Raj Express
www.rajexpress.co
छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत|Syed Dabeer Hussain - RE
मध्य प्रदेश

छतरपुर: प्रेमिका के घर के बाहर मरणासन्न हालत में मिला छात्र

नौगांव, हरपालपुर, छतरपुर। प्रेम प्रसंग के चलते इंजीनियरिंग छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत व प्रेमिका के घर के बाहर ही मरणासन्न हालत में मिला और एक सुसाइड नोट भी लिखा।

Pankaj Yadav

राज एक्‍सप्रेस। इंजीनियरिंग का एक छात्र अपनी प्रेमिका के घर के सामने मरणासन्न हालत में था, जैसे ही प्रेमिका के परिजनों को जानकारी लगी, तो उन्होंने डायल 100 और 108 एंबुलेंस बुलाई, जिसके सहारे छात्र को नौगांव और इसके बाद जिला अस्पताल भेजा गया, लेकिन नाजुक हालत होने के कारण उसे ग्वालियर के लिए रेफर किया गया और यहां रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। युवक के पास से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने लिखा है कि, प्रेमिका के परिवार के सताने के कारण उसने आत्महत्या की है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर लाश को परिजनों को सौंप दिया और मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक :

नौगांव के मेला ग्राउण्ड के सामने रहने वाले विनोद कुमार गुप्ता का 20 वर्षीय पुत्र स्थानीय पॉलीटेक्रिक कॉलेज में कम्प्यूटर साइंस से पढ़ाई कर रहा था। उसके साथ पढ़ने वाली इंजीनियरिंग की हरपालपुर की एक छात्रा से काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था, 30 अगस्त को छात्रा के परिजनों ने शिवम के घर दोनों को एक साथ पकड़ लिया था। इसके बाद परिजनों ने न केवल शिवम के साथ मारपीट कर दी, बल्कि उसके खिलाफ मामला दर्ज करा दिया था। मंगलवार को शिवम के माता-पिता छात्रा के घर पहुंचे और उसके परिजनों से माफी मांगी थी, लेकिन इस दौरान भी शिवम के पिता के साथ छात्रा के परिजनों ने मारपीट कर पूरे परिवार को मारने की धमकी दी थी। अपने परिजनों के साथ शिवम वापस लौटा और रात में अपने दूसरे घर में सोने के लिए चला गया। शिवम के पिता का कहना है कि, सुबह टेस्ट होने के कारण शिवम ने सुबह 3 बजे जगाने को कहा था, जब उसे जगाने के लिए आवाज लगाई तो कोई उत्तर नहीं मिला। तुरंत उन्होंने डायल 100 को सूचना दी और आसपास खोज की तो ज्ञात हुआ कि, उनके पुत्र को 108 एंबुलेंस से हरपालपुर से नौगांव लाया गया है, क्योंकि वह हरपालपुर में अपनी प्रेमिका के घर के सामने मरणासन्न स्थिति में था। वहीं मृतक के पिता का कहना है कि, पुलिस द्वारा उसके बयानों के आधार पर रिपोर्ट दर्ज नहीं की है। मामले में नौगांव थाना प्रभारी राकेश साहू द्वारा कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।