इंदौर : सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में कुछ विभाग उदासीन
सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में कुछ विभाग उदासीनSocial Media

इंदौर : सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में कुछ विभाग उदासीन

इंदौर मध्य प्रदेश : खनिज विभाग के दो अधिकारियों के विरूद्ध हुई अनुशासनात्मक कार्रवाई। टीएल बैठक में हुई सीएम हेल्पलाइन पर लंबित आवेदनों की समीक्षा।

इंदौर मध्य प्रदेश। टीएल बैठक में सोमवार को कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा समाधान स्टे्टस की समीक्षा में पाया गया कि खनिज के अवैध उत्खनन, परिवहन व भंडारण में जनवरी माह से 11 शिकायतें लंबित हैं। उक्त शिकायतों पर खनिज अधिकारी जुवान सिंह भिड़े द्वारा वर्तमान तक कोई उचित कार्रवाई नहीं की गई है। कलेक्टर ने कहा कि प्रत्येक सप्ताह हर विभाग प्रमुख को टीएल बैठक के माध्यम से विभागीय स्तर पर लंबित शिकायतों को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ निराकरण करने के निर्देश दिए जाते है। बार-बार सचेत करने के बावजूद भी खनिज अधिकारी द्वारा अपने दायित्वों के निर्वाहन में लापरवाही दिखाई गई, साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों को गंभीरता से नहीं लिया गया। जिसे दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर श्री सिंह ने खनिज अधिकारी के विरूद्ध आरोप पत्र तथा कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इसी तरह समीक्षा में पाया गया कि महू तहसील के उप पंजीयक रामअवतार बैसवाल विगत तीन माह से कार्यस्थल पर उपस्थित नहीं हो रहे है। कलेक्टर श्री सिंह ने कोषालय अधिकारी को बैसवाल के वेतन रोकने के निर्देश दिए। साथ ही बैसवाल को आगामी शुक्रवार को जिला मेडिकल बोर्ड के सामने उपस्थित होने की सूचना जारी करने के निर्देश दिये। उन्होंने सिविल सर्जन को सख्त निर्देश दिये कि मेडिकल परीक्षण बोर्ड द्वारा स्वीकृत किये जाने वाले मेडिकल आवेदनों का पूर्ण सतर्कता के साथ अवलोकन किया जाए तथा शासकीय अधिकारी एवं कर्मचारियों से संबंधित सिर्फ जेन्यूइन मेडिकल आवेदनों को ही अनुमोदित किया जाये।

बैठक में कलेक्टर मनीष सिंह ने सीएम हेल्प लाइन में दर्ज शिकायतों की विभागवार विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने निजी भूमि पर अवैध कब्जा/अतिक्रमण, आवास भट्टा, लोक स्वास्थ्य, नवीन राशन कार्ड, नामांकन एवं बंटवारा आदि से संबंधित लंबित शिकायतों का अवलोकन किया। समीक्षा के दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि छात्रवृत्ति से संबंधित कोई भी आवेदन संस्था स्तर पर लंबित ना रहे। उन्होंने प्रत्येक विभाग प्रमुखों को सीएम हेल्प लाइन पर 100 दिवस की अधिक अवधि से लंबित कुल 1823 शिकायतों का समय-सीमा अंतर्गत प्राथमिकता के साथ संतुष्टिपूर्वक निराकरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पाइल के प्रकरणों के समय-सीमा अंतर्गत कार्रवाई नहीं करने पर संबंधितों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।

बैठक में अपर कलेक्टर पवन जैन, जिला पंचायत सीईओ हिमांशु चंद्र, अपर कलेक्टर अभय बेडेकर, अपर कलेक्टर अजय देव शर्मा सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co