Raj Express
www.rajexpress.co
ब्लॉक की कई नदियों में छोटे रपटे, ग्रामीण रास्ता पार करने को मजबूर
ब्लॉक की कई नदियों में छोटे रपटे, ग्रामीण रास्ता पार करने को मजबूर|Rohit Dubey
मध्य प्रदेश

ब्लॉक की कई नदियों में छोटे रपटे, ग्रामीण रास्ता पार करने को मजबूर

आमला, बैतूल : ब्लॉक की कई नदियों में छोटे रपटे हैं । जहां अतिवृष्टि के कारण पानी भर गया है, ग्रामीण जान जोखिम में डालकर नदी पार करने को मजबूर हैं ।

Rohit Dubey

हाइलाइट्स

  • ब्लाक की कई नदियों में छोटे रपटे, जान जोखिम में डाल ग्रामीण पार करते रपटे

  • स्कूल जाने के लिए नौनिहालों सहित अन्य छात्र-छात्राऐं नदी पार करने को मजबूर

  • बीते सप्ताह भी तेज हुई बारिश के छात्रों ने जान दाव पर लगाकर रपटे को पार किया।

  • इस मार्ग पर बड़े नाले को पार कर ग्रामीण राशन,साप्ताहिक बाजार, पँचायत कार्यालय आते हैं

  • ग्रामों की नदियों को चिन्हित कर सभी पुराने कम ऊंचाई वाले रपटों की जगह नए ऊंचाई वाले ब्रिज निर्माण करवाना चाहिए

राज एक्सप्रेस। ब्लॉक में इस बारिश के मौसम में कई ग्रामों की नदियों में लोगों का जान दाव पर लगाकर रपटे पार करने के मामले प्रकाश में आये हैं। वहीं स्कूल जाने के लिए मासूम नौनिहालों सहित हाईस्कूल, प्रायमरी, हाईसेकेंडरी के छात्र-छात्राऐं नदी नाले में पानी रपटे पार करने को मजबूर हैं। जानकारी के मुताबिक ब्लॉक के अनेक ग्रामो में स्थित बड़ी नदियों में वर्षो पुराने रपटे हैं, जिनकी ऊंचाई कम है बारिश होते ही रपटे पर से पानी बहने लगता है और मजबूरी वश ग्रामीणों को रपटों से आवागमन करना पड़ता है, जबकि पूर्व में कई बार हादसे भी होने के कारण लोगों की जान जा चुकी है ।

मजबूरी वश ग्रामीणों सहित छात्र-छात्राऐं नदी पार करने को मजबूर :

बताया जाता है ब्लॉक के जम्बाडा से आमला मार्ग पर कुड़मुड़ नदी पर पुराना कम ऊंचाई वाला रपटा है जिस पर बारिश में बाढ़ आ जाती है। इसी तरह इसी मार्ग पर ग्राम देवगांव पर पुराना रपटा है। जम्बाडा में बेल नदी पर सोनतलाई ,कोंडर खापा मार्ग पर कम ऊंचाई वाला सैंकड़ों मीटर पुराना रपटा है जिसपर हमेशा बाढ़ आ जाती है और आसपास के ग्रामों के सैकड़ों छात्र छात्राऐं जम्बाडा स्थित स्कूलों में पड़ने आते हैं, जो कि कई बार इस नदी के रपटे को पार कर आवाजाही करते हैं।

बीते सप्ताह भी तेज हुई बारिश के बाद रपटे में बाढ़ आ गई थी, स्कूल की छुट्टी के बाद छात्रों ने जान दाव पर लगाकर रपटे को पार किया। वहीं ग्राम कुटखेड़ी पँचायत के हनुमान ढाणा ,कुँवनारी ढाने के स्कूली छात्र व ग्रामीण रपटा नही बनने से नाले के पानी को पार करके कुटखेड़ी आते हैं जिसमे कई बार स्थिति बाढ़ आने से बिगड़ जाती है। दूसरी ओर डोडावाणी से कुटखेड़ी मार्ग के भी यही हाल हैं इस मार्ग पर बड़े नाले को पार कर ग्रामीण राशन,साप्ताहिक बाजार,पँचायत कार्यालय आते हैं वही छात्र-छात्राऐं हाईस्कूल पहुँचतें हैं।

ग्रामीणों को कई कि.मी लंबा रास्ता तय करना पड़ता है :

ब्लॉक में इस बारिश के मौसम के कारण परेशानी हो रही है बताया जा रहा है कि, ग्रामीणों को कई किलोमीटर लंबा रास्ता तय करना पड़ता है। शहर के जागरूक नागरिक व कांग्रेसी नेता गणेश ढोमने का कहना है की ब्लॉक के सभी ऐसे ग्रामो की नदियों को चिन्हित कर सभी पुराने कम ऊंचाई वाले रपटों की जगह नए ऊंचाई वाले ब्रिज निर्माण शासन को करवाना चाहिए जिससे ग्रामीणों सहित छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना नही करना पड़ेगा।