प्रदेश में सितंबर के अंत तक हो जाएंगे विधानसभा के उपचुनाव
प्रदेश में सितंबर के अंत तक हो जाएंगे विधानसभा के उपचुनाव|Social Media
मध्य प्रदेश

प्रदेश में सितंबर के अंत तक हो जाएंगे विधानसभा के उपचुनाव

भोपाल, मध्य प्रदेश : मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने दिए संकेत रक्षाबंधन से पहले हो सकती है चुनावों की तारीखों की घोषणा।

Krishnakant Bhargava

भोपाल, मध्य प्रदेश। मध्यप्रदेश में विधानसभा उपचुनाव को लेकर राजनैतिक पार्टियों की जारी तैयारियों के बीच देश के मुख्य चुनाव आयुक्त का बड़ा बयान सामने आया है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने समय पर ही चुनाव करवाने की बात कही है। आयुक्त के अनुसार सितंबर माह के अंत तक उपचुनाव हो जाएंगे। संभावना जताई जा रही है कि रक्षाबंधन से पहले चुनावों की तारीखों की घोषणा हो सकती है।

सोमवार को यहां एक निजी कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे श्री अरोड़ा ने कहा कि मध्यप्रदेश में उपचुनाव समय पर ही होंगे, सितंबर के अंत तक उपचुनाव करवा देंगे। सितंबर माह के अंतिम हफ्ते में अभी करीब दो महीने का समय है, ऐसे में मुख्य चुनाव आयुक्त के बयान से अंदाजा लगाया जा सकता है कि चुनाव की तारीखों की घोषणा जल्द हो सकती है।

दरअसल, मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों के आंकड़ों को देखकर यह कहा जा रहा था कि, उपचुनाव टाले जा सकते हैं। लेकिन सोमवार को मुख्य चुनाव आयुक्त के बयान से साफ हो गया है कि अब समय पर ही उपचुनाव होंगे। हालांकि चुनाव आयोग द्वारा बड़ी सावधानी रखी जाएगी। मतदाताओं की सेहत का ध्यान रखते हुए अलग-अलग बूथ बनाए जा सकते हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा पालन किया जाएगा। जहां राजनीतिक पार्टियों के लिए यह चुनाव बड़ी चुनौती होगा, वहीं चुनाव आयोग के लिए भी किसी बडे़ टास्क से कम नहीं है।

यहां बता दें कि मध्यप्रदेश में 26 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है, जिसमें से 24 सीटें कांग्रेस विधायकों के इस्तीफा देने से रिक्त हुई हैं और दो विधायकों का निधन होने से। भले ही अभी चुनाव की तिथियों का ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन मुख्य चुनाव आयुक्त के बयान के बाद राजनीतिक दलों की धड़कनें तेज हो गई हैं। हालांकि सभी पार्टियों ने पहले से ही अपनी-अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं और जीत के लिए रणनीति बनाना भी प्रारंभ कर दिया है। यह चुनाव मध्यप्रदेश में कांग्रेस और भाजपा का भविष्य तय करेंगे। जहां शिवराज सरकार सत्ता बचाने की कोशिश करेगी, वहीं कांग्रेस वापसी के प्रयास में लगी हुई है। इसबार का चुनाव बेहद रोचक होने की संभावना है। इसमें कई बडे़ नेताओं की साख दांव पर लगेगी और उनका फैसला प्रदेश की जनता करेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co