गर्मी ने तोड़े रिकार्ड : सबसे ज्यादा तपा भिंड, राजधानी का पारा तीन साल बाद 45 डिग्री पार
राजधानी का पारा तीन साल बाद 45 डिग्री पारसांकेतिक चित्र

गर्मी ने तोड़े रिकार्ड : सबसे ज्यादा तपा भिंड, राजधानी का पारा तीन साल बाद 45 डिग्री पार

मध्यप्रदेश में 19 साल बाद सबसे ज्यादा गर्मी शुक्रवार को भिंड में रही। यहां अधिकतम तापमन 48.7 डिग्री दर्ज किया गया। इससे पहले 1993 में भिंड में सबसे ज्यादा 49 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

भोपाल, मध्यप्रदेश। राजस्थान और पाकिस्तान से आ रही गर्म हवाओं के कारण प्रदेश में भीषण गर्मी पड़ रही है। पारे में आए उछाल की वजह से गर्मी भी चरम पर पहुंच गई है। मध्यप्रदेश में 19 साल बाद सबसे ज्यादा गर्मी शुक्रवार को भिंड में रही। यहां अधिकतम तापमन 48.7 डिग्री दर्ज किया गया। इससे पहले 1993 में भिंड में सबसे ज्यादा 49 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। दूसरे नंबर पर नौगांव में 48 डिग्री दर्ज किया गया। खजुराहो और राजगढ़ में भी तापमान 47 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। खरगोन, ग्वालियर में तापमान 46 के पार पहुंच गया। वहीं राजधानी का पारा भी 2018 के बाद सबसे ज्यादा रहा। चार प्रमुख शहरों में ग्वालियार में सबसे ज्यादा गर्मी रही।

शुक्रवार को प्रदेश के सात जिलों में लू की स्थिति रही वहीं तीन में तीव्र लू चली। प्रदेश में सबसे गर्म भिंड और नौगांव रहा जहां गर्म हवाओं के चलने से पारा 48. 0 डिग्री पर पहुंच गया। इसकी वजह प्रदेश में चल रही पश्चिमी और उत्तर पश्चिमी हवाएं हैं। राजस्थान और पाकिस्तान में रिकार्ड गर्मी पड़ रही है। इसके प्रभाव से राजस्थान और प्रदेश तप रहे हैं। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि एक-दो दिन गर्म हवाएं इसी तरह आती रहेंगी।इस दौरान मौसम का मिजाज गर्म बना रहेगा। पारा हाई रहेगा और लू , तीव्र लू की स्थिति रहेगी। 16 मई को एक पाश्चिमी विक्षोभ आ रहा है जिसके बाद तापमान में कुछ गिरावट आ सकती है और लू की स्थिति से राहत मिल सकती है।

यहां चली तीव्र लू :

नौगांव, राजगढ़, खजुराहो में तीव्र लू चली। वहीं शाजापुर, गुना, सागर, दमोह, भोपाल, सतना, ग्वालियर, खरगौन और खंडवा में लू की स्थिति रही।

पारा 45 डिग्री पार रहने पर चलती है लू :

मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि वैसे तो लू के लिए दिन का पारा 40 डिग्री से ज्यादा और सामान्य से साढ़े चार डिग्री अधिक होना चाहिए। लेकिन इस मौसम में सामान्य पारा भी अधिक रहता है इसलिए पारा 45 डिग्री के ऊपर रहने पर भी लू की श्रेणी रहती है।

राजधानी भोपाल का पारा पहुंचा 45.1 डिग्री पर :

राजधानी में गर्मी के तेवर दिन-ब-दिन तीखे हो रहे हैं। सुबह से ही तपती-चुभती धूप के कारण मौसम का पारा रहता है। यहां चली धूल भरी तेज हवाएं भी तपिश कम नहीं कर सकीं। सीजन में पहली बार शुक्रवार को राजधानी का तापमान 45 डिग्री पार पहुंंच गया। इससे पहले साल 2018 में 28 और 30 मई को तापमान 45.3 डिग्री दर्ज किया गया था।

चार प्रमुख शहरों का तापमान :

  • भोपाल : अधिकतम 45.1 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम 26.4 डिग्री सेल्सियस

  • इंदौर : अधिकतम 43.2 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम 26.9 डिग्री सेल्सियस

  • जबलपुर : अधिकतम 43.0 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम 28.0 डिग्री सेल्सियस

  • ग्वालियर : अधिकतम 46.2 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम 28.4 डिग्री सेल्सियस

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.