Raj Express
www.rajexpress.co
Murder Case
Murder Case|Priyanka Sahu -RE
मध्य प्रदेश

राजगढ़: मोबाइल नहींं दिलाने पर बेटे ने की माँ की हत्या

ब्‍यावरा, राजगढ़: आजकल मोबाइल का मना करने पर लोग अपनों पर ही हावी हो जाते हैं, एक ऐसा ही मामला सामने आया, यहां महिला ने बेटे को नया मोबाइल नहींं दिलाने से इंकार करा, तो उसने अपनी माँ की ही हत्या कर दी।

Sunil Saravat

राज एक्‍सप्रेस। शहर की दीनदयाल कॉलोनी में शनिवार को हुई हत्या (Murder Case) से नगर सहित क्षेत्र में सनसनी फैल गयी थी। कॉलोनी में सुनीता साहू नामक महिला की हत्या उसके ही बेटे दिलीप ने शनिवार को चाकू से गला रेतकर कर दी। हत्या का कारण भी चौंकाने वाला है। पुलिस अनुसार उक्त महिला ने बेटे को नया मोबाइल नही दिलाया, तो उसके बेटे दिलीप ने अपनी माँ की ही हत्या कर दी।

क्या है पूरा मामला :

दरअसल शनिवार शाम को कोतवाली पुलिस को पोस्ट ऑफिस के सामने दीनदयाल कॉलोनी में एक महिला की हत्या होने की सूचना मिली थी। इस घटनाक्रम के बाद पूरे शहर में सनसनी फैल गयी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी प्रदीप शर्मा भी मौके पर पहुँच गए थे। पुलिस ने मामले में तत्परता दिखाते हुए मृत महिला के परिजनों से पूछताछ की तो बताया गया कि, उसके बड़े भाई व उसका मोबाइल को लेकर झगड़ा हुआ था। घटना के बाद से दिलीप घर से गायब था। पुलिस ने तुरंत उसकी तलाश शुरू कर दी। ब्यावरा से ग्वालियर-पुणे एक्सप्रेस में बैठकर फरार होना चाह रहा था। कोतवाली पुलिस ने पीछा करते हुए शाजापुर रेल्वे स्टेशन उसे गिरफ्तार किया। रविवार को एसपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके मामले का पूरा खुलासा किया।

ऐसे दिया घटना को अंजाम :

घटना वाले दिन पहले बड़े भाई से उसका विवाद हुआ, इसके बाद आरोपी ने पहले अपनी माँ से नया मोबाइल दिलाने के लिए कहा। माँ ने मना किया, तो वह अपने बड़े भाई का मोबाइल ले जाने लगा, माँ ने रोका तो उसने घर मे रखे चाकू से गले पर वार कर दिया। खून निकला तो एक कपड़े से गले को कस दिया। फर्श पर गिरे खून को भी उसने पानी से साफ कर दिया। चाकू को भी छुपाने के बाद वह घर से फरार हो गया।

पुलिस ने आरोपी से पूछा हत्या का कारण :

कर्मा टेंट हॉउस पर काम करने वाला आरोपी भले ही मजदूर था, लेकिन वह खवाब बड़े-बड़े देखने लग गया था। उसके शोक भी ऊँचे हो गए थे। पड़ोसियों ने बताया कि, वह नशे का आदि भी हो चुका था। जब शाजापुर रेलवे स्टेशन पर पुलिस ने हत्या का कारण आरोपी से पूछा तो उसने कहा कि, उसकी माँ हमेशा दोनो भाई की लड़ाई में बड़े का पक्ष लेती थी, माँ मेरे साथ हमेशा भेदभाव करती थी।

पुलिस की तत्परता काबिल ऐ तारिफ़ :
पुलिस की तत्परता काबिल ऐ तारिफ़ :
Sunil Sarawat

पुलिस की तत्परता काबिल ऐ तारिफ़ :

हत्या के चार घंटे में ही पुलिस का आरोपी तक पहुँच जाना, वास्तव में काबिले तारीफ है , क्योंकि घटना की गंभीरता को देखते हुए खुद एसपी भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने पुलिस टीम का गठन करके इसकी आरोपी को पकड़ने की जिम्मेदारी सौंपी। पुलिस टीम ने भी शानदार काम करते हुए। अपने सूचना तंत्र के माध्यम से पहले आरोपी की ब्यावरा बस स्टैंड पर लोकेशन ली। इसके बाद वह ब्यावरा रेलवे स्टेशन पर पहुंची, लेकिन आरोपी वहाँ से ट्रेन में बैठकर भाग चुका था। उसकी तफ्तीश करते हुए पुलिस शाजापुर पहुंची और आखिरकार इस कलयुगी हत्यारे को गिरफ्तार कर ही लिया।

इनका योगदान सराहनीय :

एसडीओपी सौम्या अग्रवाल टीआई जेबी राय उप निरीक्षक आदित्य सोनी पउनि मोनिका राय आर539 शादाब खान आर 737 मनोज गुर्जर एवं आर 296 दिनेश गुर्जर का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।