआ है वहीं निगम कार्यालय के अधिकारी कर्मचारी अब मामले पर पर्दा डालने का प्रयास कर रहे हैं ।

जानिए पूरा मामला

नगर निगम सिंगरौली के वार्ड क्रमांक 25 नंदगांव निगाही के निवासी अशोक कुमार पटवा ने लिखित शिकायत पत्र के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज कराई है पीड़ित के द्वारा शिकायत की गई है कि मुझे संबल कार्ड पर मृत करार दिया गया है वह मेरा कार्ड निरस्त दर्शाया गया है संबंधित मामले में पीड़ित ने बताया मेरे संबल कार्ड पर अन्य व्यक्ति जो कि अशोक कुमार यादव निवासी भरवा ग्राम का रहने वाला है उसकी पत्नी को मृत्यु सहायता राशि के रूप में सुनीता यादव को 200000 का भुगतान सरकारी मत से सिंगरौली नगर निगम के द्वारा किया जा चुका है ।

आनन-फानन में संविदा कर्मी पर गिरी गाज

संबंधित मामला सामने आने के बाद निगमायुक्त के द्वारा संबंधित मामले पर संविदा कर्मी संतोष साहू जो कि बतौर कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर कार्यरत था उसकी सेवा समाप्त करते हुए मामले को खत्म करने की बात नगर निगम के अधिकारियों के द्वारा की जा रही है।

इनकी भूमिका भी संदिग्ध

फरियादी के द्वारा आरोप लगाया गया है कि संबंधित मामले पर निगमायुक्त के द्वारा सिर्फ कंप्यूटर ऑपरेटर को बर्खास्त कर मामले में पर्दा डालने का प्रयास किया जा रहा है जबकि वार्ड प्रभारी मुरलीधर वर्मा व समग्र पोर्टल विभाग के अधिकारी अजय पटेल व अन्य की भूमिका मामले में संदिग्ध है ।

पुलिस कर रही मामले की जाँच

जीवित व्यक्ति को मृत बताकर हुई लाखों रुपये की ठगी का मामले में नवानगर थाने ने मामले में जांच शुरू कर दी है ।

फरियादी के द्वारा मुझे लिखित शिकायत देकर मामले में न्याय दिलाने की फरियाद की गयी है, जिसमें मेरे द्वारा पुलिस अधीक्षक व निगमायुक्त को पत्र जारी कर त्वरित कार्यवाही करते हुए फरियादी को न्याय दिलाने की मांग की गई थी परंतु उसमें निगम आयुक्त व पुलिस विभाग के अधिकारी मिलकर आरोपियों को बचाने में जुटे हुए हैं।

संजय नामदेव, ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस एटक मध्य प्रदेश सचिव

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co