Raj Express
www.rajexpress.co
हनी ट्रैप मामला
हनी ट्रैप मामला|Social Media
मध्य प्रदेश

इंदौरः हनी ट्रैप मामले में एसआईटी ने शुरू की हर बिंदु पर जांच

इंदौर, मध्यप्रदेश : प्रदेश के बहुचर्चित हाईप्रोफाइल हनी ट्रेप मामले में एसआईटी ने हर बिंदु पर अपनी जांच शुरू कर दी है, एसआईटी प्रमुख एडीजी काउंटर इंटेलिजेंस संजीव शमी इंदौर पहुंचे।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। प्रदेश के बहुचर्चित हाईप्रोफाइल हनी ट्रेप मामले में एसआईटी ने हर बिंदु पर अपनी जांच शुरू कर दी है। एसआईटी प्रमुख एडीजी काउंटर इंटेलिजेंस संजीव शमी बुधवार को इंदौर पहुंचे और सूक्ष्म जांच के लिए डेरा डाल लिया है। एसआईटी इस गिरोह से नजदीकी संबंध रखने वाले अधिकारियों और नेताओं द्वारा महिलाओं को फायदा पहुंचाने की दिशा में जांच बढ़ा रही है। संजीव शमी बुधवार दोपहर में इंदौर पहुंचे। यहां उन्होंने अब तक की कार्रवाई का अध्ययन किया।

हनी ट्रैप मामले की जांच सवालों के घेरे में-24 घंटे के अंदर SIT में बदलाव

सूत्रों ने बताया कि-हनी ट्रैप मामले में अब तक सामने आई सीडी, वीडियो, तस्वीरों में दिखाई देने वाले अधिकारियों और नेताओं के महिलाओं से संबंधों की जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है। हर एक अधिकारी और नेता से उनके संबंधों की जानकारियां जुटाई जा रही हैं। इसी तरह गिरोह में शामिल महिलाओं की संस्थाओं व विभिन्न कंपनियों से उनके संबंधों की जानकारियां भी एकत्रित की जा रही हैं। गिरोह के करीबी अधिकारियों व नेताओं की जिमेदारियों और महिलाओं को फायदा पहुंचाने की कड़ी को SIT ढूंढकर कार्रवाई करने की रणनीति पर काम कर रही है। इन महिलाओं ने एनजीओ के माध्यम से काम लेने, तबादले-पदस्थापना, कराने, विभिन्न प्राइवेट कंपनियों के प्रतिनिधि के तौर पर सरकारी विभागों में काम दिलाने आदि के लिए अधिकारियों व नेताओं से संबंधों का फायदा लिया है।

लैपटॉप-मोबाइल से मिलीं चार हजार फाइलें -

सूत्रों के अनुसार राज्य का हनीट्रैप मामला देश का सबसे बड़ा सेक्स स्कैंडल साबित हो सकता है। इस मामले की जांच में जप्त लैपटॉप और मोबाइल फोन से करीब चार हजार फाईलें मिली हैं। जिनमें अश्लील चैट के स्क्रीनशॉट, समझौता करने की स्थिति में निर्वस्त्र अधिकारियों के वीडियो और ऑडियो क्लिप पाए गए हैं, इन क्लिप्स में कथित तौर पर नौकरशाह, मंत्री और पूर्व सांसद शामिल हैं। फोरेंसिक विशेषज्ञ जप्त किए गए लैपटॉप और मोबाइल फोन की लगातार जांच कर रही है। डिजिटल फाइलों की सूची जल्द ही 5 हजार भी छू सकती है।

नेता-अफसरों में खलबली -

गिरोह द्वारा बनाई गई सीडी, वीडियो क्लिप्स, तस्वीरों को लेकर गिरोह से जुड़े नेता-अफसरों में खलबली है। ऐसे लोग अपने परिचितों-मित्रों के माध्यम से कार्रवाई की टोह भी लेने का प्रयास कर रहे हैं। मामले की जांच के लिए बनाई गई। एसआईटी का प्रमुख शमी को बनाए जाने से लोगों को जांच में निष्पक्षता की उम्मीद जागी है। पहले आईजी डी. श्रीनिवास वर्मा को एसआईटी का प्रमुख बनाया गया था, लेकिन उच्च प्रशासनिक स्तर पर 24 घंटे में उन्हें बदल दिया गया।

फिर हुई आरती की तबीयत खराब

हनीट्रैप मामले में पूछताछ के दौरान बुधवार को एक बार फिर से आरती दयाल की तबियत खराब हो गई, जिसके बाद उसे एमवाय अस्पताल लाया गया। यहां एक घंटे तक चले मेडिकल चेकअप के बाद लौटते समय पुलिस ने उसे वीआईपी ट्रीटमेंट देने की कोशिश की और गीता भवन के पीछे एक जूस सेंटर पर गाड़ी रुकवाकर उसके लिए जूस मंगवाया गया। मीडिया के आते ही जूस वापस कर गाड़ी लेकर आगे बढ़ गए।

मंगलवार को 19 वर्षीय छात्र के पिता की रिपोर्ट पर आरती दयाल, श्वेता पति स्वप्निल जैन, श्वेता पति विजय जैन और अन्य के खिलाफ मानव तस्करी की धाराओं प्रकरण दर्ज कर उनसे पूछताछ शुरू कर दी गई है। जिन दो युवकों के खिलाफ छात्र के पिता ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है, उनकी भी तलाश की जा रही है। आरती पुलिस पूछताछ में सहयोग नहीं कर रही है, जिसके कारण कई बातों का खुलासा नहीं हो पा रहा है।