Raj Express
www.rajexpress.co
बस स्टैंड पर हो रही गुंडागर्दी के खिलाफ की नारे बाजी
बस स्टैंड पर हो रही गुंडागर्दी के खिलाफ की नारे बाजी|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

छतरपुर : बस स्टैंड पर हो रही गुंडागर्दी के खिलाफ की नारे बाजी

छतरपुर, मध्य प्रदेश: गणेश पंडाल के समीप रविवार की सुबह कोतवाली में लोगों का जमावड़ा लग गया। एक समुदाय विशेष के लोगों ने दुसरे समुदाय के लोगों पर गुंडागर्दी करने के आरोप लगाते हुए नारेबाजी की।

Pankaj Yadav

राज एक्सप्रेस। रविवार की सुबह शहर की कोतवाली में लोगों का जमावड़ा लग गया। एक समुदाय विशेष के लोगों ने दुसरे समुदाय के लोगों पर बस स्टैंड क्षेत्र में गुंडागर्दी करने के आरोप लगाते हुए नारेबाजी शुरु कर दी। जैसे-जैसे शहर में खबर फैली, तो तीनों थानों की पुलिस अलर्ट हो गई। बाद में पता लगा कि, बीती रात बस स्टैंड के एक बेल्ट चश्मे के दुकानदार बब्लू शिवहरे के साथ 3 गुंडों ने मारपीट की है। इनके नाम इरफान पठान, जुबेद राइन और सुलेमान ड्राइवर बताये गए। कोतवाली में मौजूद भीड़ कुछ ही देर में बस स्टैंड पहुंच गई और यहां गणेश पंडाल के समीप एकत्रित होकर नारेबाजी करने लगी। भीड़ का कहना था कि, गुंडों ने बब्लू शिवहरे को बीती रात गणेश पंडाल से निकालकर पीटा और सुबह उसके घर जाकर भी मारपीट की गई। पुलिस ने इस मामले में तीनों आरोपियों पर धारा 327, 294, 506 एवं 323 34 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया। दो आरोपी इरफान और जुबेद गिरफ्तार भी कर लिए गए हैं, लेकिन मामला अब इससे आगे बढ़ गया। देखते ही देखते बस स्टैंड पर हिंदू संगठनों से जुड़े एक सैकड़ा लोग पहुंच गए और नारे बाजी करते हुए, जटाशंकर होटल के सामने जाम लगा दिया।

हिंदू संगठन के लोगों कहना :

इस मामले को लेकर हिंदू संगठनों के लोगों का कहना था कि, बस स्टैंड पर एक समुदाय विशेष के लोग दुकानदारों से हफ्ता वसूली करते हैं। गुंडागर्दी करते हैं और एक-एक परिवार के 4-4 लोगों ने हाथठेलों के माध्यम से पूरे बस स्टैंड पर कब्जा कर रखा है। हाथ ठेलों के कारण न सिर्फ बस स्टैंड पर बसों का आवागमन प्रभावित होता है, बल्कि इससे बस स्टैंड के वे दुकानदार परेशान हैं, जो लाखों रुपए की पूंजी लगाकर व्यवसाय कर रहे हैं।

कार्यवाही करने की मांग :

विरोध कर रहे लोगों ने बस स्टैंड से ठेलों को हटवाने अवैध दुकानों के कब्जे छुड़ाने एवं बस स्टैंड इलाके में गुंडागर्दी फैला रहे लोगों को चिन्हित कर इनके खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की। लगभग दो घंटे तक चले इस हंगामे के दौरान तनाव जैसी स्थिति निर्मित होने लगी जिसके बाद सिटी कोतवाली, सिविल लाइन, ओरछा रोड के प्रभारियों के साथ-साथ भारी पुलिस बल ने पूरे इलाके को घेर लिया। सीएसपी उमेश शुक्ला सहित अधिकारियों की टीम ने चक्का जाम कर रहे लोगों को अतिक्रमण हटाने का भरोसा दिलाया तब जाकर हंगामा खत्म हुआ।

बस स्टैंड पर हो रही गुंडागर्दी के खिलाफ की नारे बाजी
बस स्टैंड पर हो रही गुंडागर्दी के खिलाफ की नारे बाजी
Pankaj Yadav

अतिक्रमण के लिए नगर पालिका जिम्मेदार :

बस स्टैंड पर हाथ ठेलों के अतिक्रमण को हटाने के लिए रविवार को, जो हंगामा हुआ वह संप्रदायिक रंग भी ले सकता था। गौरतलब है कि, यहां अवैध ठेलों के कारण आए दिन समस्यायें सामने आती हैं और पहले भी इनको हटाने की मांग उठाई जाती रही है, लेकिन छतरपुर नगर पालिका इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाती। इस अतिक्रमण को हटाने की जिम्मेदारी नगर पालिका एवं एसडीएम की है, लेकिन रविवार को इस हंगामे के दौरान न तो सीएमओ अरुण पटैरिया और न ही एसडीएम के के पाठक। आखिरकार पुलिस ही आंदोलनकारियों से जूझती नजर आई। नगर पालिका यदि जुर्माने और अतिक्रमणकारियों की सामग्री जप्त करने के ठोस कदम उठाए तभी यह अतिक्रमण हट सकता है, वरना इसको लेकर रोज इसी तरह के तमाशे होना लाजमी है, जिससे आम जनता परेशान होती है और शहर का माहौल बिगड़ता है।

इनका कहना :

आरोपियों के विरुद्ध कार्यवाही की गई है। अतिक्रमण हटाने की जिम्मेदारी नगर पालिका और एसडीएम की है। वे आगे आकर निर्देशित करें पुलिस उनका पूरा साथ देगी।