Raj Express
www.rajexpress.co
Sagar Blackmailing Case
Sagar Blackmailing Case|Kavita Singh Rathore -RE
मध्य प्रदेश

सागर: हनीट्रेप जैसा ब्लैकमेलिंग का एक अन्य मामला आया सामने

सागर: हनीट्रेप जैसा ब्लैकमेलिंग का एक मामला सामने आया है, जिसमे कालगर्ल्स बिजनेसमैनों को फंसा कर उन्हें ब्लैकमेल करती थी। मामले में भोपाल आईजी ने थाना प्रभारी पर कार्रवाई करने सागर आईजी को लिखा पत्र।

Satyendra Chouhan

हाइलाइट्स :

  • हनी ट्रैप से मिलता जुला एक मामला और सामने आया

  • मामले में सागर जिले के बहेरिया थाना प्रभारी को किया निलंबित

  • बिजनेसमैनों को जाल में फंसाने के बाद करते थे ब्लैकमेल

  • लाखों की राशि वसूली जाती थी ब्लैकमेलिंग

  • भोपाल आईजी ने कार्रवाई करने के संबंध में पत्र लिखा

राज एक्सप्रेस। जहां एक तरफ भारत के कुछ राज्य में हनी ट्रैप मामले से हड़कंप मचा हुआ है, वहीं उससे मिलता जुला एक मामला और सामने आया है, जी हां इस मामले में सागर जिले के बहेरिया थाना प्रभारी हरीश यादव को एसपी अमित सांघी के द्वारा तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उनके द्वारा यह कार्रवाई राजधानी के अयोध्या नगर पुलिस थाना में पदस्थ रहे, निरीक्षक हरीश यादव और उनके सहयोगी रहे पुलिसकर्मियों द्वारा भोपाल की कालगर्ल्स के साथ लोगों को ब्लैकमेल कर राशि वसूलने के आरोप (Sagar Blackmailing Case) में की गई है।

दूसरा हनीट्रेप मामला :

इस मामले को लेकर भोपाल पुलिस महानिरीक्षक द्वारा सागर आईजी को उनके खिलाफ कार्रवाई करने के संबंध में पत्र लिखा गया था, जिसके बाद मंगलवार को सागर SP के द्वारा यह कार्रवाई की गई है। बहेरिया थाना प्रभारी श्री यादव पर आरोप है कि, उनके द्वारा कालगर्ल्स के साथ मिलकर बडे़ व्यापारी व अन्य ऐसे लोगों को निशाना बनाते थे। जिसकी आरक्षक रूपन राजू सेटिंग कराता था। इस कार्रवाई के पहले मिसरोद पुलिस थाना में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक बहादुर पटेल, अयोध्या नगर थाना के आरक्षक रूपन राजू और संघरत्ना सिंह को भोपाल डीआईजी पहले ही निलंबित कर चुके हैं।

कैसे फंसाते थे जाल में :

इस मामले में पता चला है कि, कालगर्ल्स पहले बिजनेसमैनों को अपने रूप के जाल में फंसाने के बाद उनके साथ रंग-रंगलियां मनाती थी, उसके बाद फिर बहादुर पटैल, रूपन राजू, संघरत्ना सिंह उन्हें घेरने की कोशिश करते थे या फिर कालगर्ल्स उनके साथ दुष्कर्म करने का आवेदन देकर उन्हें ब्लैकमेल करने में लग जाती थी। आवेदन आने के बाद थाना प्रभारी बिजनेसमैनों को समझौता करने में भलाई का पाठ पढ़ाते थे। फिर उनसे लाखों की राशि वसूली जाती थी।

पुलिस अधीक्षक ने बताया :

उक्त मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने बताया कि, बहेरिया थाना प्रभारी हरीश यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उनके खिलाफ भोपाल आईजी के द्वारा कार्रवाई करने के संबंध में पत्र लिखा गया था जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है। उनका मुख्यालय पुलिस लाइन सागर नियत किया गया है।