Madhya Pradesh : प्रदेश के होटल उद्योग को लगेगी 100 करोड़ रुपए की चपत
प्रदेश के होटल उद्योग को लगेगी 100 करोड़ रुपए की चपतSyed Dabeer Hussain - RE

Madhya Pradesh : प्रदेश के होटल उद्योग को लगेगी 100 करोड़ रुपए की चपत

ओमीक्रोन के बढ़ते खतरे से सचेत प्रदेश सरकार द्वारा रात्रिकालीन कर्फ्यू बहाल किए जाने से राज्य में नववर्ष के जश्न को लेकर 31 दिसंबर की रात आयोजित कई वाणिज्यिक कार्यक्रम गड़बड़ा गए हैं।

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोविड19 के नए स्वरूप ओमीक्रोन के बढ़ते खतरे से सचेत मध्य प्रदेश सरकार द्वारा रात्रिकालीन कर्फ्यू बहाल किए जाने से राज्य में नववर्ष के जश्न को लेकर 31 दिसंबर की रात आयोजित कई वाणिज्यिक कार्यक्रम गड़बड़ा गए हैं। इससे होटल और रेस्तरां उद्योग को करीब 100 करोड़ रुपए के नुकसान की आशंका है।

होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन की राज्य इकाई के अध्यक्ष सुमित सूरी ने बताया, रात्रिकालीन कर्फ्यू की बहाली के बाद 31 दिसंबर की रात के आयोजनों को लेकर हमारी तैयारियां जाहिर तौर पर प्रभावित हुई हैं। हमें ग्राहकों के लिए व्यवस्थाओं में बदलाव करते हुए नववर्ष की पार्टियों का समय घटाना पड़ा है। उन्होंने कहा कि राज्य में नववर्ष के जश्न को लेकर 31 दिसंबर की रात होटलों और रेस्तरांओं में आयोजित कार्यक्रमों से समूचे उद्योग आतिथ्य क्षेत्र को आमतौर पर करीब 500 करोड़ रुपए की कमाई होती है। सूरी ने कहा, रात के कर्फ्यू के कारण हमें इस कमाई में 20 प्रतिशत यानी 100 करोड़ रुपए की कमी की आशंका है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की कि 31 दिसंबर की रात कर्फ्यू में ढील दी जाए ताकि होटलों के ग्राहक और इनके कर्मचारी नववर्ष के आयोजनों के बाद बिना किसी परेशानी के घर पहुंच सकें।

होटल, रेस्तरां उद्योग सतर्क :

महामारी से प्रभावित भारतीय होटल, रेस्तरां उद्योग कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के कारण सतर्क है। हालांकि उनका मानना है कि अभी घबराने वाली स्थिति पैदा नहीं हुई है लेकिन इससे सर्दियों की छुट्टियों के दौरान कारोबार को झटका लगने की आशंका है। कई राज्यों में क्रिसमस और नए साल के समारोहों पर प्रतिबंध लगाए जाने के साथ, होटल व्यवसायी और रेस्तरां संचालक बुकिंग रद्द होने की आशंका जता रहे हैं। इस आशंका के बीच वे सरकार से कुछ सहयोग की उम्मीद कर रहे हैं जैसा कि ब्रिटेन सरकार ने वहां होटल और रेस्तरां एवं अन्य संबंधित उद्योग के लिए किया है। फेडरेशन ऑफ एसोसिएशन इन इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी के सलाहकार सीईओ आशीष गुप्ता ने कहा कि ओमीक्रोन के प्रभाव के बारे में उद्योग के भीतर अनिश्चितता है और इसकी गंभीरता और प्रसार की गति के बारे में विभिन्न स्थानों से विभिन्न सूचनाएं आ रही हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co