Raj Express
www.rajexpress.co
जन सरोकार और पत्रकारिता विषय पर संगोष्ठी सम्पन्न
जन सरोकार और पत्रकारिता विषय पर संगोष्ठी सम्पन्न|Shashikant Kushwaha
मध्य प्रदेश

जन सरोकार और पत्रकारिता विषय पर संगोष्ठी सम्पन्न

सिंगरौली, मध्यप्रदेश : संगोष्ठी में कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी ने सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने में मीडिया की भूमिका को बताया महत्वपूर्ण।

Shashikant Kushwaha

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले में सरकार के एक वर्ष का कार्यकाल पूरा होने पर कलेक्ट्रेट सभागार में जन संपर्क विभाग द्वारा जन सरोकार और पत्रकारिता विषय पर संगोष्ठी आयोजित की गई। संगोष्ठी में कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी ने कहा कि, सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण है। सिंगरौली में पत्रकारों ने आमजन की समस्याओं तथा शासन के कार्यक्रमों को प्रभावी तरीके से आवाज दी है। आम जन की कठिनाईयों से जुड़े समाचारों पर लगातार कार्यवाही के प्रयास होते हैं।

जनहित कार्यों की विस्तृत चर्चा :

कलेक्टर ने कहा कि सरकार ने किसानों को ऋ़ण माफी का उपहार दिया। इस योजना का दूसरा चरण आरंभ हो गया है। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में राशि को बढ़ाकर 51 हजार कर दिया गया है। सामाजिक सुरक्षा की पेंशन दोगुनी कर दी गई है। दिव्यांग तथा कल्याणी को पेंशन देने के लिए गरीबी रेखा की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है। सरकार ने हितग्राही मूलक योजनाओं में कई उल्लेखनीय पहल की हैं। सिंगरौली जिले में गत एक वर्ष में खनिज मद से कई महत्वपूर्ण निर्माण कार्य कराये गये हैं। सभी उचित मूल्य दुकानों तथा खरीदी केन्द्रों में गोदाम का निर्माण, अधूरे 116 शाला भवनो को पूरा कराने तथा भवन विहीन आंगनवाड़ी केन्द्रों में भवन बनाने का कार्य किया जा रहा है। मध्यान्ह भोजन योजना के लिए किचन शेड भी बनाये जा रहे हैं। शिक्षा तथा स्वास्थ्य विभाग में नई भर्ती के माध्यम से पदों की पूर्ति की जा रही है।

रोजगार को लेकर जानकारी :

कलेक्टर ने कहा कि रोजगार को बढ़ावा देने के लिए भू-अर्जन तथा पुर्नावास नीति में स्थानीय प्रभावितों को नौकरी का प्रावधान किया गया है। यदि निजी संस्था नौकरी नहीं दे पाती तो न्यूनतम 8 हजार रूपये की राशि प्रभावित परिवार को हर माह देनी होगी। उद्योगो में भी स्थानीय व्यक्तियों को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर देने के प्रयास किये जा रहे हैं। प्रशिक्षण तथा स्वरोजगार के लिए भी लगातार प्रयास हो रहे हैं। कार्यशाला में अतिथियों का स्वागत करते हुये उपसंचालक लक्ष्मण सिंह ने कहा कि, सरकार ने अपने वचन पत्र में घोषित 365 वचनों में से 164 को पूरा कर दिया है। पत्रकारों की श्रद्धानिधि 7 हजार से बढ़ाकर 10 हजार कर दी गई है। सरकार ने विभिन्न वर्गो के कल्याण के लिए प्रयास किये हैं।

पत्रकारों ने भी रखा अपना पक्ष :

संगोष्ठी में श्री पुरूषोत्तम मिश्रा संम्पादक आर्यावर्त टाईम्स ने कहा कि, पत्रकारिता पवित्र व्यवसाय है यह जन सरोकार के बिना नहीं हो सकता है। सरकार ने एक साल में सस्ती बिजली, ऋण माफी, तथा समाज कल्याण योजनाओं में राशि दोगुना करके हितग्राहियों को लाभान्वित किया है। साथ ही कहा कि पत्रकार सही तथ्यों के साथ समाचार बनायें। समाचार में सही तथ्य होंगे तो उसका असर अवश्य होगा। आम जनता के हित को ध्यान मे रखकर पत्रकारिता करें। संगोष्ठी में दैनिक काल चिंतन के सम्पादक आरके श्रीवास्तव ने कहा कि, पत्रकारों का आम जनता से सरोकार तथा संबंध सामंजस्य को होना चाहिये जन सरोकार के बिना पत्रकारिता संभव नही है। उन्होने छोटे तथा मझोले समाचार पत्रों की कठिनाईयों, विज्ञापन नीति की कमियों पर भी प्रकाश डाला।

पत्रकारों की समस्या और निराकरणों पर की चर्चा :

संगोष्ठी में पत्रकारों की कठिनाई के निराकरण तथा पत्रकार प्रशिक्षण पर भी चर्चा की गई संगोष्ठी का समापन प्रभारी जनसम्पर्क अधिकारी उमेश तिवारी द्वारा आभार प्रदर्शन से हुआ। संगोष्ठी का संचालन जनसम्पर्क अधिकारी बी.के शर्मा ने किया। संगोष्ठी में बड़ी संख्या में पत्रकार शामिल रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।