Raj Express
www.rajexpress.co
राजधानी भोपाल में 9 दिसम्बर से शुरू होगा खेलों का महाकुंभ
राजधानी भोपाल में 9 दिसम्बर से शुरू होगा खेलों का महाकुंभ |Social Media
मध्य प्रदेश

राजधानी भोपाल में 9 दिसम्बर से शुरू होगा खेलों का महाकुंभ

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय की राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता 9 दिसम्बर से शुरू होने जा रही है। राष्ट्रीय प्रतियोगिता में खिलाड़ियों समेत शामिल होंगे 5000 प्रतिभागी।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। भोपाल में 9 से 13 दिसम्बर तक एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय (ईआरएमएस) की अखिल भारतीय खेल-कूद प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। आदिम-जाति कल्याण विभाग द्वारा प्रतियोगिता की तैयारियाँ की जा रही हैं। प्रतियोगिता का शुभारंभ 9 दिसम्बर को टी.टी. नगर स्टेडियम में होगा। उद्घाटन सत्र के बाद विभिन्न खेलों की प्रतियोगिताएँ भोपाल के अलग-अलग स्टेडियम में होंगी।

प्रतियोगिताएँ टी.टी. नगर स्टेडियम, भारतीय खेल प्राधिकरण (साई), मोतीलाल नेहरू स्टेडियम, एमबीएम कॉलेज ग्राउण्ड, मॉडल स्कूल ग्राउण्ड, नवीन कन्या विद्यालय, तुलसी नगर और प्रकाश तरुण पुष्कर में होंगी।

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय की अखिल भारतीय खेल-कूद प्रतियोगिता में 23 राज्यों के करीब 5 हजार खिलाड़ी, कोच और पदाधिकारी शामिल हो रहे हैं। प्रतियोगिता 16 खेल विधाओं हॉकी, कुश्ती, फुटबाल, तीरंदाजी, व्हाली-बॉल, कबड्डी, खो-खो, हैण्ड-बॉल, तैराकी, बॉक्सिंग, बॉस्केट-बॉल, बेडमिंटन, ताईक्वांडो, टेबल-टेनिस और एथेलेटिक्स में होंगी।

अखिल भारतीय खेल-कूद प्रतियोगिता के लिये मध्यप्रदेश के 26 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के 555 खिलाड़ियों का चयन किया गया है। आदिम-जाति कल्याण विभाग ने प्रतियोगिता के सफल आयोजन के लिये आवास, परिवहन, भोजन, खेल पंजीकरण, ऑब्जर्वेशन, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, सुरक्षा और स्वच्छता समेत करीब 20 समितियों का गठन किया है। यह सभी समितियाँ आपस में समन्वय कायम कर तैयारियाँ कर रही हैं।

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने हाल ही में एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों की राष्ट्रीय खेल-कूद प्रतियोगिता के प्रतीक चिह्न (लोगो) एवं शुभंकर (मेस्कॉट) का अनावरण किया है। प्रतियोगिता के लिए जारी प्रतीक-चिह्न महाभारत के पात्र एकलव्य की प्रतिकृति पर आधारित है। चित्र में एकलव्य, शक्ति, समर्पण, निष्ठा एवं निडरता को प्रदर्शित करता है। इसके आस-पास हरे रंग का गोल आवरण प्रकृति और पृथ्वी को इंगित करता है। यह प्रकृति को संरक्षित करने की भी प्रेरणा देता है। प्रतीक-चिह्न में अंकित पीला रंग खुशी, सकारात्मकता और ऊर्जा का प्रतीक है। एकलव्य राष्ट्रीय खेल-कूद प्रतियोगिता के लिए शुभंकर 'बाघ मुन्ना' है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।