सेंट जोसेफ में लीड एप के नाम पर लूट
सेंट जोसेफ में लीड एप के नाम पर लूट|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

उमरिया: सेंट जोसेफ में लीड ऐप के नाम पर लूट

उमरिया, मध्य प्रदेश: बच्चों के भविष्य की चिंता के कारण अभिभावक लुट रहे हैं और मजबूरी यह है कि वे इसकी शिकायत और विरोध भी खुलकर नहीं कर पा रहे है। शिक्षा के नाम पर हो रहा खेल, जिम्मेदारों ने मूंदी आंखे

Afsar Khan

उमरिया, मध्य प्रदेश। जिले के कोयलांचल के बिरसिंहपुर पाली क्षेत्र में स्थित सेंट जोसेफ नामक निजी विद्यालय से अभिभावक मानसिक रूप से परेशान है, लॉक डाउन और कोरोना के कारण आई विश्व व्यापी आर्थिक मंदी से जूझ रहे अभिभावकों पर विद्यालय प्रबंधन मानसिक दबाव बनाकर उनकी जेबे काटने पर तुला है, बच्चों के भविष्य की चिंता के कारण अभिभावक लुट रहे हैं और मजबूरी यह है कि वे इसकी शिकायत और विरोध भी खुलकर नहीं कर पा रहे हैं। ब्लाक में बैठे शिक्षा विभाग के अधिकारी और तहसीलदार, एसडीएम को यह जानकारी है या नहीं, या फिर अंग्रेजी माध्यम के फेर व उसके ग्लैमर में इन्होंने भी आंखे मूंद ली हैं।

लीड ऐप के नाम पर मनमानी :

कोरोना संक्रमण के भय से उमरिया ही नहीं पूरे प्रदेश व देश में विद्यालय बंद हैं, इसी कारण हर वर्ष निजी विद्यालयों से मिलकर पुस्तक विक्रेताओं द्वारा किया जाने वाला खेल अधर में लटका हुआ है, आरोप हैं कि ऐसी स्थिति में अपनी व्यवस्था बनाने के लिए विद्यालय के द्वारा लीड ऐप नामक पुस्तक की आड़ ली गई है, यह पुस्तक कितनी जरूरी है और इसकी वास्तविक कीमत कितनी है, यह तो इस पूरे गिरोह में शामिल लोग ही जानें, लेकिन पुस्तक की आवश्यकता कितनी है तथा यह पुस्तक कहां से होकर उन्हीं दुकानदारों तक कैसे पहुंची, जो पहले से ही विद्यालय के गुडबुक में हैं, यह जांच भी जरूरी है।

यह हो रहा यहां :

क्लास नर्सरी से 9 वीं तक सेन्ट जोसेफ स्कूल के लीड एप द्वारा ऑनलाईन पढ़ाई के लिए स्कूल परिसर पर स्कूल से मुंबई लीड एप के सहमति में 3000 से लेकर 5000 तक उच्च क्लास की बुक अवैध तरीके से बेची जा रही है, जो स्कूल द्वारा एनसीआरटी की किताब सेलर से खरीदने को कहा, जिसके द्वारा सभी विद्यार्थी बुक बाजार से खरीदा गया, किन्तु स्कूल द्वारा एनसीआरटी के अलावा उन्हीं विषयों का लीड ऐप के बुक भी खरीदने के लिए दबाव डाल रहे हैं, जो कि लीड ऐप के बुक पर उनकी कीमत नहीं लिखी गई है, जो अवैध रूप से बेची जा रही है और बच्चों के अभिभावकों को खरीदने के लिए दबाव डाला जा रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co